गर्मियों में हीट स्ट्रोक या लू से बचने के लिए खाएं ये फायदेमंद चीज़े!!

277

गर्मियों का मौसम शुरू हो गया है और गर्मियों के मौसम में सेहत का खास ध्यान रखना पड़ता है। हमारा शरीर 37 डिग्री तक तापमान सहन करने में सक्षम होता है। तापमान इससे ऊपर जाने पर शरीर में कई प्रकार की दिक्कतें महसूस होने लगती है।
इस मौसम में इंसान के शरीर में पानी की कमी से डिहाइड्रेशन होने की संभावना बढ़ जाती है। गर्मी में ज़्यादा देर धूप में रहने से शरीर से अधिक मात्रा में पसीना निकलने के कारण पानी की कमी हो जाती है।

इससे सर में दर्द, थकान, सुस्ती, भूख का कम होना, उल्टी होना, पेट मे दर्द, जलन, दस्त होना, चक्कर आना और साथ ही मानसिक संतुलन बिगड़ने जैसे हालात पैदा हो जाते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं कि किस प्रकार खान पान में कुछ बदलाव करके लू से बचा जा सकता है।

दही

दही एक डेयरी प्रोडक्ट हैl दूध में जिस बैक्टीरिया को मिलाकर दही बनाया जाता है, उसे “योगर्ट कल्चर” कहते हैं। रोजाना इसका सेवन करने से आप लू लगने से बच सकते हैं और साथ ही साथ यह आपके शरीर को कई सारे विटामिन्स और मिनरल्स भी प्रदान करती है। इसमें काफी मात्रा में प्रोटीन भी पाया जाता है, जो शरीर को एनर्जी देता है। आप दही से बनी छाछ, लस्सी आदि का भी सेवन कर सकते हैं।

नारियल पानी

नारियल पानी में लाइट शुगर और जरूरी मिनरल्स होते हैं, जो शरीर को हाइड्रेट रखते हैं। यह पोटेशियम का अच्छा स्रोत है। वेट लॉस  में भी नारियल पानी बहुत कारगर है।

पुदीना

पुदीना खाने से शरीर को काफी ठंडक मिलती है क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। इसलिए गर्मी में पुदीने को पीसकर पीने से आप लू से बच सकते हैं। पुदीने को आप नींबू पानी, चटनी आदि के रूप में भी इसका सेवन कर सकते हैं। किसी अन्य प्लांट की अपेक्षा पुदीने में सबसे अधिक एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं। इसे खाने में फ्रेश और ड्राय दोनों तरह से प्रयोग में लाया जाता है। ये कई फूड प्रोडक्ट्स और ड्रिंक्स में एक फेमस इंग्रिडिएंट है, जिसमें चाय और एल्कोहॉल से लेकर सॉस, सलाद और डेजर्ट भी शामिल हैं।

प्याज

कच्चे प्याज में कैलोरी बहुत कम होती है, केवल 40 कैलोरी प्रति 100 gm। प्याज में 89% पानी, 9% कार्ब और 1.7% फाइबर होते हैं, जिनमें थोड़ी मात्रा में प्रोटीन और फैट भी होता है। प्याज को खाने से शरीर में पानी की मात्रा बढ़ती है और इसकी तासीर ठंडी होने से आपका शरीर भी ठंडा रहता है इसलिए लू से बचने के लिए प्याज का सेवन भी करना चाहिए। प्याज एंटीऑक्सिडेंट और सल्फर युक्त यौगिकों में हाई होता है।

तरल पदार्थों का ज़्यादा प्रयोग करें

पानी जो कर सकता है वो कोई चीज नहीं कर सकती, ये बात रिसर्च से साबित हो चुकी है। गर्मी लगने का कारण ही शरीर में पानी और नमक की कमी होती है। इसके लिए जरूरी है कि आप पानी और नमक का सही बैलेंस अपनी बॉडी में बनाए रखें।
लू या गर्मी से बचने के लिए आपको अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। धूप में निकलने से पहले पानी पिएं, लेकिन याद रखें बाहर जाने से पहले ज़्यादा ठंडा पानी पीना खतरनाक हो सकता है, क्योंकि ऐसे में आपको ठंडा गर्म हो सकता है।

गर्मियों में नींबू पानी से बेहतर जूस कोई नहीं, हालांकि गर्मियों में संतरे या मौसमी जैसे फलों या सब्जियों के जूस भी ले सकते हैं। गर्मी के मौसम में शरीर को पानी की ज़्यादा जरूरत होती है इसलिए पेय पदार्थों का अधिक सेवन करना चाहिए ताकि शरीर को पर्याप्त पानी मिल सके।

गर्मियों में क्या नहीं करना चाहिए ?

गर्मी में डाइट ऐसी होनी चाहिए जिसे पचाने में आंतों को ज़्यादा मेहनत न करनी पडे़। इस मौसम में भारी खाने से बचें, क्योंकि यह सुस्ती पैदा करता है। पूड़ी, परांठा, जंक फूड जैसे पिज्जा, बर्गर को इस मौसम में नहीं खाना चाहिए , क्योंकि इनकी तासीर गर्म है। इसके अलावा आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक्स को नजर अंदाज करना अच्छा है। बहुत ठंडी चीज़ें शरीर को नुकसान पहुंचाती हैं, इसलिए इनसे बचें।