Home OMG!! गुरूग्राम का एम.जी. रोड़ जहाँ सफ़ेद साड़ी में चुड़ैल गाड़ी के पीछे...

गुरूग्राम का एम.जी. रोड़ जहाँ सफ़ेद साड़ी में चुड़ैल गाड़ी के पीछे भागती है!!

0
9044

गुड़गांव शहर का एम.जी. रोड़, गुड़गांव का सबसे सुनसान और भयावह रोड है। इस सड़क पर बहुत से लोगों ने सफेद साड़ी पहने औरत को देखा है, जो कि दिखने में बहुत डरावनी है।

माना जाता है की इंसान की अकाल मौत होने की वजह से उसका भूत बन जाता है. या फिर इंसान की कोई ख्वाहिश पूरी ना हुई हो तब भी उसका भुतहा साया दिखाई देता है। ऐसा ही एक भूत गुरुग्राम के एमजी रोड में लोगों को अक्सर मिलता है।

इस सड़क पर ड्राइव करने वाले लोगों का मानना है कि उन्होंने ने भी कई बार इस सड़क पर सफेद साड़ी पहने औरत को देखा है, जो गाड़ियों के साथ-साथ भागती है। उसकी जीभ बांह जितनी लंबी और बाहर की तरफ उबली हुई आँखें हैं। कहते हैं कि इस औरत की मौत कुछ साल पहले इसी एरिया में हुई थी।

एम.जी. रोड़ पर भूत

एम.जी. रोड़ पर हॉरर एनकाउंटर

मंजय नाम का कैब ड्राइवर दिल्ली-गुड़गांव सड़क पर कैब चलाता है। एक रात वह एक यात्री को गुड़गांव साइबर सिटी छोड़ कर वापस आ रहा था। एम.जी सड़क पर ड्राइव करते हुए रात के 12 बजे उसे सड़क के किनारे एक सफेद साड़ी पहने औरत दिखाई दी। पहली नज़र में मंजय ने इसे नज़रअंदाज कर दिया।

लेकिन उसके पसीने तब छूटने लगे जब उसने कार के साइड मिरर में उस औरत को गाड़ी का पीछा करते हुए देखा। मंजय ने तेजी से गाड़ी दौड़ाई। इस बार जब मंजय ने फिर साइड मिरर में देखा तो उसकी जान में जान आई, क्योंकि वह औरत पीछा छोड़ चुकी थी, साइड मिरर में कोई नजर नहीं आ रहा था।

मंजय यह समझ नहीं पा रहा था की इतनी रात को भला सुनसान सड़क पर कौन औरत होगी, वो भी सफ़ेद साडी में। मंजय ने जैसे तैसे हनुमान जी का नाम लेकर एक-दो मिनट और गाड़ी चलाई ही थी, कि वो औरत अचानक उसकी कार के आगे आ गयी।

आखिर इतनी तेज गाड़ी चलाने के बाद भी वो सामने कैसे आ गयी? इसी असमंजसम में फंसे मंजय ने इस बार कार के फ्रंट डैक पर रखी हनुमान जी की छोटी मूर्ति को हाथ में लिया और बेहद तेज रफ्तार से गाड़ी चलाता रहा। वह औरत कैसे उसकी गाड़ी से आर-पार हो गई, वह यह समझ ही नहीं पाया और ना ही वह समझना चाहता था।

यह भी पढ़ें :

भानगढ़ का किला जहां शाम ढलते ही जाग उठती हैं आत्माएं

जानिए राजस्थान के सोनार किले की कुछ रहस्यमई बातें

 

NO COMMENTS

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

RSS18
Follow by Email
Facebook0
X (Twitter)21
Pinterest
LinkedIn
Share
Instagram20
WhatsApp