एक अच्छा इंसान बनने के लिए सबसे पहले आपका दिमाग अच्छे से विकसित होना चाहिए। दिमाग को विकसित करने के लिए आपको ज्ञान होना भी जरूरी है। इसके लिए आप जो भी आज तक सोचते आये हो उसे अपने दिमाग से निकाल दो और अपने अवचेतन मन को अच्छे से समझने की कोशिश करें।

क्या है अवचेतन मन

अवचेतन मन एक शक्तिशाली मन है जो आपके जीवन के हर पहलू को कण्ट्रोल करता है और यह किसी भी विचार या आदेश जो इसको को दिया जाता है, वो अक्सर पर्याप्त समय में, उसे सत्य के रूप में स्वीकार कर लेता है भले ही वह आपको लाभ करे या नहीं।

आपको बता दें आपका अवचेतन मन सकारात्मक और नकारात्मक के बीच अंतर नहीं करता, इसीलिए आप जो सोचोगे वही होगा चाहे वो सकारात्मक हो या फिर नकारत्मक।

आपको बता दें कि जिस चीज़ से आप घिरे होते हैं आपका अवचेतन मन न उस पर ही ध्यान देता है, अगर आप सकारात्मक चीजों से घिरे हुए होंगे तो आपके साथ सकारात्मक चीज़े होंगी। इसीलिए अपने ज्यादातर लोगों से यही सुना होगा कि हमें सकारात्मक चीजों के बारे में सोचना चाहिए।

अगर आप सकारात्मक सोच के इंसान हैं और वास्तव में आप अवचेतन दिमाग की शक्ति में विश्वास करते हैं, चाहे आप जो भी चाहते हैं, अगर आप अपना लक्ष्य तय करके उसको पूरा कर रहे हो, तब आपका अवचेतन मन 100 प्रतिशत काम करेगा।

अवचेतन ही आपकी शारीरिक कार्यों को नियंत्रित करता है। आपकी जो सोच होती है, वो आपके अवचेतन दिमाग पर प्रभाव डालती है और आपका अवचेतन मन आपके हृदय की धड़कन, स्वास, रक्त का पम्पिंग, सेलुलर फ़ंक्शन, भौतिक अंगों के निरंतर संचालन आदि जैसे अवचेतन शारीरिक कार्यों को नियंत्रित करता है.

आपके विचार भी वास्तविकता बन जाएंगे अगर आप अवचेतन मन को सकारात्मक भावनाओं की अपेक्षाओं के साथ भरतें हैं, और इसके साथ ही अगर आप किसी भी चीज़ के बारे में सकारात्मक सोच रखेंगे तो उसका परिणाम भी अच्छा ही होगा।

कई बार लोगों दुवारा आपके अवचेतन मन का कभी-कभी गलत इस्तेमाल किया जाता है और इससे आपका ब्रेनवाश होता है। अगर आपके अवचेतन मन पर कब्जा कर लिया जाये तो किसी भी चीज़ को आपकी भावनाओं में घुसाया जा सकता है।

यह भी पढ़ें:- मनुष्य का दिमाग कितने परसेंट काम करता है!!

यह भी पढ़ें:-क्या हम अपने दिमाग का 1-2% प्रतिशत ही इस्तेमाल करते हैं?
यह भी पढ़ें:-क्या हम सच में अपने दिमाग को सिर्फ 10 प्रतिशत इस्तेमाल करते हैं?