जानिए क्या सिखाता है हमें क्रिसमस

2104

क्रिसमस दुनियाभर में उल्लास के साथ मनाया जाता है। खासतौर पर बच्चे इस फेस्टिवल का बहुत आनंद लेते हैं क्योंकि यह बच्चों का मनपसंद त्यौहार होता है। और हो भी क्यों ना, इस दिन बच्चों को ढेर सारे गिफ्ट जो मिलते हैं।

यही नहीं कैंडी, चॉकलेट, आइसक्रीम और भी ढेर सारी चीजें भी खाने को मिलती हैं। आज इस पोस्ट में हम आपको क्रिसमस में छिपी कुछ शिक्षाएं और सही मायनों के बारे में बताने जा रहे हैं, तो चलिए जानते हैं:-

Know what Christmas teaches us

खुश रहिए

सबसे पहले तो आप यह समझ लीजिए कि क्रिसमस आपको बताता है कि आप हर हाल में खुश रहें। अपने पैरेंट्स की खुशी के लिए ऐसे काम करें ताकि उनकी उम्मीदों को ठेस न पहुंचे।

यह भी पढ़ें:- जानिए क्यों सजाते हैं क्रिसमस ट्री

प्रेम बांटिए

क्रिसमस पर आप जी भरकर आनंद लें, लेकिन अपनों के प्रति आभार भी व्यक्त करें। अपने आसपास हर व्यक्ति के साथ प्यार बांटें।

हो सकता है कुछ बच्चे किसी कारणवश यह फेस्टिवल नहीं मना पा रहे हों, उन बच्चों के प्रति व्यक्त किया गया आपका प्रेम उन्हें खुशी दे सकता है।

मिल बांटकर खाइए

हो सकता है आपको उपहार में कुछ न कुछ मिला हो, लेकिन बाहर बहुत से ऐसे भी बच्चे मिलेंगे जिनमें से कुछ के माता-पिता नहीं होंगे या कुछ के पैरेंट्स उन्हें कुछ दिलाने में समर्थ नहीं होंगें। अगर आप अपने इस बार के तोहफे उन बच्चों के साथ शेयर करेंगे तो वे बहुत खुश हो जाएंगे।

फैमिली वैल्यू जानिए

आप बच्चे अकसर मोबाइल फोन और इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स में इतना व्यस्त रहते हैं कि अपने परिवार के साथ समय नहीं बिता पाते।

अगर आप उनके साथ समय नहीं बिताएंगे तो फैमिली वैल्यू को नहीं जानेंगे और परिवार के साथ आपकी बॉन्डिंग उतनी मजबूत नहीं हो पाएगी, इसलिए एक नियम बना लें कि क्रिसमस की रात इलेक्ट्रॉनिक चीजों का प्रयोग नहीं करेंगे।

इन सबके अलावा और भी बहुत-सी बातें हैं जो क्रिसमस से सीख सकते हैं जैसे जिद न करना, सब्र रखना, सबके साथ मिलकर रहना आदि। क्रिसमस हमें यही सब तो सिखाता है।

यह भी पढ़ें :- ये हैं क्रिसमस पर बनाए गए अनोखे वर्ल्ड रिकॉर्ड!!

सीखें टीम भावना

क्रिसमस पर अगर आपके माता-पिता आपके लिए पार्टी ऑर्गनाइज कर रहे हैं तो आपके घर में बहुत सारे काम भी होंगे। आप खाना बनाने से लेकर साज-सजावट करने में थोड़ी बहुत मदद कर सकते हैं। इससे आपमें दसरों की मदद करने और टीम की भावना आएगी।

वॉलेंटियर बनिए

अगर आपके आसपास कोई दान – दया का कार्य चल रहा है और आप चाहते हैं, उनकी हेल्प करें तो अपने माता-पिता से
सहयोग मांगें।

दूसरों का सम्मान करिए

आपको अपने से बड़ों का सम्मान करना चाहिए और हर व्यक्ति के साथ नम्र भाव से व्यवहार करना चाहिए। आप लोगों से दयालुता का भाव सीखें, इसलिए क्रिसमस की शाम आप एक अच्छा व्यक्ति बनने का संकल्प लें और दयालुता जैसे भाव अपने अंदर भरने की कोशिश करें।

यह भी पढ़ें :-क्रिसमस के बारे में 18 विचित्र और रोचक तथ्य!