जानिए बुध ग्रह के वक्री होने से क्या होगा 12 राशियों पर असर

110

मार्च में बुध ग्रह वक्री होने वाला है। जानते हैं कि इसका लोगों के जीवन में क्या असर पड़ सकता है। बुध ग्रह 5 मार्च से लेकर 28 मार्च तक वक्री रहेगा।इन सितारों की वजह से ही हमारे जीवन में खुशियां या फिर नकारात्मकता आती है। इनकी हल्की सी गति भी मनुष्यों के व्यवहार को प्रभावित करती है।वक्री बुध का हमारे जीवन में बहुत नकारात्मक प्रभाव पड़ता है, क्योंकि जहां जिस भाव में सामान्य तौर पर बुध ग्रह अच्छा प्रभाव देते हैं, वहां उसका उल्टा प्रभाव देंगे। बुध का हमारे जीवन में विशेष महत्व है, क्योंकि बुध हमारी बुद्धि, विद्या, गणित, सांख्यिकी व व्यापार आदि का कारक ग्रह माना जाता है। तो आइए जानते हैं कि प्रत्येक राशि पर क्या प्रभाव पड़ेगा वक्री बुध का?

मेष राशि 

आपके 12 भाव में बुध ग्रह वक्री होने जा रहे हैं। हालांकि 12 भाव में बुध ग्रह श्रेष्ठ फल प्रदाता नहीं है लेकिन यहां स्थित आपको विशेष लाभ दिला सकते हैं। सट्टेबाजी में विशेष लाभ आपको प्राप्त हो सकता है। किसी श्रेष्ठ कार्य में खर्च बढ़ेगा। किसी विशिष्ट कार्य के लिए यात्रा कर सकते हैं, साथ ही गूढ़ अनुभव प्राप्त कर सकते हैं। इस समय मन की एकाग्रता आपको विशेष लाभ दिलाएगी। विरोधी परास्त होंगे। अचानक शुभ समाचार प्राप्त हो सकते हैं। इस समय में बड़ा परिवर्तन होगा, जो आपके लिए विशेष लाभकारी होगा।

वृषभ राशि 

आपके ग्यारहवें भाव में वक्री बुध गोचर करने जा रहे हैं। यहां स्थित बहुत अच्छे फलप्रदायक माने गए हैं लेकिन वक्री बुध उल्टा प्रभाव देंगे यानी अपनी इच्छा-महत्वाकांक्षा की पूर्ति होने में समस्या पैदा हो सकती है। मित्र और रिश्तेदारों से परेशानी प्राप्त हो सकती है। अगर आप प्रेम संबंध में लिप्त हैं, तो यहां आपको परेशानी दे सकते हैं। वक्री बुध से लंबी यात्राओं से परेशानी हो सकती है। सहयोगियों से सहयोग प्राप्त होने में परेशानी हो सकती है। इस समय बुध आपको भाई-बहन, मामा-मौसी आदि से लड़ाई-झगड़ा करवा सकता है। इससे परेशानी आपको आ सकती है। इस समय आपको कान संबंधी परेशानी हो सकती है।

मिथुन राशि

आपको बता दें कि मिथुन राशि के जातकों की राशि का स्वामी बुध ही है। बुध के वक्री होने से आपके बातचीत के स्तर पर असर होने की संभावना है। वक्ता के तौर पर मिथुन राशि के लोगों की खास पहचान है लेकिन ग्रहों की चाल में होने वाली तब्दीली से आपकी क्षमता प्रभावित होगी। बोलते समय हो सकता है आप अपनी बात ही भूल जाएं और आपको बंधा हुआ सा महसूस हो। आप इस चीज को अपने ऊपर हावी ना होने दें।

कर्क राशि

आमतौर पर कर्क राशि के जातकों को चुपचाप तमाशबीन बने रहने के लिए जाना जाता है लेकिन बुध के वक्री होने के बाद से वो चुप नहीं रहने वाले हैं। संभावना है कि बुध के इस परिवर्तन से आप इमोशनल और थोड़े चिड़चिड़े हो सकते हैं। किसी बड़ी वजह के बिना ही आपको छोटी छोटी बात पर गुस्सा आ सकता है। सलाह है कि आप कुछ भी बोलने से पहले धैर्य रखें।

सिंह राशि

सिंह राशि के लोग अपने जोशीले और सकारात्मक शख्सियत के लिए जाने जाते हैं लेकिन मार्च के महीने में ऐसा नजर नहीं आने वाला है। संभावना है कि आपकी ऊर्जा काफी कम रहेगी। आप काफी आलस महसूस करेंगे और चीजों को लेकर आप में रूचि नहीं रहेगी।

कन्या राशि

आप जीवन में बहुत सारी चीजों को लेकर कंफ्यूज रहेंगे। आप हर चीज को लेकर बहुत ज्यादा ना सोचें और इस वक्त को गुजर जाने दें। बेहतर होगा कि आप धैर्य रखें और असमंजस की स्थिति को खुद पर हावी ना होने दें।

तुला राशि

हम जानते हैं कि इस राशि के जातक अपने दिल की बात को अनसुना करके सामने वाले की खुशियों का ध्यान रखते हैं। लेकिन इस पूरी अवधि के दौरान आप अपने मन की बात जाहिर करने वाले हैं। आपको यही सलाह दी जाती है कि आप ठंडे दिमाग से काम लें और अपनी बातों से किसी को चोट ना पहुंचाए।

वृश्चिक राशि

आपके पंचम भाव में बुध ग्रह वक्री होने जा रहे हैं। इस अवधि में वासनापरक विचार सिर्फ आपको अवसादित ही नहीं करेंगे, बल्कि जलील भी करवा सकते हैं। स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के कारण आपकी नित्य चर्चा में भी व्यवधान उपस्थित हो जाएगा। वैसे नौकरी के हालात अच्छे रहेंगे। यद्यपि काम का बोझ थकाने वाला होगा। स्त्री वर्ग से आपका व्यवहार मधुर नहीं रह पाएगा। विरोधी प्रबल होंगे। विपरीत परिस्थितियों में प्रतिरोधात्मक शक्ति का विकास प्राप्त करने का प्रयत्न करें। भारी व्यय होने की भी संभावना है।

धनु राशि

आपके चतुर्थ भाव में बुध ग्रह वक्री होने जा रहे हैं। थोड़े से लाभ के लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ सकती है। नौकरी के हालात बदतर होते जाएंगे। स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं परेशान करेंगी। परिवारजनों से संबंध भी इस अवधि में अच्छे नहीं रहेंगे। विरोधी प्रबल होंगे। व्यर्थ की यात्राओं से बचें। वैसे मुकदमेबाजी और न्यायालयों के मामलों के लिए यह समय अच्छा है। जीवन शक्ति और स्फूर्ति में कमी महसूस होने के कारण झगड़े और झंझटों से दूर रहने का प्रयत्न करें।

मकर राशि

आपके तीसरे भाव में बुध ग्रह वक्री होने जा रहे हैं। इस अवधि में अचानक लाभ होने की संभावना है। अगर वसीयत प्राप्त करने की संभावना है या आप उसको प्राप्त करने के लिए इच्छुक हैं, तो आप उसे प्राप्त कर सकते हैं। आपका मन धार्मिक क्रिया-कलापों की ओर झुका रहेगा। कुछ अतीन्द्रिय अनुभव भी प्राप्त कर सकते हैं। पारिवारिक माहौल सौहार्दपूर्ण रहेगा। अचानक यात्राएं सफलतादायक सिद्ध होंगी। आपकी प्रतिष्ठा बढ़ेगी और सम्मान में इजाफा होगा। छोटी-मोटी बीमारियां मानसिक शांति भंग कर सकती हैं। आप तीर्थाटन पर जा सकते हैं। कुल मिलाकर सुखी रहेंगे।

कुंभ राशि

बुध ग्रह के वक्री होने के कारण आपको बिना किसी वजह के कुंठा और निराशा हो सकती है। आपको चीजों को देखने के लिए दूसरा नजरिया अपनाना चाहिए। आपको सकारात्मक रहना है, तब आपको एहसास होगा कि चीजें उतनी बुरी भी नहीं हुई है जितनी नजर आ रही हैं।

मीन राशि

आपके प्रथम भाव में वक्री होने जा रहे हैं बुध ग्रह। यह अच्छा समय नहीं है, क्योंकि आपके भागीदार या सहयोगी आपको नीचा दिखाएंगे। औरों की लापरवाही और असफलताओं से आप चिंतित रहेंगे। रोजमर्रा के कामों में भी समस्याएं खड़ी हो सकती हैं। बेबुनियाद इल्जाम आप पर मढ़े जाएंगे। छोटे-मोटे झंझट या विवादों से बचें। स्त्री वर्ग से आपके संबंध अच्छे नहीं रहेंगे। जहां तक संभव हो, फालतू की यात्रा कम करें। व्यापार के बड़े-बड़े निर्णय लेने या विकास की योजनाओं पर ध्यान देने के लिए यह आवश्यक है कि आप पूरी जांच-परख करके ही ऐसा करें।