त्वचा से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी

1853

त्वचा से जुड़ी कुछ रोचक जानकारी

  • त्वचा वास्तव में हमारे शरीर का सबसे बड़ा अंग है l
  • त्वचा हमारे शरीर की रक्षा के लिए बेहद जरूरी होती है, जो हमारे शरीर के ऊपर एक परत होती है। एक औसत वयस्क की त्वचा का फैलाव लगभग 21 वर्ग फुट होता है और इसका वजन 9 पाउंड यानी चार किलो के आसपास हो सकता है l शरीर की रक्तवाहिनियों की लंबाई करीब 18 किलोमीटर तक होती है।
  • बच्चे की त्वचा का असली रंग उसके जन्म के 6 महीने बाद पता चलता है।
  • हमारे शरीर में सबसे पतली चमड़ी हमारी आंखो की होती है, 0.2 से 0.5mm तक।
  • जो व्यक्ति एक दिन में 10 या इससे ज्यादा सिगरेट पीता है उसके माथे पर अधिक गहरी लाइनें नजर आने लगती है।
  • गर्मी के दौरान एक दिन में शरीर से तीन गैलन यानी करीब 11 लिटर तक पसीना बह जाता है। परन्तु कुछ भाग ऐसे होते है, जिन भागो में पसीना नहीं आता वे है नाखूनों के अस्तर, होंठ, जननांग के सिरे और कान के पर्दे।
  • पेट के बल सोने से हमारे माथे पर और साइड में करके सोने पर हमारी ठोढ़ी और गालों पर झुर्रियाँ पड़ती है।
  • स्तन एपोक्राइन पसीने की ग्रंथि का एक संशोधित रूप हैं।
  • त्वचा में कम से कम पांच प्रकार के रिसेप्टर्स होते हैं जो दर्द और स्पर्श करने के लिए प्रतिक्रिया करते हैं।
  • सेब का तेल त्वचा के लिए बहुत ही लाभदायक है, यह स्किन पर पड़ी झुर्रियां, टूटी त्वचा, खुजली और सूजन को दूर करता है
  • त्वचा का गोरा रंग 20,000 से 50,000 साल पहले ही होना शुरू हुआ हैं, इससे पहले सभी इंसान काले रंग के होती थीं।
  • 25 साल की उम्र होने के बाद त्वचा में झुर्रियाँ पड़नी शुरू होती है। इसमें ग्रेविटी का बहुत बड़ा हाथ है।
  •  विटामिन (C) सी सूर्य की Ultraviolet से हमारी स्किन की रक्षा करती है।
  • हमारी त्वचा की परत्त हर 28 दिन में एक बार और पूरे जीवनकाल में लगभग 900 बार बदलती है l
  • आपके घरों में मौजूद धूल के 50 % कण आपकी त्वचा के ही होते हैं l आपकी त्वचा से हर मिनट 30,000 कोशिका झड़ती रहेती है l
  • जब हमारा ह्रदय काम करना बंद कर देता है तो त्वचा का रंग सफेद या बैंगनी हो जाता हैं l
  • हमारी त्वचा में 5 तरह के रिसेप्टर्स होते है जो दर्द से लेकर छूने तक की सारी जानकारी दिमाग को देता है l
  • त्वचा पर होने वाली गंध का कारण भोजन और फैटी यौगिकों को पचाने में इस्तेमाल हो रहे बैक्टीरिया के कारण आती है l
  • हर व्यक्ति की उंगलियों के निशान एक-दूसरे से अलग होते हैं लेकिन क्या आप जानतें हैं कि भ्रूण में तीन महीने के गर्भ तक उंगलियों के निशान विकसित नहीं होते है l
  • हमारे शरीर में सबसे मोटी चमड़ी हमारे तलवों की होती है, जोकि 4mm तक होती है।