1सिंधु नदी (2900 KM)

सिंधु नदी भारत की सबसे लंबी नदी हैं. सिंधु नदी का उद्गम तिब्बत में स्थित सिन-का-बाब नामक जलधारा से हुआ है. सिंधु नदी की लम्बाई 2900 किलोमीटर हैं. सिंधु नदी तिब्बत और कश्मीर के बीच बहती हैं. सिंधु नदी नंगा पर्वत के उतरी भाग से होकर दक्षिण पश्चिम में पाकिस्तान के बीचो-बीच से गुजरती है. सिंधु नदी की पांच उपनदियाँ हैं ईरावती, विपासा, वितस्ता, चन्द्रभागा एंव शतद्रु.  इनमें से सबसे बड़ी नदी का नाम शतद्रु उपनदी हैं.

Read more:

सिंधु नदी के नाम की सिंधु से हिंदू तक की कहानी

2ब्रह्मपुत्र नदी (2700 KM)

ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत, भारत, और बांग्लादेश से होकर बहती है. ब्रह्मपुत्र नदी का उद्गम तिब्बत में स्थित चेमायुंग दुंग नामक हिमवाह से हुआ है. ब्रह्मपुत्र नदी की लम्बाई 2700 किलोमीटर हैं. ब्रह्मपुत्र नदी को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि तिब्बत में इसका नाम सांपो, अरुणाचल में डिहं और असम में ब्रह्मपुत्र है. ब्रह्मपुत्र नदी बांग्लादेश की सीमा में बहती गंगा की उप नदी पद्मा के साथ मिलकर बंगाल की खाड़ी में मिलती है. ब्रह्मपुत्र नदी की पांच उपनदियाँ हैं सुवनश्री, तिस्ता, तोर्सा, लोहित, बराक आदि.

Read more:

भारत के प्राचीन इतिहास से जुड़ी है ब्रह्मपुत्र नदी

3गंगा नदी (2525 KM)

गंगा नदी भारत की सबसे महत्वपूर्ण नदी मानी जाती हैं. गंगा नदी भारत, नेपाल और बांग्लादेश में बहती है. गंगा नदी की लम्बाई 2,525 किलोमीटर हैं. गंगा नदी की आठ उपनदियाँ है महाकाली, करनाली, कोसी, गंडक, घाघरा, यमुना, सोन, महानंदा आदि.

Read more:

आखिर क्या है गंगा नदी के पवित्र होने का रहस्य

4गोदावरी नदी (1450 KM)

गोदावरी नदी भारत की प्रमुख नदियों में से एक हैं. गोदावरी नदी का उद्गम पश्चिमघाट की पर्वत श्रेणी के अन्तर्गत त्रिम्बक पर्वत से हुआ है. इसकी लम्बाई 1,450 किलीमीटर हैं. गोदावरी की उपनदियाँ हैं प्राणहिता, इन्द्रावती, मंजिरा. गोदावरी नदी महाराष्ट, तेलंगना और आंध्र प्रदेश से बहते हुए राजहमुन्द्री शहर के समीप बंगाल की खाड़ी मे जाकर गिरती है.

Read more:

जानिए गोदावरी नदी के अनेक नामों की विशेषता के बारे में

5नर्मदा नदी (1310 KM)

नर्मदा नदी की उत्पप्ति महाकाल पर्वत के अमरकंटक शिखर से हई है. नर्मदा नदी भारत में मध्य प्रदेश और गुजरात में बहने वाली प्रमुख नदी है. नर्मदा नदी की लम्बाई 1310 किलोमीटर हैं. नर्मदा नदी पश्चिम की तरफ जाकर खंभात की खाड़ी में गिरती है और इसे उत्तरी और दक्षिणी भारत की सीमा रेखा माना जाता है.

Read more:

आखिर क्यों नर्मदा नदी ने हमेशा अविवाहित रहने का प्रण लिया

नर्मदा: ‘मध्य प्रदेश की जीवन रेखा’ के बारे में रोचक तथ्य

6कृष्णा नदी (1290 KM)

कृष्णा नदी की उत्पप्ति महाराष्ट्र राज्य के महाबलेश्वर पर्वत से हई है. यह नदी दक्षिण भारत की प्रमुख नदी है. कृष्णा नदी की लम्बाई 1290 हैं. यह दक्षिण-पूर्व में बहती हई बंगाल की खाड़ी में जाकर गिरती है. कृष्णा नदी की चार उपनदियाँ तुंगभद्रा, घाटप्रभा, मूसी और भीमा आदि है.

Read more:

जानिए कृष्णा नदी का सबसे लम्बा सफर

7यमुना नदी (1211 KM)

यमुना नदी, गंगा नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी है. यमुना नदी यमुनोत्री जगह से निकलती है और इलाहाबाद के प्रयाग जगह में गंगा से मिल जाती है. यमुना नदी की पांच उपनदियाँ चम्बल, सेंगर, छोटी सिन्ध, बतवा और केन आदि हैं. यमुना नदी की लम्बाई 1211 किलोमीटर हैं.

Read more:

ताजमहल के किनारे बहती यमुना नदी

8महानदी (855 KM)

महानदी भारत में छत्तीसगढ़ और उड़ीसा की सबसे बड़ी नदी है. महानदी को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि चित्रोत्पला, महानन्दा तथा नीलोत्पला. महानदी की उत्पप्ति रायपुर में सिहावा नामक पर्वत श्रेणी से हुआ है. सिहावा से बंगाल की खाड़ी में गिरने तक महानदी लगभग 855 किलोमीटर की दूरी तय करती हैं. महानदी की पांच उपनदियाँ हैं पैरी, सोंढुर, शिवनाथ, हसदेव, अरपा, जोंक, तेल आदि.

Read more:

उड़ीसा का शोक – छत्तीसगढ़ की महानदी

9कावेरी नदी (765 KM)

कावेरी नदी, पश्चिमी घाट के ब्रह्मगिरी पर्वत से निकली है. यह कनार्टक और तमिलनाडु की प्रमुख नदी है. कावेरी नदी को दक्षिण भारत की गंगा भी कहा जाता है. कावेरी नदी की लम्बाई 765 किलोमीटर हैं. सिमसा, हिमावती, भवानी इसकी उपनदियाँ है.

Read more:

कर्नाटक के ब्रह्मगिरि पर्वत से बहती कावेरी नदी

10तापी नदी (724 KM)

तापी नदी मध्य प्रदेश राज्य के बैतूल जिले से निकलती है. यह पश्चिमी भारत की प्रसिद्ध नदी है. तापी नदी महाराष्ट्र के खानदेश पठार एवं सूरत के मैदान को पार करती हई अरब सागर में मिलती है. तापी नदी की लम्बाई 724 किलोमीटर हैं.

read more:

मध्य प्रदेश के बैतूल से बहती तापी नदी