मधुमक्खी के जीवन की पहले 21 दिन की प्रक्रिया सिर्फ 60 सेकंड में!

मधुमक्खीयां  फूलों का रस चूसकर शहद एकत्र करती है। दस हजार से पचास हजार तक मधुमक्खियाँ एक साथ एक घर बनाकर रहती है जिसे छत्ता कहते हैं।

इस छत्ते में मक्खियों के लिए अलग-अलग बहुत से छोटे छोटे घर बने होते हैं। प्रत्येक छत्ते में तीन प्रकार की मधुमक्खियाँ होती हैं ।

एक तो मादा मक्खी होती है जो ‘रानी’ कहलाती है। इसका काम केवल गर्भ धारण करके अंडे देना होता है।  यह दिन में प्रायः दो हजार अड़े देती है। प्रत्येक छत्ते में ऐसी एक ही मक्खी होती है । साधारण मक्खियों की अपेक्षा यह कुछ बड़ी भी होती है ।

दूसरी जाति नर मक्खियों की होती है, जिनका काम रानी को गर्भ धारण कराना होता है, और तीसरे वर्ग मे वे साधारण मक्खियाँ होती हैं जो फलों का रस पी पीकर आती हैं और उन्हें शहद या मधु के रूप में छत्तो में जमा करती हैं ।

आज हम इस पोस्ट में एक वीडियो दिखाने जा रहे हैं, जिसमें मधुमक्खी के जीवन की पहले 21 दिन की प्रक्रिया को फिल्माया गया:-

इस वीडियो में मधुमक्खी के जीवन के पहले 21 दिनों की प्रक्रिया को फिल्माया गया है। इस शानदार और प्रेरणादायक वीडियो को फोटोग्राफर आनंद वर्मा द्वारा फिल्माया गया था।

मधुमक्खियां दुनिया में पैदा की जाने वाली एक तिहाई फसलों पर अपने पराग का छिडकाव करती हैं, लेकिन मधुमक्खियों का सबसे बड़ा दुश्मन वर्रोया नाशक घुन होता है।

पेशेवर फोटोग्राफर वर्मा को मधुमक्खी के जन्म के पहले 21 दिनों को फिल्माने के लिए बुलाया गया था। इससे पहले वैज्ञानिकों ने घुन-प्रतिरोधी मधुमक्खी की प्रजनन प्रक्रिया को भी फिल्माया था, इस घुन-प्रतिरोधी मधुमक्खी में अपने अंदर शहद जमा करने की क्षमता नहीं होती और इस किस्म की मधुमक्खियों में नम्रता का भी आभाव होता है।

यह भी पढ़ें :-

क्या आप जानते हैं मधुमक्खियों से जुड़े ये 30 फैक्ट्स!! 

शहद और नींबू से होने वाले स्वास्थ्य लाभ