बॉलीवुड की फ़िल्में विलेन के किरदारों के बिना अधूरी हैं. भारतीय सिनेमा में 1960 से लेकर अब तक कई कलाकारों ने फिल्मों में खलनायक का किरदार अदा किया है. कई फिल्मों में तो नायकों ने भी नकरात्मक किरदार निभा कर प्रशंसा बटोरी है. यहाँ प्रस्तुत है, पर्दे पर खलनायिकी को शीर्ष पर ले जाने वाले 10 कलाकारों की सूची.

1 प्राण

प्राण बॉलीवुड में खलनायकों के बादशाह थे. उनके शानदार अभिनय और उनके अलग स्टाइल ने उनको खलनायकों का किंग बना दिया. उनकी खलनायक के किरदार में सबसे बेहतरीन फ़िल्में लव इन टोक्योपूरब और पश्चिमराम और श्यामजोनी मेरा नामदिल दिया दर्द लियाजिस देश में गंगा बहती है, ज़ंजीर आदि फिल्में थी. ज़ंजीर फिल्म में उन्होंने एक डायलॉग बोला था, ‘शेर खान आज का काम कल पर नहीं छोड़ता’, इस डायलॉग को आज भी याद किया जाता है. 12 जुलाई 2013 को खलनायकों के इस बादशाह की मृत्यु हो गई थी.

2 अमरीश पुरी

सर्वश्रेष्ठ खलनायक के किरदार के लिए तो अमरीश पुरी सबसे पहला नाम हैं. दमदार आवाज़ के साथ, अमरीश पुरी बॉलीवुड में अपने अच्छे नकरात्मक प्रदर्शन के लिए भी जाने जाते हैं. इनके खलनायक के किरदार के बिना फिल्म अधूरी मानी जाती थी. उन्होंने 400 के करीब फिल्मों में खलनायक का रोल अदा किया है. 12 जनवरी 2005 को अमरीश पुरी हमेशा के लिए दुनिया को अलविदा कर गए थे. आज भले ही वह हम सब के बीच नहीं हैं, पर फिल्‍म मिस्‍टर इंडिया का सबसे मशहूर डायलॉग ‘मुग़ैम्बो खुश हुआ’ को कौन भूल सकता है. फिल्‍म दामिनी में वकील चड्ढा और फिल्‍म घायल में बलवंत राय के किरदार को भी कोई भूल नहीं पाया है.

3 अमजद खान

अमजद खान को ‘द गब्बर सिंह ऑफ़ बॉलीवुड’ भी कहा जाता है, उन्होंने बॉलीवुड की मशहूर फिल्म ‘शोले’ में ‘गब्बर’ का किरदार निभाया था. शोले फिल्म, अमजद खान की पहली फिल्म थी, जिनमें उन्होंने नकरात्मक किरदार निभाया था. इसके अलावा उन्होंने सुहाग, मिस्टर नटवरलाल और हिम्मत वाला जैसी सफल फिल्मों में नकरात्मक किरदार निभाए. 27 जुलाई 1992 को उनका निधन हो गया था.

4 प्रेम चोपड़ा

हम प्रेम चोपड़ा को कैसे भूल सकते हैं, प्रेम चोपड़ा भारतीय फिल्मों के एक सफल विलेन हैं. वह अपनी शरीर की भाषा और डायलॉग बोलने के स्टाइल के लिए मशहूर हैं. फिल्म बॉबी का उनका डायलाग ‘प्रेम नाम है मेरा’ सबसे मशहूर डायलॉग है.

5 डैनी

डैनी बॉलीवुड के स्टाइलिश विलेन हैं. उनके द्वारा की गई फ़िल्में ‘घातक’ में कात्या, ‘क्रांतिवीर’ में चतुर सिंह चीता और ‘अग्निपथ’ में कांचा चीना के किरदार बेहतरीन किरदारों में से एक थे. उनका सबसे मशहूर डायलॉग ‘दुश्मन से अगर फायदा हो तो उसे अपना दोस्त बना लो’ है. उन्होंने करीब 190 फिल्‍मों में काम किया है. पहली बार विलेन का किरदार उन्होंने फिल्म ‘धुंध’ में निभाया था.

6 परेश रावल

आज के टाइम परेश रावल फिल्मों में अधिकतर हास्य किरदार निभाते हैं, लेकिन पहले उन्होंने 90 के दशक की फिल्मों में विलेन के किरदार निभा कर दर्शकों का दिल जीता था. उनकी मशहूर फ़िल्में, जिनमें उन्होंने नकरात्मक किरदार निभाया था, वह हैं राम लखन, स्वर्ग, दामिनी, दिलवालेअंदाज अपना अपना और क्रोध.

7शक्ति कपूर

मुझे नहीं लगता कि आपको शक्ति कपूर के बारे में परिचय देने की जरूरत है. शक्ति कपूर बॉलीवुड का सबसे बड़ा बहुमुखी अभिनेता है. इनका फिल्म ‘अंदाज अपना अपना‘ में ‘मास्टर गोगो‘ का किरदार बहुत मशहूर हुआ था. शक्ति कपूर द्वारा विलेन के किरदार में कुछ सफल फ़िल्में: पांच कैदी, प्यार का मंदिर, चालबाज, आँखें, मैं खिलाड़ी और तू अनाड़ी आदि हैं, जिसमें उन्होंने बेजोड़ विलेन का किरदार निभाया था.

8 गुलशन ग्रोवर

बॉलीवुड के बैड मैन कहलाने वाले गुलशन ग्रोवर, तो जैसे नकरात्मक किरदार के लिए ही पैदा हुए हैं. उनकी सबसे मशहूर फ़िल्में, जिनमें उन्होंने नकरात्मक किरदार निभाया है, वह हैं राम लखन, मोहरा, हेराफेरी, 16 दिसम्बर, क्रिमिनल और खिलाडियों का खिलाड़ी हैं. उन्होंने बॉलीवुड के साथ-साथ हॉलीवुड की फिल्मो में भी काम किया है. फिल्‍मी पर्दे पर आते ही उनके चेहरे पर खलनायक वाली हंसी उन्‍हें और भी डेंजर विलेन बनाती है, लेकिन वह असल ज़िंदगी में बहुत नरम स्वभाव के हैं.

9 अनुपम खेर

अनुपम खेर विलेन के किरदार में पहले ‘सारांश‘ फिल्म से मशहूर हुए और उन्होंने इसी तरह के कई किरदार अपनी बहुत फिल्मों में निभाए. उनका फिल्म कर्मा में ‘डॉक्टर डैंग‘ का किरदार भला कौन भूल सकता है. उन्होंने अपना सफल विलेन किरदार कर्मा, रूप की रानी चोरों का राजा और सारांश में निभाया था. उन्‍होंने हॉलीवुड की फिल्‍मों में भी काम किया है.

10नसीरुद्दीन शाह

नसीरुद्दीन शाह ने अपने समय में बेहतरीन नकरात्मक किरदार अदा किए हैं. नसीरुद्दीन शाह ने ‘सरफरोश‘, ‘मोहरा‘, ‘द डर्टी पिक्चर‘ जैसी सफल फिल्मों में महत्वपूर्ण किरदार अदा किए. उन्होंने अपने करियर में अपने किरदारों के लिए बहुत से पुरुस्कार जीते हैं.