औषधीय गुणों से भरपूर हैं ये 4 पौधे

957

भारत वर्षों से जड़ी-बूटियों के लिए जाना जाता है। आयुर्वेद में बड़े पेड़ों से लेकर जमीन पर एक इंच तक उगने वाली घास के फायदे और नुकसान का जिक्र है।

लेकिन हम में से बहुत से लोगों को इसके बारे में बहुत कम या बिल्कुल भी जानकारी नहीं है। साथ ही हमारे पास आपके घर के बगीचे में उगने के लिए औषधीय पौधों और पेड़ों के इतने विकल्प हैं कि उनका सही तरीके से उपयोग करने से आप डॉक्टर के चकर लगाने से बच सकते हैं।

घर कितना भी छोटा क्यों न हो, उसमें बगीचे के लिए जगह जरूर होती है। शायद ही आपने ऐसा घर देखा होगा जिसमें एक भी पौधा न लगा हो। घरों के आसपास पौधे लगाने का सिलसिला अनादि काल से चला आ रहा है।

उसमें कुछ सुंदर दिखने वाले पौधे और कुछ विशेष गुण वाले होते थे। जिससे घर की खूबसूरती के साथ-साथ सेहत भी तरोताजा बनी रहे।

हालाँकि, अंग्रेजी दवा के आगमन के बाद, लोगों में पौधे के औषधीय गुणों के प्रति समझ और रुचि दोनों कम हो गई थी। लेकिन कोरोना के बाद लोग एक बार फिर जड़ी-बूटियों के महत्व को जान रहे हैं।

आज इस पोस्ट में हम आपको औषधीय गुणों से भरपूर 4 पौधों के बारे में बताने जा हैं, तो चलिए जानते हैं :-

नीम

  • शरीर को ठंडा रखता है।
  • पाचन में सुधार करता है।
  • थकान को दूर करता है।
  • घावों को साफ करने और ठीक करने का काम करता है।
  • त्वचा संबंधी रोगों में लाभकारी।
  • मधुमेह में सहायक।
  • पेशाब की समस्या को दूर करने का काम करता है।

भारतीय बोरेज

  • पाचन में सुधार करता है।
  • भूख में सुधार करता है।
  • पेट में कीड़े होने की समस्या को दूर करता है।
  • बुखार में लाभकारी।
  • खांसी की समस्या में उपयोगी
  • सिर दर्द में आराम देता है।
  • अपच में कारगर।

तुलसी

  • खांसी की समस्या में उपयोगी।
  • पेट में कीड़े होने की समस्या को दूर करता है।
  • भूख और स्वाद में सुधार करता है।
  • पाचन शक्ति में सुधार करता है।
  • अस्थमा और सांस की बीमारियों में राहत देता है।
  • यह कीड़े के काटने में लाभकारी होता है।
  • त्वचा संबंधी रोगों के लिए लाभकारी।
  • गुर्दे की पथरी में लाभ होता है।

एलो वेरा

  • जलने पर राहत देता है।
  • घाव को ठीक करता है।
  • शरीर को ठंडा रखता है।
  • पेट संबंधी समस्याओं में लाभकारी।
  • मासिक धर्म के दर्द में कारगर।
  • यकृत समारोह में सुधार करता है।
  • कब्ज, एसिडिटी और भारीपन से राहत दिलाता है।

ये आयुर्वेदिक पौधे न सिर्फ शरीर के अंदर के दोषों को दूर करते हैं बल्कि पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाते हैं।

यह भी पढ़ें :-