ये विशालकाय पेड़ है पूरे जंगल के समान

1919

बरगद एक दीर्घजीवी और विशालकाय पेड़ होता है, जिसे हिंदू परंपरा के अनुसार पूज्यनीय माना जाता है। वैसे तो बरगद के पेड़ दुनियाभर में पाए जाते हैं, लेकिन दुनिया का सबसे विशालकाय जो बरगद का पेड़ है, वह भारत में ही है।

इसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज है। इस पेड़ को ‘द ग्रेट बनियन ट्री‘ के नाम से जाना जाता है। यह पेड़ 250 साल से भी ज्यादा पुराना है। आइए जानते हैं इस विशालकाय पेड़ के बारे में:-

कहां है यह पेड़

बरगद का यह विशालकाय पेड़ कोलकाता के आचार्य जगदीशचंद्र बोस बॉटनिकल गार्डन में है। वर्ष 1787 में जब इस बॉटनिकल गार्डन की स्थापना की गई थी, उस समय इस बरगद की उम्र 15 से 20 साल थी। इस हिसाब से आज इस बरगद की उम्र लगभग 250 साल से भी अधिक होगी।

85 से ज्यादा पक्षियों की प्रजातियां

‘द ग्रेट बनियन ट्री‘ दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़ है। यह 14,500 वर्ग मीटर में फैला है। इसकी सबसे ऊंची शाखा की लंबाई या कह सकते हैं इस पेड़ की ऊंचाई लगभग 24 मीटर है।

इसकी 3000 से अधिक जटाएं हैं, जो अब जड़ों में तब्दील हो चुकी हैं। इस वजह से इसे दुनिया का सबसे चौड़ा पेड़ या ‘वॉकिंग ट्री‘ भी कहा जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि इस एक पेड़ पर पक्षियों की 85 से ज्यादा प्रजातियां निवास करती हैं।

कितने क्षेत्र में फैला है यह यह बरगद

पहली बार देखने पर तो यह एक जंगल की तरह नज़र आता है। दरअसल, इसके पेड़ की शाखाओं से निकली जटाएं पानी की तलाश में नीचे ज़मीन की ओर बढ़ती गईं और बाद में जड़ के रूप में पेड़ को पानी और सहारा देने लगीं। वर्तमान में यह लगभग 18.918 वर्ग मीटर से भी अधिक क्षेत्र में फैला है।

गिनीज बुक में भी दर्ज है इसका नाम

इस पेड़ की विशालता को देखते हुए इसका नाम ‘गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स‘ में भी दर्ज किया गया है। भारत सरकार ने साल 1987 में इसके सम्मान में डाक टिकट जारी किया था। यही नहीं, यह ‘बॉटनिकल सर्वे ऑफ इंडिया‘ का प्रतीक चिन्ह भी है।

यह भी पढ़ें :-