ये है दुनिया के सबसे विचित्र त्यौहार, जिनके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे

77

त्यौहार धर्म, संस्कृति तथा मान्यताओं पर आधारित होते हैं त्यौहारों का प्रमुख उद्देश्य आर्थिक समृद्धि, रिश्तों को मजबूत बनाना, प्रकृति की कृतज्ञता और ऋतुओं का मानव जीवन मे महत्व बताना होता है।

लेकिन दुनिया में कुछ त्यौहार ऐसे भी हैं जो काफी विचित्र हैं जिनके बारे में जानकर आप हैरान रह जाएंगे। तो आइये जानते हैं कुछ ऐसे विचित्र त्यौहारों के बारे में

बेबी जंपिंग फेस्टिवल

बेबी जंपिंग फेस्टिवल या यूं कहे बच्चों के ऊपर से कूदने का ये अजीबोगरीब फेस्टिवल कहीं और नहीं बल्कि कैस्टिलो स्पेन में मनाया जाता है।

इस फेस्टिवल में नवजात जन्में बच्चों की माएं उन्हें जमीन पर रख देती हैं और शैतान के रूप में तैयार पुरुष बच्चों के ऊपर से कूदते हैं। ऐसा माना जाता है कि नवजात बच्चों को ऐसा करके शैतानी शक्ति से बचाया जाता है।

17 वीं शताब्दी से ही ये फेस्टिवल मनाया जा रहा है साथ ही ये भी माना जाता है कि जो भी बच्चा इस प्रक्रिया से नहीं गुजरता वो जिंदगी भर शैतानी साये में जीता है।

रोसवैल यूएफओ फेस्टिवल

ये फेस्टिवल एक प्रकार की गंभीर मीटिंग होती है जिसमें सभी यूएफओलॉजिस्ट दुर्लभ जीवों के बारे में बात करते है। ये त्यौहार मेक्सिको के रोसवैल में मनाया जाता है।

वेजीटेरियन फेस्टिवल

ये फेस्टिवल पुरे थाईलैंड में मनाया जाता है। यह फेस्टिवल अजीब होने के साथ-साथ बेहद डरावना और खतरनाक फेस्टिवल है। ये फेस्टिवल अपने नाम के बिल्कुल विपरीत है।

इसमें नौ देवताओं के लिए खुद की आहुती दी जाती है, जिसके अंतर्गत प्रतिभागी 9 दिनों के लिए सयंम का अभ्यास करते हैं।

शुद्धिकरण की प्रक्रिया के लिए मांसाहार खाने पर पाबंदी है। इसके साथ ही अपने शरीर के अंगो में भाले, चाकू और धातु की छड़ से छेद करना होता है।

मछरों का फेस्टिवल

इस अजीबोगरीब मछरों के फेस्टिवल को टेक्सास के क्लूट में मनाया जाता है। तीन दिवसीय इस फेस्टिवल में नए प्रकार के विचित्र खेलों का आयोजन किया जाता है।

बोलस दे फुएगो

इस त्यौहार के बारे में जानने के बाद आप आग से दूरी बना लेगें। य़े त्यौहार एल साल्वाडोर में मनाया जाता है जो बेहद खतरनाक होता है।

नेजला के एक छोटे से शहर में लोग एक स्थान पर इक्कटे हो जाते है और एक दूसरे के ऊपर आग के गोले फेंकते हैं।

कोनकी सूमो फेस्टिवल

ये फेस्टिवल जापान के यामाजी मंदिर में मनाया जाता है। कोनकी का मतलब रोना होता है। जापान के इस पारंपरिक त्यौहार में दो सूमो लड़ाका हाथ में छोटा बच्चा लिए एक दूसरे के सामने खड़े हो जाते हैं।

ये काफी विचित्र है कि प्रतियोगिता तब शुरू होती है जब दोनों बच्चों में से कोई पहले रोता है साथ ही जो ज्यादा देर तक और तेज आवाज में रोता है वो बच्चा प्रतियोगिता जीत जाता है।

कैट फ़ूड फेस्टिवल

इस फेस्टिवल के बारे में आप जैसा सोच रहें हैं वैसा बिल्कुल नहीं है बल्कि उसके विपरीत है। यहां बिल्लियों को खाना नहीं खिलाया जाता बल्कि बिल्लियों को ही खाने के रूप में परोसा जाता है।

पेरू के लोगों का मानना है कि बिल्ली का मांस एक स्वास्थ्य पूरक है। ये फेस्टिवल दक्षिणी लीमा, पेरू में मनाया जाता है।

हदाका मत्सूरी, नग्न परेड

ये परेड जापान के ओकायामा में सैदाईजी मंदिर के पास निकाली जाती है हालांकि इसमें लोग पुरे नहीं बल्कि अर्धनग्न होते है और करीब 10000 पुरुष लंगोट पहनकर निकलते हैं।

परेड के दौरान प्रतिभागी संतों द्वारा फेके गए तावीज को पाने की कोशिश करते हैं। सभी पुरुष अपने साथ एक कागज में नाम, पता, ब्लड ग्रुप और फोन नंबर लेकर आते हैं।