10 विनाशकारी भूकंप जिनमें काफी नुक्सान हुआ

भारत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान में आए विनाशकारी भूकंप से अफरातफरी मच गई। हालांकि किसी बड़े नुकसान की कोई खबर नहीं आई। बताते हैं कि भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान का हिन्दूकुश था। आइए एक नजर डाले ऐसे 10 बड़े विनाशकारी भूकंप पर, जिनमें जानमाल का भारी नुकसान हुआ।

पढ़ें : भूकंप से जुड़े जानने योग्य रोचक तथ्य!!

31 जनवरी, 1906 – इक्वाडोर में 8.8 की तीव्रता से भूकंप आया। इससे वहां सुनामी गई। इस प्राकृतिक आपदा ने यहां कम से कम 500 लोगों को मौत की नींद सुला दिया।

earthquake

11 नवंबर, 1922 – यहां पर भूकंप इतना तेज था, कि चिली का तट ही तबाह हो गया। चिली-अर्जेंटीना सीमा पर आए इस भूकंप की तीव्रता 8.5 रही।
15 अगस्त, 1950 – तिब्बत में भूकंप से 780 लोगों की जान चली गई।
22 मई, 1960 – इस दिन दक्षिण चिली में 9.5 की तीव्रता से भूकंप आया। करीब पौने दो हजार लोगों की मौत हुई, जबकि लाखों लोग बेघर हो गए थे।
28 मार्च, 1964 – अलास्का के प्रिंस विलियम साउंड में भूकंप से 131 लोग मरे। भूकंप की तीव्रता 9.2 रही।

26 दिसंबर, 2004 – इंडोनेशिया में भूकंप 9.1 की तीव्रता से आया था जिसने हिन्‍द महासागर में जल प्रलय सुनामी आ गई। इससे कई देशों में दो लाख 30 हजार लोगों की जान चली गई थी।
28 मार्च, 2005 – उत्तरी सुमात्रा में 8.5 की तीव्रता से भूकंप आया। यहां 1300 लोग अपनी जान गंवा बैठे।
27 फरवरी, 2010 – चिली में भूकंप में 524 लोगों की मौत हो गई।
11 मार्च , 2011 – पूर्वोत्तर तट (जापान) में  9.0 की तीव्रता से भूकंप आया। 18000 से अधिक लोगों की जिंदगी चली गई।
25 अप्रैल, 2015 – 7.8 की तीव्रता से भूकंप आया और नेपाल में तबाही मच गई। इस भकंप में 8857 लोगों की मौत हुई और 23,000 से ज्यादा लोग घायल हुए। यहां पर इमारतों को काफी नुकसान पहुंचा।

16 अप्रैल 2016 – इक्वाडोर में 7.8 तीव्रता से भूकम्प आया था। इस भूकंप का केन्द्र मुईस्न शहर से 27 किलोमीटर की दूरी पर था।  इसमें 525 लोगों की मौत हो गई और 4,027 से अधिक लोग घायल हो गए।
12 नवंबर 2017 –खैरमानशाह में 7.3 तीव्रता से ईरान-इराक की सीमा पर आया। इस भूकम्प  में चार सौ से अधिक लोग मारे गए थे और छह हजार से अधिक लोग घायल हुए थे। यह भूकंप रात 9:48 बजे आया था इस भूकंप का केंद्र इराक के पूर्व में स्थित हलब्जा शहर था।
28 सितंबर 2018 – इंडोनेशिया 6.1 तीव्रता से मिनाहासा प्रायद्वीप के एक पतले भूमि पट्टी पर एक सतही भूकंप आया। भूकंप और सुनामी के प्रभावों से कम से कम 1,347 लोगों की मौत की और 632 से घायल हो गए।