क्या आप ने कभी उड़ने वाला छाता देखा है? या फिर हम ऐसा फिल्मों और कहानियों में देखते है। लेकिन ये उड़ने वाला छाता सच में बनाया गया है। आइए जानते है ऐसे छाते के बारे में:

जापान की एक आईटी कंपनी ने उड़ने वाला छाता विकसित किया है। जो कि ड्रोन की मदद से उड़ सकता है। इसकी खास बात यह है कि बारिश में व्यक्ति को इसे पकड़कर चलना नहीं होता है। सेंसर लगा होने के कारण यह व्यक्ति के आसपास ही घूमता रहता है।

इसका वजन 5 किलोग्राम है, जो फिलहाल 5 मिनट तक उड़ सकता है। लिहाजा दोनों हाथों में सामान पकड़े होने की स्थिति में यह छाता काफी काम का हो सकता है। जापान में सिविल एयरोनॉटिक्स के नियमों के मुताबिक, ड्रोन को सार्वजनिक स्थानों पर मौजूद व्यक्ति या बिल्डिंग से करीब 30 मीटर की दूरी पर होना चाहिए।

शुरुआत में इस उड़ने वाले छाते का इस्तेमाल निजी जगहों पर हो सकता है। कंपनी का लक्ष्य है कि 2020 में होने ओलिंपिक और पैरालिंपिक से पहले यह  व्यावहारिक उपयोग में लाया जा सके। दूरसंचार प्रणाली विकसित करने वाली कंपनी आशी पावर इस नमूने पर काफी समय से काम कर रही है। इस प्रोटोटाइप में अभी दिक्कतें हैं।

वजन ज्यादा होने के कारण यह देर तक उड़ नहीं पाता। अगर व्यक्ति धीरे नहीं चलता है, तो यह अपने आप उसके पीछे नहीं चल पाता है। जाल से बने होने के कारण बारिश होने पर अभी इससे बचाव होना भी मुश्किल है। कंपनी के प्रेसिडेंट केंजी सुजुकी ने बताया कि इस तरह का छाता बनाने का प्लान उन्होंने 3 साल पहले बनाया था।

उनका मानना था कि ऐसा छाता होना चाहिए कि दोनों हाथ व्यस्त होने के बावजूद भी उसका इस्तेमाल किया जा सके। प्रेसिडेंट केंजी सुजुकी ने कहा कि फिलहाल तो नियामक कानूनों की वजह से इस छाते को बाजार में उतारने में कुछ परेशानियां हैं। मगर, हमें उम्मीद है कि एक दिन सड़कों पर यह छाता दिखना आम बात हो जाएगी।

Read in English:-

Have you ever seen a flying Umbrella

Read more:

वैज्ञानिकों को क्यों हैरान करता है इंसान का शरीर?