ये हैं दुनिया की 6 रहस्य्मयी झीलें!

1131

दुनिया के कई हिस्सों में आज भी कुछ ऐसी झीलें मौजूद हैं जो इंसानों के लिए रहस्य बनी हुई हैं। विज्ञान भी इन्हें लेकर अंधेरे में ही है। कहा जाता है कि इनकी गहराइयों में ऐसा कुछ है जिससे 21वीं शताब्दी में कदम रखने के बाद भी दुनिया अनजान है।

दुनिया की इन रहस्यमयी झीलों के नाम हैं लोच नेस (इंगलैंड), हानास (चीन), जेगरजिनाकी (पौलैंड), लाबिनकोर (रूस), कोलकोल (कजाखस्तान) और चैम्पलैन (अमरीका)।

सवाल यह पैदा होता है कि आखिर क्यों ये सारी झीलें रहस्यमयी बनी हुई हैं? वास्तव में यह सारी झीलें इसलिए रहस्यमयी हैं क्योंकि उनमें ऐसे दैत्याकार जीवों को देखा जा चुका है जिनसे हमारी यह दुनिया एकदम अनजान है।

चलिए जानते हैं इस पोस्ट के माध्यम से

mysterious lakes of the world

लोच नेस झील

पहला मामला 3 युवतियों का है जो लोच नेस झील के पास ही बने एक होटल की सबसे ऊपरी मंजिल पर स्थित एक कमरे में ठहरी हुई थीं। कैटरीना मरै, शैरन बालटेन और सेलिना नामक ये लड़कियां घूमने के लिए वहां आई हुई थीं।

चांदनी रात में तीनों सहेलियों की आंखों ने जो कुछ देखा वह यकीन करने वाला नहीं था। पहले तो तीनों को भ्रम हुआ कि लोच नेस झील में से कोई नया टापू उभर रहा है किन्तु कुछ ही क्षणों में तीनों को लगा कि झील की गहराइयों से निकल कर जो बाहर आ रहा था वह कोई वेजान चट्टानी टापू नहीं था बल्कि कोई प्राणवान वस्तु थी।

तीनों सहेलियों ने जो देखा था वैसा ही देखने का दावा पहले भी कई लोग कर चुके थे। लौच नेस में देखे जाने वाले विशाल दैत्य जैसे जीव को एक नाम भी दिया जा चुका था और वह था नेस्साई।

नेस्साई नामक यह रहस्यमयी जीव आज भी पहेली बना हुआ है। इस जीव की खोज में आधुनिक वैज्ञानिक उपकरणों की मदद से कई बार व्यापक अभियान भी चलाया गया मगर इससे कुछ हासिल नहीं हुआ।

यह भी पढ़ें:- दुनिया का सबसे सुंदर मंदिर, जहां भगवान ने अपने नाखूनों से बना डाली झील

चीन की हासान झील

लोच नेस जैसे विशालकाय विचित्र जीव को देखने का दावा चीन की हानास झील के आसपास बसने वाले लोग भी करते हैं। यह झील चीन के चिनजियांग प्रांत में कई सौ मील के दुर्गम जंगली क्षेत्र में फैली है।

1980 में हालास झील में कभी-कभी दिखने वाले डायनासोर जैसे जीव की खोज में जिनजियांग यूनिवर्सिटी के टैक्नीशियनों ने एक बड़ा अभियान चलाया था।

इस अभियान के अंतर्गत यूनिवर्सिटी के टैक्नीशियनों ने सघन और दुर्गम जंगली क्षेत्र में फैली झील में करीब 500 मील की यात्रा एक स्टीमर पर तय की और कई जगह शक्तिशाली दूरबीनों से लैस उपकरणों को झील की गहराइयों में उतारा।

आखिर झील की गहराइयों में डाली गई दूरबीन की श्रेणी में वह चीज आ गई जिस चीज की तलाश में चीनी टैक्नीशियन जुटे थे। वह सब स्तब्ध करने वाला था। उस विशाल जीव का आकार किसी बड़े समुद्री जहाज जितना था।

वह विशाल जीव केवल कुछ क्षण के लिए झील में डाली गई दूरबीन की श्रेणी में रहा और फिर तेजी से डुबकी लगाकर अनंत गहराइयों में कहीं गुम हो गया। इस विशाल विचित्र जीव को चीनी टैक्नीशियनों के दल ने पुनः ढूंढने की बेहद कोशिश की मगर वह नहीं मिला।

यह भी पढ़ें :- जानिए चमत्कारी कैलाश मानसरोवर झील से जुड़े कुछ रोचक तथ्य!!

पोलैंड की जेगरजिनाकी झील

चीन के बाद अब पोलैंड की जेगरजिनाकी झील में नजर आने वाले विचित्र जीव की बात करते हैं। यह झील राजधानी वारसा के करीब है और अपने अंदर अनेक रहस्य समेटे है।

इसमें डायनासोर जैसे जीवों को देखने की बात लम्बे समय से सुनने में आती रही है। चश्मदीदों के अनुसार बहुत बड़े काले सिर वाले इस विशाल जीव के कान किसी गिलहरी जैसे थे।

1982 में तो जेगरजिनाकी झील में नहाने के लिए उतरे दो छात्रों का बाकायदा इस जीव में आमना-सामना हो गया था। छात्रों को ऐसा लगा जैसे अचानक कोई दानव जेगरजिनाकी झील में से बाहर निकल आया हो।

काले सिर और गिलहरी जैसे कानों वाले उस विशालकाय जीव की गर्दन की ऊंचाई ही कम से कम 60 फुट से ज्यादा थी।

यह भी पढ़ें :-नर कंकाल से भरी है उत्तराखंड की रूपकुंड झील जानिए क्या है रहस्य

रूस की लाबिनकोर झील

रूस के एक खोजी लेखक अनोनोले पानकोव ने तो लाबिनकोर झील में दिखने वाले जीवों पर लम्बी रिसर्च की थी। उनके अनुसार 1959 के आसपास झील में एक विशाल जीव को देखे जाने की घटनाएं बहुत बड़ी संख्या में रिकार्ड की गई थीं।

वह जीव अपने मुख से किसी बच्चे के रोने जैसी तेज आवाज निकालता था और उसकी गर्दन किसी मीनार सी थी और रंग स्लेटी था। उनके अनुसार यह जीव करोड़ों साल पहले धरती से गायब हो चुके डायनासोरों की ही किसी नस्ल का हो सकता था।

यह भी पढ़ें :-दुनिया की शीर्ष भूमिगत झीलें, जिनकी सुंदरता आपको अचंभित कर देंगी! 

कोलकोल झील

कजाखस्तान के अलमायटा शहर में मौजूद कोलकोल झील में भी डायनासोर जैसे जीव को दर्जनों बार देखा गया है। झील की गहराई में उतरे गोताखोर उस जीव को भले ही नहीं जीव का ढूंढ सके लेकिन उन्होंने इस पहेली को काफी क चित्र हद तक सुलझा लिया कि वह आखिर गायब कहां हो गया था?

गोताखोर उसके तल में बड़ी दरारों को तलाशने में सफल रहे थे। इनके नीचे ही कहीं अंधेरी दुनिया में ही शायद उस जीव ने अपने छिपने की जगह बना रखी थी। वहां तक पहुंचना काफी मश्किल था।

अमरीका की झील चैम्पलेन

अमरीका की रहस्यमय झील चैम्पलेन भी एक दैत्य जैसे जीव का घर है। इस विशाल दैत्य जैसे जीव को अमेरिका लोगों ने चैम्प का नाम दे रखा है।

इसकी मौजूदगी को लेकर लेखक जोसफ जारिनाकी ने बाकायदा पुस्तक ‘चैम्प दी लीजैंड‘ लिखी जिसमें चैम्प को देखे जाने के लगभग 200 मामलों का विवरण दिया गया।

पंजाब केसरी से साभार

यह भी पढ़ें :-