जल्दी उठने वाले और देर रात को सोने वाले लोगों में 7 अंतर

1सुबह जल्दी उठने वाले लोग परिपूर्णतावादी होते हैं, जबकि देर रात को सोने वाले लोग टिककर खेलने में माहिर होते हैं.

बार्सिलोना विश्वविद्यालय में एक अध्ययन में सामने आया कि जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं उन्हें “ थकान, निराशा और कठिनाइयों” का सामना नहीं करना पड़ता. जबकि देर रात को जागने वाले लोग “ अपव्यय, आवेग और नवीनता का मांग” जैसी समस्याओं का सामना करते हैं.

2सुबह जल्दी उठने वाले लोग ख़ुशी-ख़ुशी से उठते हैं जबकि देर रात को जागने वाले लोग उदासी वाले चेहरे के साथ सुबह उठते हैं.

देर रात को जागने वाले लोग सुबह जल्दी उठने से कतराते हैं. वह अपनी घड़ी के अलार्म को बार-बार बंद करते रहते हैं. अगर वह घड़ी के अलार्म से उठ भी जाएँ तो भी उनके चेहरे पर उदासी ही छाई होती है. जबकि जल्दी उठने वाले लोग अपने चेहरे पर बड़ी मुस्कान से सुबह का स्वागत करते हैं.

3सुबह जल्दी उठने वाले लोग हमेशा अपने काम में सक्रिय रहते हैं. जबकि देर रात को सोने वाले लोग अपने काम में होशियार होते हैं

सफल होने की कुंजी हमेशा आपकी बुद्धि से नहीं जुडी होती. एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं उनके सफल होने की संभावना ज्यादा होती है क्योंकि उनके द्वारा घंटों किया गया काम उनको दुनिया में सफलता दिलाता है.

4जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं वह चाय पीना पसंद करते हैं जबकि जो लोग देर रात तक सोते हैं उन्हें शराब पीना अच्छा लगता है

जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं वह चाय पीने के शौकीन होते हैं जबकि देर रात तक जागने वाले लोग कॉफ़ी और शराब पीने के इच्छुक होते हैं. क्योंकि शराब और कॉफ़ी में कैफीन की मात्रा अधिक होती है.

5जो लोग जल्दी उठते हैं वह रात के समय रचनात्मक होते हैं जबकि देर रात तक जागने वाले लोग दिन के समय रचनात्मक होते हैं.

एक शोध में पाया गया कि जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं वह रचनात्मक समस्याओं का रात के समय समाधान करने में ज्यादा सक्षम होते हैं ना कि दिन के समय में. जबकि देर रात तक सोने वाले लोग, दिन के समय रचनात्मक समस्याओं का समाधान करने में ज्यादा सक्षम होते हैं.

6जल्दी उठने वाले लोग बूढ़े होते हैं जबकि देर रात को सोने वाले लोग जवान होते हैं

वैज्ञानिक शोध में पाया गया है कि जल्दी उठने वाले लोगों में ज्यादातर लोग बूढ़े होते हैं. जबकि देर रात को सोने वाले लोगों में वह लोग आते हैं जो जवान होते हैं.

7जल्दी उठने वाले लोगों को अपना सुबह का नाश्ता अच्छा लगता है जबकि देर रात को जागने वाले लोगों को अपना रात का खाना अच्छा लगता है.

हमारे काम करने के सबसे पसंदीदा घंटे ना कि हमारे मूड पर अपना प्रभाव डालते हैं बल्कि हमारे द्वारा खाए जाने वाले भोजन पर भी प्रभाव डालते हैं. सुबह उठने वाले लोग अखबार पढ़ते-पढ़ते अपना नाश्ता करते हैं. जबकि देर रात को जागने वाले लोग सुबह उठकर जल्दी ऑफिस पहुंचने की तैयारी करते हैं.

Comments