मिस्र में मिली 2 हज़ार साल पुरानी सोने की जीभ वाली ममी, जानें क्या है रहस्य

39

दुनियाभर में मिस्र अपनी पुरानी सभ्यता, पिरामिड और ममी के लिए प्रसिद्ध है, जिस वजह से बड़ी संख्या में लोग यहाँ पर आते हैं।

अब मिस्र के पुरातत्वविदों को एक नई ममी का पता चला है, जिसको देखकर सभी हैरान हैं। इस नई ममी की जीभ सोने की है जिसके बाद से मिस्र में अजीबो-गरीब कहानियों के बारे में चर्चा हो रही है।

मिस्त्र के प्राचीन इलाके तापोसिरिस मैग्ना में एक ममी मिली है, जो 2000 साल पुरानी है। मिस्त्र में इतनी पुरानी ममी मिलना कोई अनोखी बात नहीं है लेकिन इस ममी की खासियत है कि इसकी जीभ सोने की है।

ये ममी मिस्र के टोलमी साम्राज्य की चर्चित रानी क्लियोपैट्रा (Queen Cleopatra) की है। इस ममी को मिस्र के तापोसिरिस मैग्ना से निकाला गया।

तापोसिरिस मैग्ना (Taposiris Magna) में खनन के दौरान 16 कब्रें मिली हैं। इस खनन का काम डॉमिनिकन डॉमिनिकन रिपब्लिक की पुरातत्वविद कैथलीन मार्टीनेज कर रही हैं। इन ममी के चेहरों पर पत्थर के मास्क मिले हैं जो उन्हें दफनाने के वक्त उनके चेहरे पर पहनाए गए होंगे।

पुरानी परंपराओं के मुताबिक मिस्र में सोने की जीभ को मरने के बाद देवी-देवताओं से संवाद करने की एक अहम योग्यता के तौर पर देखा जाता था।

इन साइट्स से पहले रानी क्लियोपेट्रा -7 के चेहरे के सिक्के मिले थे और उनकी मूर्तियां भी बरामद हुई हैं। अन्य 15 कब्रों से जो भी चीजें निकल रही हैं, वो सभी कई पुराने खजाने सामने ला रही हैं।

यह भी पढ़ें :-