जल महल के बारे में कुछ रोचक तथ्य !!

1154

जल महल राजस्थान की राजधानी जयपुर के मानसागर झील के मध्य स्थित प्रसिद्ध ऐतिहासिक महल है। अरावली पहाडिय़ों के गर्भ में स्थित यह महल झील के बीचों बीच होने के कारण इसे ‘आई बॉल’ भी कहा जाता है।

इसे ‘रोमांटिक महल’ के नाम से भी जाना जाता था। जयसिंह द्वारा निर्मित यह महल मध्‍यकालीन महलों की तरह मेहराबों, बुर्जो, छतरियों एवं सीढीदार जीनों से युक्त वर्गाकार रूप में निर्मित भवन है।

जलमहल अब पक्षी अभ्‍यारण के रूप में भी विकसित हो रहा है। यहाँ की नर्सरी में 1 लाख से अधिक वृक्ष लगे हैं जहाँ राजस्थान के सबसे ऊँचे पेड़ पाए जाते हैं।

- Advertisement -

 रोचक तथ्य

  • यह इमारत 266 पुरानी है जिसे 1750 में बनवाया गया। जल महल के आकर्षक टैरेस गार्डन को चमेली बाग के नाम से जाना जाता है।
  • यह पांच मंजिला इमारत है, जब यह झील पानी से भरी होती है, तो इसके चार मंजिला पानी के नीचे डुब जाती है, और केवल ऊपरी मंजिल ही दिखाई देती है।
  • इस पूरे महल को लाल बलुआ पथर से बनाया गया है, इसकी कई जगहों पर संगमरमर का इस्तेमाल किया गया है।
  • यहां से मान सागर झील और नाहरगढ़ हिल्स के चारो तरफ के नज़ारे बहुत आकर्षक नज़र आते है।
  • जलमहल एक आवासीय संरचना के बजाय एक पिकनिक स्पॉट के रूप में बनाया गया था, इसलिए इसके अंदर कोई व्यक्तिगत कक्ष नहीं हैं।
  • जलमहल की झील के अंदर अधिकतम गहराई 4.9 मीटर (15 फीट) है। यह मुगल स्थापत्य शैली के प्रभाव के साथ वास्तुकला की राजपूत शैली में निर्मित पांच मंजिला संरचना है जबकि इसकी चार मंज़िलें पानी के नीचे हैं, जिसके कारण केवल महल का शीर्ष ही दिखाई देता है, जिससे आपको आभास होता है कि महल झील के पानी पर तैर रहा है।
  • जलमहल अब पक्षी अभ्‍यारण के रूप में भी विकसित हो रहा है। जल महल के नर्सरी में 1 लाख से ज्‍यादा वृक्ष लगे हुए हैं। इसकी खास बात है कि यह राजस्थान के सबसे उंचे पेड़ों वाली नर्सरी है।
  • मकर संक्रान्ति के दिन यहां पर हर साल इंटरनेशनल काइट फेस्टिवल का आयोजन किया जाता है। जिसमें कई तरह की पतंगे उड़ाई जाती है और हर साल विदेशी यहां पर काइट फेस्टिवल का आनंद उठाते हैं।
  • कहा जाता है कि राजा इस महल को अपनी रानियों के साथ कुछ खास समय बिताने के लिए भी इस्तेमाल करते थे।
  • जलमहल झील में डूबा रहता है, इस तक पहुंचने के लिए नाव की सवारी ही एकमात्र रास्ता है। महल को सरकार द्वारा एक संरक्षित संपत्ति घोषित किया गया है।

यह भी पढ़ें :-