हॉरर स्टोरी- कोलोराडो का भुतहा होटल

अमेरिका के कोलोराडो स्थित एस्तेस पार्क की ओर अधिकतर पर्यटकों को इसकी नैसर्गिक सुन्दरता ही खींच लाती है. यहाँ खूबसूरत पर्वत, भरा-पूरा वन्य जीवन तथा रॉकी माउंटेन नैशनल पार्क में तरह-तरह की आउटडोर एडवेंचर एक्टिविटीज हर वर्ष बड़ी संख्या में लोगो को आकर्षित करती हैं. परन्तु सूरज डूबने के साथ ही इस कस्बे की नैसर्गिक सुन्दरता और आकर्षण का स्थान रहस्यमयी शक्तियां ले लेती हैं.

the-stanley-hotel-colorado-hauntedकस्बे से कुछ ऊँचे स्थान पर स्थित एक पुराना रिजॉर्ट ‘द स्टैनले होटल‘ लगभग एक सौ साल पुराना है. अब यह होटल एक भुतहा होटल के रूप में दुनिया भर में विख्यात हो चुका है.

138 कमरों वाले इस होटल को साल 1909 में फ्रीलन. ऑस्कर. (Freelan Oscar Stanley) और फ्लोरा स्टैनले ने खोला था. कई लोग मानते हैं कि मरने के बाद वे दोनों या यूँ कहें कि उनकी आत्माएँ कभी भी इस होटल से नहीं गयीं. होटल के कर्मचारियों ने कई बार रात को उन्हें भुतहा अन्दांज में पियानो बजाते हुए सुना है. साथ ही होटल के हॉल में ऊँचे कॉलर वाली विक्टोरियन ड्रैस पहने व्यक्ति के भूत को घूमते कई बार देखा गया है.

माना जाता है कि इस होटल के मालिकों की आत्माओं के अलावा अब यहाँ काम करने वाले समर्पित (dedicated) कर्मचारियों की आत्माएँ भी घूमने लगी हैं. जैसे कि 1980 के दशक के एक इलैक्ट्रीशियन की आत्मा कंसर्ट हॉल की लाइट्स ओन-ऑफ करने के लिए कुख्यात है. वहीँ एक रात्रिकालीन गार्ड यानि पहरेदार की आवाज भी सुनाई देने का दावा किया गया है जोकि होटल में चोरी-छुपे घुसपैठ करने वाले को चेतावनी देता है.

किताब और फिल्म की प्रेरणा

यह होटल स्टीफन किंग(Stephen King) की मशहूर किताब द शाइनिंग(The Shining) के प्रेरणास्रोत  के रूप में जाना जाता है. किंग ने यह किताब इस होटल के कमरा न. 217 में ठहरने के बाद लिखी थी. सन 1980 में इस किताब पर इसी नाम की फिल्म भी बनी जो सुपरहिट रही थी.

रात्रिकालीन टूर

हानिरहित भूतों को लेकर इसकी लोकप्रियता के कारण अब इस होटल में रात्रिकालीन टूर भी आयोजित किये जाने लगे हैं जिनमें कंसर्ट हॉल तथा स्मोकिंग रूम्स में लोग आत्माओं से संपर्क स्थापित करने या उन्हें देखें की दिलेरी दिखा सकते हैं.

मिलते-जुलते लेख:

Comments