जानिए रेड सैंड बोआ सांप की कीमत क्यों है करोड़ों में

58

रेड सैंड बोआ सांप एक बहुत ही दुर्लभ प्रजाति का सांप है यह Boidae प्रजाति का है यह सांप भारत, पाकिस्तान तथा ईरान में पाया जाता है l

इस सांप के बारे में कई तरह के वहम है जैसे कि इसके दो मुंह होते हैं तथा यह विषैला नहीं  होता है लेकिन यह गलत हैं इसके पूरे शरीर की संरचना बेलनाकार होती है यह लंबाई में औसत 2 फुट तक होते हैं लेकिन इनकी अधिकतम लंबाई 3 फुट तक हो सकती हैl

इनका सर थोड़ा नुकीले आकार का होता है जिसके ऊपर छोटी नाक तथा छोटी छोटी आंखें होती है इनकी रोचक बात यह है कि इनका सर और पूंछ दोनों लगभग समान आकार की होती हैं जिसकी वजह से लोगों को लगता है कि इसके दो मुंह हैं।

इनका रंग हल्का लाल भूरा तथा हल्का पीला भूरा होता है रेड सैंड बोआ सांप छोटे चूहों तथा अन्य छोटे जीवों को अपना शिकार बनाते हैं यह सांप आमतौर पर मुलायम रेतीली मिट्टी में रहना पसंद करता है जिससे कि इनको रेंगने में आसानी होती है l

यह सांप बहुत धीमी गति से रेंगता है इसी वजह से इनको आसानी से पकड़ा जा सकता है आइए जानते हैं इस सांप को लेकर कुछ धारणाएं तथा अंधविश्वास जो इसे इतना महंगा बनाती है

इस सांप से जुड़े अंधविश्वास

दो मुहे सांप को लेकर कई देशों में और भारत के पूर्वोत्तर राज्यों में यह मान्यता है कि यह सांप मनुष्य के भीतर सुपर नेच्युरल पावर पैदा कर देता है। ऐसे व्यक्ति को भूत, भविष्य और वर्तमान की घटनाओं की जानकारी मिल जाती है।

वह लोगों का भला-बुरा करने में भी सक्षम हो जाता है। यह भी सुनने को मिल जाता है कि इस सांप के माध्यम से तांत्रिक प्रयोग कर लोग धन, सम्पत्ति भी प्राप्त करते हैं।

चीन और जापान जैसे देशों में यह धारणा है कि जो पुरुष इसके मांस का सेवन करता है वह आजीवन जवान रहता है जबकि ये सारे अंधविश्वास गलत हैं और इनका हकीकत से कोई लेना देना नहीं है।

विप्लुप्ति की कगार पर पहुंच गया है रेड सैंड बोआ सांप

वन्य-जीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 की अनुसूची-4 में रेड सैंड बोआ को शामिल किया गया है, जिसके तहत इसका पालन, शिकार, इसे पकड़ना या इसकी तस्करी करना एक कानूनी अपराध है ।

तस्करी हेतु लगातार इसका शिकार हो रहा है, जिसके चलते सांपो की यह प्रजाति आज विलुप्त होने की कगार पर खडी है

इन सभी धारणाओं के चलते तथा रेड सैंड बोआ सांप की बहुत कम उपलब्धता ही इसे इतना महंगा बनाती है l ब्लैक मार्केट में इसकी कीमत 2 से 4 करोड रुपए तक हो सकती है यह कीमत इस सांप के वजन तथा ग्राहकों की उपलब्धता के हिसाब से बढ़ या घट सकती है

रेड सैंड बोआ सांप से जुड़ा सच

सच तो यह है कि रेड सेंड बोआ सांप भी अन्य सांपों की तरह एक जहरीला सांप होता है जो चूहे, कीड़े-मकोड़े तथा छोटे जानवरों को अपना शिकार बनाता है।

यह आदमी से दूर ही रहता है, वैज्ञानिकों के अनुसार अभी तक एक भी ऐसा केस सामने नहीं आया है जिसमें दो मुंहे सांप ने किसी व्यक्ति को काटा हो।

यह लोगों के लिए पूरी तरह से निरापद तथा हानिरहित है। इसमें ऐसे कोई भी तत्व या पदार्थ नहीं पाए गए हैं जिससे ऊपर बताई गई कोई बीमारी, शक्ति या ईश्वरीय शक्ति प्राप्त हो सके।