जानिए देश-विदेश की उन राजकुमारियों के बारे में जिन्होंने शाही जिंदगी छोड़ थाम लिया आम आदमी का दामन

265

कहते हैं प्यार अंधा होता है लेकिन प्यार में पड़ना भी एक शानदार अनुभव होता है, जिसे हम में से बहुत से लोग महसूस करते हैं। यह व्यक्ति को ख़ुशी और गम दोनों देता हैं। दुनिया में बहुत से ऐसे लोग है जिन्होंने प्यार के लिए बहुत कुछ कुर्बान किया है। आज की हमारी इस पोस्ट में हम आपको देश-विदेश की उन राजकुमारियों में बताने जा रहे हैं जिन्होंने प्यार की खातिर सब कुछ छोड़ दिया। तो चलिए जानते हैं:-

माको

हाल ही में जापान की राजकुमारी माको ने शाही परिवार से बाहर के एक आम इंसान कोमुर से शादी से करने का फैसला किया। माको जापान के मौजूदा राजा नारूहितों के भाई राजकुमार आकिशिनो की बेटी हैं।

- Advertisement -

माको कोमुर से शादी करने का फैसला किया है। इसके लिए उन्होंने शाही परिवार से मिलने वाली भारी भरकम दौलत भी ठुकरा दी। अक्टूबर में होने वाली इस शादी के लिए उनका बॉयफ्रेंड अमेरिका से लौट भी आया है।

दीया कुमारी

जयपुर के पूर्व महाराज सवाई भवानी सिंह व पद्मिनी देवी की इकलौती संतान थी दीया कुमारी। दीया कुमारी और एक आम आदमी नरेंद्र की पहली मुलाकात 1989 में हुई थी। उस वक्त वह महज 18 साल की थीं।

तब नरेंद्र ग्रेजुएशन के बाद चार्टर्ड अकाउंटेंट बनने की तैयारी कर रहे थे। एक बार वह महल में आए तभी दीया की मुलाकात नरेंद्र से हुई थी।

हालांकि, समान गोत्र होने के नाते दोनों की शादी को लेकर राजपूत समाज ने नाराजगी जताई थी, मगर दोनों ने अगस्त 1997 में कोर्ट में गुपचुप शादी कर ली थी।

इसके बाद काफी हंगामा हुआ था और दीया कुमारी का राजघराने से रिश्ता भी खत्म हो गया था। दोनों के दो बच्चे हैं। हालांकि, शादी के 21 साल बाद दोनों ने पारिवारिक वजहों से अलग होने का फैसला ले लिया था।

महारानी विक्टोरिया

बात 1887 की है जब इंग्लैंड में महारानी विक्टोरिया का राज था। उनकी जिंदगी में कोई अंग्रेज नहीं, एक भारतीय आया था, जो अंग्रेजों को बड़ा नागवार गुजरा। भारत में आगरा के रहने वाले मुंशी अब्दुल करीम और महारानी की रिलेशनशिप का जिक्र काफी चर्चा में रहा था।

ब्रिटेन की एक लेखिका शरबनी बसु ने अपनी किताब ‘विक्टोरिया एंड अब्दुल’ में महारानी और ‘खूबसूरत, लंबे भारतीय नौजवान करीम’ के करीबी रिश्ते के बारे में लिखा है। उस वक्त 24 साल के करीम को महारानी के लिए आगरा से इंग्लैंड एक तोहफे के तौर पर भेजा गया था।

उन्हें महारानी को उर्दू सिखाने का काम मिला था। बस यहीं से दोनों करीब आ गए। दोनों का साथ 15 साल तक रहा। हालांकि, दोनों के बीच के संबंध कभी खुलकर सामने नहीं आए। मगर एक महारानी ने अपने नौकर के लिए खत लिखे और तब यह काफी बड़ी बात थी।

दोनों के रिश्ते पर हॉलीवुड में एक फिल्म- ‘विक्टोरिया एंड अब्दुल’ भी बनी है। महारानी की मौत के बाद किंग एडवर्ड ने करीम को भारत भेज दिया और दोनों के बीच लिखे गए खतों को नष्ट करने का आदेश दिया। 1909 में करीम की भी मौत हो गई।

स्वीडन की प्रिंसेस विक्टोरिया

स्वीडन की राजकुमारी विक्टोरिया को एक जिम मालिक और ट्रेनर डेनियल वेस्टिलंग से प्यार हुआ और वह उसे अपना दिल दे बैठीं।

उनकी यह मुलाकात 2001 में उस समय हुई, जब वह जिम ट्रेनिंग के लिए डेनियल के जिम में गई थीं और वहीं से उनका प्यार का सिलसिला शुरू हुआ। दोनों ने जून, 2010 में शादी कर ली और उनके दो बच्चे हैं।

प्रिंसेस मैडलिन

यह बात है 2013 से पहले की, जब एक ब्रिटिश फाइनेंसर क्रिस्टोफर नील पर स्वीडन की राजकुमारी मैडलिन का दिल आ गया। अमेरिका के न्यूयॉर्क सिटी में ज्यादातर समय बिताने वाले नील उस वक्त वॉल स्ट्रीट में काम करते थे।

शेयर बाजार की बारीकियों को समझने की खूबी ने कब मैडलीन की धड़कनों के गणित को नाप लिया पता ही नहीं चला। दोस्ती और फिर प्यार के रास्ते पर चलते हुए दोनों ने 2013 में शादी कर ली।

युगाडा की राजकुमारी रूथ कामुटल

अफ्रीकी देश युगांडा की राजकुमारी रूथ कोमुंटेल की अमेरिका के मिसौरी के रहने वाले क्रिस्टोफर थॉमस से वाशिंगटन में मुलाकात हुई। वे दोनों अमेरिकन यूनिवर्सिटी में मिले थे। क्रिस्टोफर मैरीलैंड में एक अकाउंटेंट थे।

यहीं से दोनों की दोस्ती प्यार में बदल गई। अरसे तक क्रिस्टोफर को यह नहीं पता था कि रूथ एक राजकुमारी हैं। दोनों ने 2012 में शादी कर ली। हालांकि, अगले ही साल यानी 2013 में ही दोनों की शादी टूट गई।

डचेस ऑफ अल्बा कायेताना

स्पेन की डचेस ऑफ अल्बा कायेताना अपने समकालीनों से काफी आगे थीं। उन्होंने 2011 में नौकरशाह अलफांसो डियाज से शादी रचा ली थी। उस वक्त महारानी की उम्र 85 साल की थी, और डियाज 60 साल के थे। इस शादी ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं।

रानी भारी भरकम उपाधियां धारण करने में यकीन रखती थीं। हालांकि, शादी के तीन साल बाद ही यानी 2014 में उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। मगर, जाते-जाते रानी ने डियाज को अपनी कुल संपत्ति में पांच बिलियन डॉलर देने का ऐलान कर दिया था।

यह भी पढ़ें :-