जानिए फेफड़ों को स्वस्थ रखने के उपाय!!

2295

जब हम डॉक्टर के पास जाते हैं, तो वह सबसे पहले स्टेथोस्कोप से हमारी धड़कन सुनता है जिसे सुनने के लिए डॉक्टर हमसे लम्बी गहरी सांस लेने को कहता है क्योंकि ये सांसें हमारी सेहत के बारे में बहुत कुछ बताती हैं। आज इस पोस्ट में हम जानेगें फेफड़ों को स्वस्थ रखने के उपाय, तो चलिए जानते हैं :-

चलती रहती हैं सांसें

श्वास खुद-ब-खुद चलती रहती हैं। हम सांस लेने के तरीके के बारे में नहीं सोचते। हम एक दिन में लगभग 30 हजार बार सांस लेते हैं। सांस लेने और छोड़ने का काम करते हैं हमारे फेफड़े यानी लंग्स।

हमारे शरीर में दो फेफड़े होते हैं जो हमारे सीने में सीधी तरफ राइट रिब केज के पीछे और दूसरी तरफ हमारे दिल के पीछे स्थित होते हैं। फेफड़ों का यह जोड़ा हमारे जीवन को चलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

फेफड़ों का मुख्य काम वातावरण से प्राणवायु लेकर उसे रक्त परिसंचरण में प्रवाहित करना और रक्त से कार्बन डाइऑक्साइड को अवशोषित कर उसे वातावरण में छोड़ना है ताकि हमारे सभी अंगों को जीवित रहने के लिए महत्वपूर्ण ईंधन प्राप्त होता रहे।

हृदयघात से बचाव

फेफड़े रक्त के थक्कों और वायु के बुलबुले के गठन को छान कर वायु के प्रवाह को रोकते हैं, जो हृदय के लिए घातक हो सकता है।

रक्त का स्तर

फेफड़े हमारे शरीर में रक्त के स्तर को बनाए रखने में दिल के साथ मिल कर काम करते हैं। इसी कारण रक्त स्तर संतुलित रहता है।

यह भी पढ़ें :-रक्त (blood) के बारे में रोचक तथ्य!!

फेफड़ों को अधिक देखभाल की जरूरत

हमारी दुनिया प्रदूषण, कार्बन उत्सर्जन, कम होते हरे आवरण, जलावायु परिवर्तन और कई अन्य गंभीर पर्यावरणीय चुनौतियों से जूझ रही है।

इन स्थितियों को देखते हुए फेफड़ों को सांस लेने की प्रक्रिया को सुचारू रूप से चलाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ता है। ऐसे में फेफड़ों का अधिक ख्याल रखने की जरूरत होती है।

विषाक्त पदार्थों से बचें

हमें इंडोर और आऊटडोर विषाक्त पदार्थों के सम्पर्क में आने से बचना चाहिए। वायु प्रदूषण हमारे लिए घातक है। वाहनों, कारखानों और विमानों के उत्सर्जन के कारण हवा में बढ़ता प्रदूषकों का स्तर हवा में मौजूद ऑक्सीजन की मात्रा को कम कर रहा है।

क्या उपाय अपनाएं

एयर प्यूरीफायर का प्रयोग

हमारा वातावरण बहुत से अदृश्य धूल कणों से भरा है जो एलर्जी’ और सांस की बीमारियों के लिए जिम्मेदार हैं। एयर ह्यूमिडिफायर, एयर प्यूरीफायर आदि की मदद से अपने आस-पास के वातावरण को शुद्ध रखें। घर में भी प्रदूषण फैलाने वाली कई चीजें हैं इसलिए घर में हवा की निकासी का पूरा ध्यान रखें।

संक्रमण को दूर रखें

सामान्य संक्रमण से बचने के लिए स्वच्छता संबंधी आदतों का पालन करना अच्छा होता है। इनमें हाथ धोना, अपने दांतों को नियमित रूप से दिन में दो बार ब्रश करने, रोगों से बचने के लिए टीके लगवाने, उन लोगों से बचने जो कुछ समय से सर्दी और फ्लू से पीड़ित हैं आदि आदतें शामिल हैं।

नियमित व्यायाम करें

कोई भी एरोबिक या कार्डियोवैस्कुलर व्यायाम रोज करें ताकि हृदय और फेफड़े मजबूत रहें। व्यायाम से शरीर की ऑक्सीजन उपयोग करने की क्षमता में सुधार होता है और फेफड़े बेहतर तरीके से काम करते हैं।

यह भी पढ़ें:- व्यायाम के शीर्ष 10 आश्चर्यजनक लाभ

पौष्टिक भोजन करें

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर खाद्य पदार्थ फेफड़ों के लिए फायदेमंद हैं। भोजन में अदरक, अनार, हल्दी, गाजर आदि का सेवन करें।

पंजाब केसरी से साभार

यह भी पढ़ें :- जानिए कैसे बनाएं जीवन को स्वस्थ