खड़े होकर खाते हैं खाना, तो हो सकते हैं इन गंभीर बीमारियों के शिकार!

445

समय की कमी के कारण लोग कई बुरी आदतें अपनाते हैं और इस आदत में खड़े होकर खाना खाना भी शामिल है। जी हां और आज के समय में यह एक तरह का चलन बन गया है।

जानकारों के मुताबिक जिस तरह खड़े होकर पानी पीना हानिकारक होता है, उसी तरह खड़े रहकर खाना भी पाचन तंत्र और शरीर के लिए खतरनाक होता है।

जब आप खड़े होकर खाते हैं, तो कभी पेट नहीं भरता है और परिणामस्वरूप, आपको कभी पता ही नहीं चलता कि आपका पेट भरा हुआ है या नहीं।

जमीन पर बैठकर खाना खाना बहुत अच्छा माना जाता है और यह सबसे अच्छा होता है। आपके खड़े होने और खाने के तरीके से समय की बचत हो सकती है, लेकिन यह आपको कई बीमारियों का शिकार जरूर बना सकता है।

आज हम आपको उन बीमारियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो खड़े होकर खाने से हो सकती हैं।

अधिक भूख लगना

जिन लोगों को खड़े रहकर खाना खाने की आदत होती है उन्हें अक्सर भूख ज़्यादा लगती है। विशेषज्ञों के अनुसार, खड़े होकर खाने से भोजन का पाचन 30% तेज गति से होता है और इससे खाने के कुछ घंटों के बाद ही आपको भूख लगती है। भोजन की लालसा कई अन्य बीमारियों का कारण बन सकती है।

पाचन को प्रभावित करता है

खाने के दौरान आपकी पोजीशन आपके पाचन को काफी हद तक प्रभावित करती है। डॉक्टरों के अनुसार, खड़े होकर खाने से पेट तेजी से खाली होता है और भोजन अति सूक्ष्म कणों में टूटने से पहले आंत में चला जाता है।

इससे आंत पर दबाव बढ़ता है और पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं। एक हद तक यह माना जाता है कि पेट से आंत तक भोजन की तत्काल गति गुरुत्वाकर्षण बल के कारण होती है।

सूजन का कारण बनता है

समय बचाने के लिए कुछ लोग खड़े रहकर खाना खाते हैं। ऐसे में वे खाना ठीक से नहीं चबा पाते। तेजी से पाचन खतरनाक हो सकता है क्योंकि यह पोषक तत्वों को अवशोषित करने के लिए कम समय देता है जिसके परिणामस्वरूप गैस और सूजन हो जाती है।

यह साबित हो चुका है कि जब कार्ब्स ठीक से नहीं पचते हैं, तो वे आंत में किण्वन कर सकते हैं, जिससे गैस और सूजन हो सकती है।

मोटापा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब हम जमीन पर आराम से खाना खाते हैं तो दिमाग में एक संदेश जाता है कि हमने खाना खा लिया है। खड़े रहकर खाना खाने से ऐसा नहीं होता, जिससे मोटापे का खतरा बढ़ जाता है।

यह भी पढ़ें :-