बरसात के मौसम में रखें इन खास बातों का ध्यान!!

626

बरसात के मौसम के दस्तक दे दी है। जिसके चलते अब जगह जगह पर लगातार बारिश हो रही है ऐसे में इस मौसम का मजा कौन नहीं लेता है। मगर इस मौसम का मजा लेने के साथ साथ हमें अपनी सेहत का ख्याल भी रखना होता है।

ऐसा कहा जाता है कि किसी भी अन्य मौसम के मुकाबले मानसून के दौरान वायरस, बैक्टीरिया, और अन्य संक्रमणों के संपर्क में आने का जोखिम दो गुना ज्यादा होता है, क्योंकि गर्म और आद्र जलवायु हानिकारक सूक्ष्मजीवों को पनपने की इजाजत देते हैं। सबसे आम मानसूनी बीमारियां मच्छर, पानी, हवा और दूषित भोजन की वजह से फैलती हैं।

मानसून के दौरान तापमान में अचानक हुआ उतार-चढ़ाव से सर्दी और फ्लू का खतरा बढ़ सकता है इसलिए आपको बरसात के मौसम में साफ-सफाई का खास ख्याल रखना चाहिए। तो आइए जानते हैं कि इस मानसूनी बीमारियों से आप खुद को कैसे बचा सकते हैं।

- Advertisement -

इस मौसम में भीड़ में जाने से बचें

इस मौसम में हवा से फैलने वाले वारयरस के संपर्क में आने से कई बीमारियां हो सकती हैं इसलिए भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें।

यहां ऐसे कई लोग हो सकते हैं, जो पहले से ही सर्दी या फ्लू से ग्रसित हों। खुद को संक्रमण से बचाने के लिए ऐसे लोगों से दूरी बनाना जरूरी है।

बार-बार मुंह को ना छूएं

मानसून में संक्रमित हाथों से अपने मुंह या नाक को छूने से बचने के लिए अपने हाथों को बार-बार धोएं। या तो साबुन से या फिर सादा पानी से हाथों को धोना चाहिए। आप चाहें, तो हैंड सैनेटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

घर को हवादार और बैक्टीरिया फ्री बनाएं

बरसात के दिनों में घर जितनी हवा आए, उतना अच्छा है। इसलिए घर की खिड़की और दरवाजे खुले रखें। जिस भी चीज़ को आप टच कर रहे हैं, उसकी सतहों को नियमित रूप से साफ कर बैक्टीरिया फ्री बनाएं।

दरवाजे की कुंडी, कीबोर्ड यहां तक की मोबाईल फोन को साफ करने के लिए भी अल्कोहलयुक्त कीटाणुनाशक का समय-समय पर इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि फ्लू के वायरस ऐसी सतहों पर पनपने की संभावना ज्यादा रहती है।

गर्म पानी पीएं

मानसून में पानी की स्वच्छता को लेकर खास सावधानी बरतनी चाहिए इसलिए कोशिश करें कि इस मौसम में गर्म पानी बार-बार पीएं। संभव हो, तो ऑफिस या स्कूल में अपना पीने का पानी साथ रखें।

ध्यान रखें किसी भी प्रकार के संक्रमण को रोकने के लिए बोतल बंद या फिल्टर किया हुआ पानी ही पीएं। अगर ये मुमकिन न हो, तो पानी को उबाल कर रख लें और इसे ठंडा करके पीएं।

छींकते समय मुंह को ढंकें

इस मौसम में वायरस और बैक्टीरिया से बचने के लिए जरूरी है कि दूसरों में वायरस को फैलने से रोका जाए। खासतौर से अगर आपको सर्दी या खांसी हैं, तो छींकते या खांसते समय अपनी नाक और मुंह को हाथ या फिर साफ रूमाल से ढंकना चाहिए।

बच्चों की देखभाल करें

के दिनों में सर्दी या जुकाम होना बहुत आम है इसलिए अपने बच्चों को बीमार लोगों के नजदीक न जाने देना संक्रमण से बचाव का बेहतर विकल्प है।

इम्यूनिटी मजबूत रखें

इम्यूनिटी को मजबूत बनाए रखने से आप वायरस की चपेट में आने से बच जाएंगे। इसके लिए बहेतर है कि आप विटामिन सी से भरपूर खट्टे फल खाएं और नींबू पानी पीते रहें।

अच्छी मात्रा में पानी पीने से भी इम्यूनिटी को स्ट्रांग बनाने में मदद मिलेगी। अपने शरीर को संक्रमण से लडने के लिए तैयार करने के लिए जितना हो सके आराम करें।

मच्छरों से बचें

इन दिनों होने वाली बीमारियों का मुख्य कारण मच्छर होते हैं। इसलिए बरसात शुरू होते ही आपकी पहली कोशिश मच्छरों से बचना होनी चाहिए।

इसके लिए आप सोते वक्त मच्छरदानी और मॉस्किटो कॉइल का इस्तेमाल करें। इसके अलावा अपने घर में और घर के आसपास मच्छरों को जमा न होने दें।

बरसात के मौसम में बीमार पड़ने का खतरा बहुत ज़्यादा होता है। इसलिए खुद के साथ बच्चों और बुजुर्गों की भी खास देखभाल करें।

यदि बीमारी के लक्षण गंभीर दिखाई दें, तो इसके ठीक होने का इंतजार न करें, तुरंत डॉक्टर के पास जाएं। खांसी -जुकाम से दूर रहकर परहेज करें और सुरक्षित रहें।

यह भी पढ़ें :-