कंप्यूटर की C Language के बारे में रोचक तथ्य

C Languageसी लैंग्वेज (C Language) एक सामान्य उद्देश्य, उच्च स्तरीय कम्प्यूटर भाषा (Computer Language) है जिसे मूल रूप से डेनिस एम रिची ने बेल लैब्स(Bell Labs) में यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम (UNIX Operating System) विकसित करने के लिए विकसित किया गया था। सी मूल रूप से पहली बार डीईसी पीडीपी-11 कंप्यूटर पर सन 1972 में चलाई गयी थी।

सन 1978 में, ब्रायन कर्निघान और डेनिस रिची ने C Language के पहले विवरण को सार्वजनिक रूप से उपलब्ध किया, जिसे अब के एंड आर मानक (K&R Standard) के नाम से जाना जाता है।

यूनिक्स ऑपरेटिंग सिस्टम, सी कंपाइलर, और सभी यूनिक्स एप्लीकेशन प्रोग्राम्स C लैंग्वेज में लिखे गए हैं. C लैंग्वेज अब निम्नलिखित कारणों से व्यापक रूप से उपयोग की जाने वाली व्यावसायिक भाषा बन गयी है.

  • सीखने में आसान
  • संरचित लैंग्वेज(Structured Language)
  • C Language में  कार्य-कुशल (Efficient) और उपयोगी प्रोग्राम्स और सॉफ्टवेयर बनाये जा सकते हैं
  • यह गहन स्तर की गतिविधियों को परफॉर्म कर सकती है
  • C को विभिन्न कंप्यूटर प्लेटफार्मों पर संकलित (Compile) किया जा सकता है

C Language के बारे में रोचक तथ्य

  • C Language का आविष्कार UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम बनाने के लिए किया गया था।
  • C Language, B Language की उत्तराधिकारी भाषा है. B को 1970 के दशक के शुरू में ईजाद किया गया था।
  • 1988 में अमेरिकन नेशनल स्टैंडर्ड इंस्टीट्यूट (एएनएसआई) ने भाषा को औपचारिक रूप दिया था।
  • UNIX ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी तरह से C लैंग्वेज में लिखा गया है।
  • आज C Language सबसे व्यापक रूप से उपयोग और सबसे लोकप्रिय सिस्टम प्रोग्रामिंग भाषा (System Programming Language) है।
  • अधिकांश अत्याधुनिक (state-of-the-art) सॉफ्टवेयर C का प्रयोग करके बनाये गए हैं।
  • आज के दौर के सबसे लोकप्रिय लिनक्स ओएस(Linux OS) और आरडीबीएमएस माईएसक्यूएल(RDMS MySQL) को सी में लिखा गया है।

Comments