मानसून में इन्फेक्शन से बचना है, तो जरूर पीएं ये 4 देसी काढ़े!!

157

अब तक भारत के कई हिस्सों में मानसून पहुंच चुका है वहीं बारिश के मौसम के साथ कई गंभीर इंफेक्शन भी जरूर आते हैं। जिनके कारण सर्दी-खांसी, जुकाम, बुखार समेत कई बीमारियां हो सकती हैं।

आयुर्वे के अनुसार, आप 4 देसी काढ़ों की मदद से बरसात के मौसम में इंफेक्शन को दूर कर सकते हैं। बारिश का मौसम कई हानिकारक और बीमार करने वाले सूक्ष्मजीवों के लिए काफी उपयुक्त होता है।

इस दौरान इन हानिकारक बैक्टीरिया, वायरस, फंगस आदि के विकास की गति काफी होती है और कमजोर इम्यून सिस्टम वाले लोग काफी जल्दी बीमार पड़ जाते हैं इसलिए हमें मानसून के मौसम में एहतियातन बरतनी चाहिए और मानसून में ये 4 देसी काढ़े जरूर पीने चाहिए।

गुड़, जीरा और काली मिर्च का काढ़ा

इस काढ़े को बनाने के लिए आप 1/4 चौथाई चम्मच काली मिर्च और एक चम्मच जीरा को एक गिलास पानी में डालकर तब तक उबालें, जब तक कि पानी आधा ना रह जाएं। उसके बाद आप इस काढ़े में गुड़ को शामिल सकते हैं।

सफेद प्याज का काढ़ा

सफेद प्याज का काढ़ा पीकर भी मानसून में इंफेक्शन से बचाव कर सकते हैं। आप सफेद प्याज को अच्छी तरह साफ कर लें और 1 गिलास पानी में उबालें उसके बाद जब पानी आधा हो जाए उसके बाद सेवन करें। यह देसी काढ़ा खांसी, सर्दी-जुकाम आदि से राहत प्रदान करता है।

काली मिर्च, अजवाइन, तुलसी और अदरक का काढ़ा

इस काढ़े के लिए आपको सबसे पहले अदरक को साफ करके उसके छोटे-छोटे टुकड़े काट लें। इसके बाद एक गिलास पानी में अदरक के टुकड़े, एक चम्मच अजवाइन, 4-5 तुलसी के पत्ते और एक चुटकी काली मिर्च का पाउडर डालकर उबालें।

जब पानी उबलकर आधा हो जाए, तो इसका सेवन करें। यह बारिश के मौसम में होने वाली खांसी व सर्दी-जुकाम की समस्या से राहत प्रदान करता है।

सर्दी-खांसी के लिए काली मिर्च का काढ़ा

आप बारिश के मौसम में काली मिर्च का काढ़ा भी बना सकते हैं। यह बनाने में काफी आसान होता है और शरीर को फायदे देता है।

इसे बनाने के लिए एक गिलास पानी में 5 से 6 काली मिर्च और स्वादानुसार काला नमक डालकर उबालें। जब पानी आधा हो जाए, तो इसका सेवन करें।

यह भी पढ़ें :-