विलुप्त हो रही प्रजातियाँ जिनके बारे में आपको नहीं पता

पृथ्वी आकर्षक वन्य प्रजातियों से भरी हुई है. पृथ्वी पर ऐसी भी बहुत सी विलुप्त हो रही प्रजातियाँ हैं जिनके बारे में शायद ही आपको को पता होगा. आइए जानें ऐसी प्रजातियों के बारे में जो विलुप्त हो रही हैं.

सिल्की (Silkie)

silkieसिल्की एक मुर्गे की नस्ल है जिसके पखं बहुत ही मुलायम होते हैं. सिल्की नस्ल की त्वचा और हड्डियाँ काले रंग की होती हैं और उनके पैर में पांच उगलियाँ होती हैं. जबकि दूसरी प्रजातियों में केवल चार ही उगलियाँ होती हैं. ऐसे ही कई और अन्य असामान्य गुणों के कारण यह प्रजाति सबसे अलग है. इनकी विशिष्ट शारीरिक विशेषताओं के अलावा सिल्की प्रजाति शांत और दोस्ताना स्वभाव के लिए भी जानी जाती है.

सुण्डा फ्लाइंग लेमुरीया (Sunda Flying Lemur)

sunda-flying-lemurसुण्डा फ्लाइंग लेमुरीया को मलायी कोलुगो भी कहा जाता है. दरसल कोलुगो एक प्रजाति है जो इंडोनेशिया, थाईलैंड, मलेशिया, सिंगापुर और दक्षिण पूर्व एशिया में पाई जाती है. सुण्डा फ्लाइंग लेमुरीया प्रजाति रात को ही जागती है. इस प्रजाति के जीव केवल पत्तियां, फूल, फल और टहनियों के मुलायम भाग ही खाते हैं. सुण्डा फ्लाइंग लेमुरीया एक कुशल पर्वतारोही है लेकिन जमीन पर असहाय है.

सोनकुत्ता (Dhole)

dholeसोनकुत्ता, वनजुक्कुर कुत्तों के कुल का जंगली प्राणी है जो दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया में पाया जाता है. यह अपनी प्रजाति का इकलौता जीवित नस्ल है. इस प्रजाति को अंतर्राष्ट्रीय संगठन द्वारा विलुप्त प्रजाति घोषित कर दिया है क्योंकि इनके आवास क्षेत्र और शिकार की कमी के कारण इनकी संख्या तेज़ी से घट रही है. हालाँकि वनजुक्कुर कुत्ते मनुष्यों से डरते हैं लेकिन इनके झुण्ड बड़े और खतरनाक होते हैं यहां तक की जंगली सुअर, जंगली भैंसा तथा बाघ पर आक्रमण करने से भी नहीं हिचकिचाते हैं. यह अपने शिकार को भगा-भगा के मारते हैं.

मारखोर (Markhor)

markhorमारखोर जंगली बकरी की एक बड़ी प्रजाति है जोकि अफगानिस्तान, पाकिस्तान, कश्मीर, तजाकिस्तान और उज़्बेकिस्तान में पाई जाती है. IUCN की रिपोर्ट के अनुसार यह प्रजाति लुप्त हो रही है. मारखोर पाकिस्तान का राष्ट्रीय पशु है. मारखोर नाम थोड़ा अजीब है. फ़ारसी में इसका मतलब एक साँप खाने वाला पहाड़ी जानवर है.

चपटी नाक वाला बंदर (Snub-nosed Monkey)

snub-nosed-monkeyकाफ़ी समय पहले से चपटी नाक वाले बंदरों का समूह पाया जाता है. इनकी पूंछ 55 से 97 सेमी तक लंबी होती है. चपटी नाक वाले बंदर विशेष रूप से दक्षिणी चीन, तिब्बत, सिचुआन, युन्नान, वियतनाम और म्यांमार के उत्तरी भागों में पाये जाते हैं. ये बंदर ज्यादातर पेड़ों पे ही रहते हैं. यह समूह बना कर रहते हैं जिसमें 600 से अधिक बंदर होते हैं. सर्दियों में भोजन की कमी की वजह से ये छोटे छोटे समूहों में बंट जाते हैं.

रकून कुत्ता (Raccoon Dog)

raccoon-dogरकून कुत्ते या तनुकी (tanuki) पूर्व एशिया में पाए जाते हैं. यह बहुत ही अनोखे कुत्ते होते हैं. यह न्य्क्टेरयूतेस (Nyctereutes) की प्रजाति है.

मानेद वुल्फ (Maned Wolf)

maned-wolfमानेद वुल्फ दक्षिण अमेरिका की सबसे बड़ी प्रजाति है. यह लोमड़ी की तरह है जिसके पतले पैर और लंबी टागें हैं. यह दक्षिण अमेरिका के घास के मैदानों में पाया जाता है. इसके लम्बें पैर घास के मैदानों के लिए अनुकूल हैं.

गेरेनुक (Gerenuk)

gerenukगेरेनुक एक हिरन की प्रजाति है. लेकिन इनकी आँखें और कान अनुपात में बड़े होते हैं. यह प्रजाति पूर्वी अफ्रीका में पाई जाती है. गेरेनुक हिरन की गर्दन लंबी होती है.

अमेजन रॉयल फ्लाईकैचर (Amazonian Royal Flycatcher)

amazonian royal flycatcherअमेजन रॉयल फ्लाईकैचर तानाशाह फ्लाईकैचर परिवार का एक गौरैया पक्षी है. वे अमेजन घाटी के वनों में पाए जाते हैं. इनकी लंबाई 6 इंच तक होती है. बर्ड लाइफ इंटरनेशनल (BirdLife International) के अनुसार यह प्रजाति लुप्त होने के कगार पर है.

ज़ेबरा दुइकर (Zebra Duiker)

zebra-duikerज़ेबरा दुइकर एक छोटा हिरन होता है जो की अफ्रीका में पाया जाता है. इनके शरीर पर काले रंग की धारियाँ, पैर पर काले निशान और चेहरे पर लाल-भूरे रंग के बाल होते हैं. इनकी लंबाई 90 सेमी और ऊंचाई 45 सेमी तक होती है. ज़ेबरा दुइकर का बजन 20 किलो तक होता है. इनके सींग 4.5 सेमी लंबे होते हैं. ज़ेबरा दुइकर तराई वर्षावन में रहते हैं और ज्यादातर पत्तियां व फल ही खाते हैं.

नवीनतम