अजीबोगरीब शौक वाले भारतीय राजे, महाराजे!

3377

आज़ादी से पहले राजाओं और महाराजाओं का राज होता था। भारत में राजशाही ख़त्म हुए अरसा हो गया, पर आज भी कई जगहों पर उनके जो महल खड़े है, वो राजसी ठाट बाट के गवाह है।

बहुत से राजा और महाराजा अपने शौक के लिए प्रसिद्ध रहे हैं। भारतीय इतिहास जितना गौरवशाली राजाओं से भरा हुआ है, उतने ही उनके अजीबोगरीब किस्से मशहूर हैं। उनके किस्से आप सभी ने पढ़े और सुने होगें।

आईये जानते है भारतीय राजाओं के अजीबोगरीब किस्सों के बारें में:

महाराजा जगजीत सिंह

महाराजा जगजीत सिंह, कपूरथला के महाराज थे। महाराज जगजीत सिंह के शौक भी काफी अलग थे। वह लक्ज़री ब्रांड लुइ विटन के सबसे बड़े ग्राहक थे।

Louis Viutton ब्रांड एक ऐसा ब्रांड था जो साल 1854 में लुई विटन ने बनाया था। लुई विटन का मोनोग्राम एलवी(LV) काफी प्रसिद्ध लोगो है। यह ब्रांड दुनिया के 50 देशों में अपनी पैठ बनाए हुए है। जो ट्रंक्स, लेदर गुड्स, जूते, घड़ियां, ज्वैलरी, सनग्लासेस, और किताबें जैसी चीजे बनाता है।

कपूरथला के महाराज जगतजीत सिंह हर जगह अपने साथ लुई विटन ब्रांड से भरे सामान के बक्से हर जगह अपने साथ लेकर चलते थे। उनके पास करीब 60 बड़े लुइ विटन के शानदार बक्से थे। यात्रा के बेहद शौकीन महाराज जगजीत सिंह हर जगह अपने साथ इन बक्‍सों को ले जाते थे।

महाराजा महाबत खान रसूल खान

जूनागढ़ के यह राजा अपने अनोखे शौक के लिए प्रसिद्ध रहे हैं। उनको कुत्ते पालने का एक अनोखा शौक था। इस महाराज के पास करीब 800 कुत्ते थे। हर कुत्ते की सेवा में एक-एक सेवक हुआ करता था। इन कुत्तों का इलाज ब्रिटिश सर्जन से होता था। वह इन कुत्तों की शादी करवाने का शौक भी रखते थे। उस समय इस अनोखी शादी में करीब 22,000 रूपए खर्च होते थे, जो वर्तमान में करीब 2.25 करोड़ रूपए के बराबर हैं। साथ ही जिस दिन शादी होती थी, उस दिन राज्य में छुट्टी होती थी। किसी एक कुत्‍ते के मरने पर एक दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया जाता था।

महाराजा निज़ाम मीर उस्मान अली खां

हैदराबाद के महाराज निज़ाम मीर उस्मान अली खां के शौक भी कम नहीं थे। इन्‍हें कीमती जवाहरातों का बड़ा शौक था। दुनिया के पांचवें सबसे बड़े 184.97 कैरट के जैकब हीरों को एक पेपर वेट की तरह ये प्रयोग करते थे। इनके न रहने के बाद ये हीरें भारत सरकार के खजाने में जमा हो गए। हीरों के शौक की वजह से ही उनका करीब 2 बिलियन डॉलर खजाना था।

महाराजा जय सिंह

अलवर के महाराजा जय सिंह प्रभाकर लंदन की सड़को पर घुमने के लिए निकले थे, इस बीच उनकी नजर रोल्स रॉयस के शोरुम पर पड़ी जहां वे अंदर चले गए। राजा जय सिंह शोरुम के अंदर जहां उन्होंने सेल्समेन (Salesman) से वहां रखी रोल्स रॉयस की गाड़ी और उसकी कीमत के बारे में पुछा।

सेल्समेन ने राजा जय सिंह का खुब मजाक उड़ाया और उन्हें धक्के मारकर शोरुम से बाहर निकाल दिया। जय सिंह अपने साथ हुए इस अपमान को सहन ना कर सके.

महाराज जय सिंह ने कार कंपनी से बदला लेने के लिए कारें खरीद कर उनकी छतें निकलवा कर उन्हें कूड़ा उठाने के लिए लगा दिया था। बाद में कार कंपनी को उनसे माफ़ी मांग कर उन्हें मनाना पड़ा था।

महाराजा गंगा सिंह

बीकानेर के महाराज गंगा सिंह का अपनी जनता के प्रति प्रेम दर्शाने का तरीका काफी अलग था। इनके बारे में कहा जाता है कि वह गरीबों में सोना खूब बांटते थे। एक बार तो उन्‍होंने अपने वजन के बराबर सोना गरीबों को बांटा था।

Read More:

दुनिया की सबसे रोमांटिक जगह, टनल ऑफ़ लव!

Top 10 Most Beautiful Waterfalls In The World