Wednesday, April 10, 2024
28.4 C
Chandigarh

राजस्थान के मशहूर किले और महल

रंग-रंगीला राजस्थान अपनी नायाब खूबसूरती व रजवाडी शान के प्रतीक किलों और महलों के कारण सदा ही पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केंद्र रहा है. राजस्थान की पहचान उसके मूल निवासियों की जोशीली व् सरल जीवन शैली और ऐतिहासिक लड़ाइयों से है. राजस्थान को रंगों की धरती भी कहा जाता है. आइए  राजस्थान के खूबसूरत किलों और महलों के बारे में जानते है।

आमेर किला, जयपुर

aamber-fort-jaipurआमेर जयपुर नगर की सीमा में ही स्थित उपनगर है. आमेर किला लगभग दो शताब्दी पूर्व राजा मानसिंह, मिर्जा राजा जयसिंह और सवाई जयसिंह द्वारा निर्मित महलों, मंडपों, बगीचों और मंदिरों का एक आकर्षक भवन है. यह मुगल और राजपूत वास्तुकला का समावेश है जिसे बनाने के लिए संगमरमर और लाल पत्थरों का प्रयोग हुआ है. मजबूत प्राचीन और सुंदर महल आमेर किले को राज्य का सबसे खास आकर्षण बनाते हैं. आमेर किले में स्थित माहोठा झील इस जगह की खूबसूरती में चार चाँद लगाती है. >> पढ़ें युनेस्को विश्व धरोहर स्थल: जयपुर का आमेर किला

जयगढ़ किला

jaigarh-fort–jaipurजयगढ़ किला, राजस्थान की राजधानी जयपुर में अरावली पर्वतमाला में चील का टीला नामक पहाड़ी पर बना है। जयगढ़ किले का निर्माण जयसिंह द्वितीय ने 1726 ई. में आमेर किला एवं महल परिसर की सुरक्षा हेतु करवाया था और इसका नाम उन्हीं के नाम पर रखा गया है। जयगढ़ किला जयपुर शहर की समृद्ध संस्कृति को दर्शाता है। >> पढ़ें जयगढ़ किले का इतिहास

नाहरगढ़ किला

नाहरगढ़ किले को जयपुर के राजा सवाई जय सिंह द्वारा बनाया गया था। इस किले का निर्माण कार्य 1734 में पूरा किया गया। नाहरगढ़ किला, अरावली पर्वत श्रृंखला में बना हुआ है। यह भारतीय व् यूरोपीय वास्‍तुकला का सुंदर समामेलन है। नाहरगढ़ से जयपुर शहर का नजारा देखने लायक होता है। दिन और रात दोनों ही समय जयपुर शहर लुभावना और खूबसूरत लगता है। >> पढ़ें: बाघों का निवास – नाहरगढ़ किला

सिटी पैलेस

city-palace–jaipurसिटी पैलेस जयपुर का प्रमुख लैंडमार्क और सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों में से एक है। सिटी पैलेस का निर्माण महाराजा सवाई जयसिंह ने 1729 से 1732 के मध्य कराया था। यह एक राजस्थानी व मुगल शैलियों की मिश्रित रचना, एक पूर्व शाही निवास जो पुराने शहर के बीचों बीच खड़ा है। इस खूबसूरत परिसर में कई इमारतें, विशाल आंगन और आकर्षक बाग हैं जो इसके राजसी इतिहास की निशानी है। यहाँ की खूबसूरती को देखने के लिए सैलानी दुनिया भर से हजारों की संख्या में सिटी पैलेस में आते हैं। >> पढ़ें:  ख़ूबसूरती की मिसाल : सिटी पैलेस

चित्तौड़गढ़ किला

chittorgarh_fortचित्तौड़गढ़ किला एक भव्य और शानदार संरचना है जो चित्तौड़गढ़ के शानदार इतिहास को बताता है। यह चित्तौड़गढ़ का प्रमुख पर्यटन स्थल है। यह किला जमीन से लगभग 500 फुट ऊंचाई वाली एक पहाड़ी पर बना हुआ है। इस किले में कई सुंदर मंदिरों के साथ रानी पद्मिनी का शानदार महल भी हैं। >> पढ़ें:  चित्तौड़गढ़ किला- जौहर का गढ़

मेहरानगढ़ किला

mehrangarh-fort–jodhpurमेहरानगढ़ किला भारत के विशाल और शानदार किला है। मेहरानगढ़ किला एक बुलंद पहाड़ी पर 150 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। राव जोधा ने 12 मई 1459 को इस पहाडी पर किले की नीव डाली लेकिन महाराज जसवंत सिंह (1638-78) ने इसे पूरा किया था। इस विशाल किले के भीतर अनेक महल और मंदिर हैं। मेहरानगढ़ किले के दूसरे दरवाजे पर आज भी पिछले युद्धों के दौरान बने तोप के गोलों के निशान मौजूद हैं। >> पढ़ें:  मेहरानगढ़ किला- इस किले की ऊंचाई है कुतुब मीनार से भी ज़्यादा, जहां से दिखता है पाकिस्तान

जूनागढ़ का किला

Junagarth_Fort,_Bikanerजूनागढ़ का किला, राजस्थान राज्य के बीकानेर शहर में स्थित है। मूल रूप से इस किले का नाम चिंतामणि था जिसे 20वीं शताब्दी में बदलकर जूनागढ़ या पुराना किला रख दिया गया। इसे महाराजा राय सिंह ने बनवाया था। यहाँ राजा की समृद्ध विरासत के साथ उनकी कई हवेलियां और कई मंदिर भी हैं। यहाँ आपको संस्कृत और फारसी में लिखी गई कई पांडुलिपियां भी मिल जाएंगी। >> पढ़ें:  जूनागढ़ किला: तपते रेगिस्तान में सर्दी का माहौल

सोनार किला – जैसलमेर

sonar-kila-jaisalmerजैसलमेर राजस्थान का सबसे ख़ूबसूरत शहर है और जैसलमेर पर्यटन का सबसे आकर्षक स्थल माना जाता है। जैसलमेर का किला बारहवीं सदी के सुनहरे पत्थरों से बना है। सुबह जब सूर्य की चमकीली किरणें जब इस किले के सुनहरे पत्थरों पर पड़ती हैं तो यह किला पीले रंग से दमक उठता है। सोने सी आभा देने के कारण इसे सोनार किला या गोल्डन फोर्ट भी कहा जाता है। जैसलमेर के प्रमुख ऐतिहासिक स्मारकों में सर्वप्रमुख जैसलमेर किला वास्तु-कला का सुंदर नमूना है, जिसमें बारह सौ घर हैं। >> पढ़ें:  जानिए राजस्थान के सोनार किले की कुछ रहस्यमई बातें

हवा महल

Jaipur,_Hawa_Mahalजयपुर की पहचान माना जाने वाला हवा महल कई मजिलों पर बना हुआ महल है, जिसका निर्माण सवाई प्रताप सिंह ने 1799 में कराया था और श्री लाल चंद उस्‍ता इसके वास्‍तुकार थे। शाही हवा महल खूबसूरत गुलाबी शहर का शायद सबसे ज्यादा पसंदीदा पर्यटन स्थल है। 1799 में स्थापित यह महल राजस्थान के रंगीन इतिहास और संस्कृति का परिचायक है। >> पढ़ें:  5 मंजिलों वाले इस किले में ना तो है कोई सीढ़ी, ना है कोई कमरा

उदयपुर सिटी पैलेस – उदयपुर

city_palace_Udaipur

सिटी पैलेस की स्थापना 16वीं शताब्दी में आरम्भ हुई। शाही शहर जयपुर में स्थित सिटी पैलेस वास्तुकला का अद्भुत नमूना है। यह एक भव्य परिसर है। इस महल को बनाने में 22 राजाओं का योगदान रहा है। इस महल की खूबसूरती, संगमरमर की नक्काशी वाली आंतरिक सज्जा, शानदार खंभे, सैलानियों के लिए खास आकर्षण बनाती है। >> पढ़ें:  11 महलों वाले इस पैलेस में चलते है मिट्टी के तेल से पंखे

Related Articles

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

15,988FansLike
0FollowersFollow
110FollowersFollow
- Advertisement -

MOST POPULAR

RSS18
Follow by Email
Facebook0
X (Twitter)21
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram20
WhatsApp