जानिए वर्ष 2020 के उन शीर्ष 10 क्षणों की सूची, जो हर भारतीय को गर्वित करते हैं

123

हालांकि वर्ष 2020 कठिन रहा है परन्तु भारतीय और भारतीय मूल के लोगों के लिए ऐसे कई क्षण थे जिन्होंने हमें किसी न किसी तरह से उनके साथ जुड़ने में गर्व महसूस कराया।

आइये जानते हैं वर्ष 2020 की कुछ ऐसी उपलब्धियों की सूची के बारे में जो प्रत्येक भारतीय को गर्वित करती है।

पहली महिला नेवी पायलट “सब लेफ्टिनेंट शिवांगी”

सब लेफ्टिनेंट शिवांगी भारतीय नौसेना के अभियानों में शामिल होने वाली पहली महिला पायलट बनीं। शिवांगी बिहार के मुजफ्फरपुर की रहने वाली हैं।

उन्होंने मुजफ्फरपुर के डीएवी पब्लिक स्कूल से पढ़ाई की है। 27 एनओसी कोर्स के तहत उन्होंने एसएसी (पायलट) परीक्षा पास की और नेवी में कमिशन हुईं।

शुरुआती ट्रेनिंग के बाद शिवांगी ने जून 2018 में ही नेवी जॉइन की है। पिछले साल जून में वाइस एडमिरल एके चावला द्वारा उन्हें औपचारिक रूप से कमीशन दिया गया था।

भारत सह-चैंपियन बना शतरंज ओलंपियाड 2020 का

भारत ने विश्व शतरंज ऑनलाइन ओलंपियाड जीतकर इतिहास रच दिया। हालांकि, भारत और रूस को इंटरनेट और सर्वर की खराबी के कारण 2020 ऑनलाइन शतरंज ओलंपियाड में संयुक्त विजेता घोषित किया गया।

फाइनल में भारत के दो खिलाड़ियों निहाल सरीन और दिव्या देशमुख के सर्वर के साथ कनेक्शन नहीं बन पाने से समय गंवाया, जिसके चलते पहले रूस को विजेता घोषित किया गया था।

भारत ने इस विवादास्पद फैसले पर विरोध व्यक्त किया जिसके बाद इसकी समीक्षा की गई। हालाँकि, इंटरनेट कनेक्शन के परिणामस्वरूप, दोनों खिलाड़ियों को एक कनेक्टिविटी समस्या का सामना करना पड़ा।

लेकिन भारतीय पक्ष द्वारा दर्ज शिकायत के बाद, अंतर्राष्ट्रीय शतरंज महासंघ ने भारत और रूस को स्वर्ण का संयुक्त विजेता घोषित किया।

सुमित नागल यूएस ओपन के दूसरे दौर में पहुंचे

भारतीय टेनिस स्टार सुमित नागल ने 1 सितंबर को इतिहास रच दिया क्योंकि वह 2013 के बाद से यूएस ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश करने वाले पहले भारतीय बन गए।

टूर्नामेंट में आगे खेलने के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के ब्रैडली क्लैन को 6-1, 6-3, 3-6, 6-1 से हराकर नागल ने ग्रैंड स्लैम के दूसरे दौर में प्रवेश किया।

इसके अलावा, 23 वर्षीय टेनिस खिलाड़ी पिछले सात वर्षों में एक ग्रैंड स्लैम में एकल मुख्य ड्रॉ मैच जीतने वाले पहले भारतीय बन गए हैं।

‘दिल्ली क्राइम’ ने एमी अवार्ड जीता

23 नवंबर, 2020 को आयोजित 48वें इंटरनेशनल एमी अवार्ड्स  में नेटफ्लिक्स की भारतीय सीरीज ‘दिल्ली क्राइम’  को बेस्ट ड्रामा सीरीज का अवार्ड मिला है ।

रिची मेहता द्वारा निर्देशित इस वेबसीरीज में एक्ट्रेस शेफाली शाह ने डिप्टी कमिशनर ऑफ पुलिस का किरदार निभाया है, जिसे 2012 में हुए दिल दहला देने वाले निर्भया गैंग रेप और हत्या के आरोपियों को खोजने का काम सौंपा जाता है l

एमी में शो की जीत देश के लिए ऐतिहासिक है। दिल्ली क्राइम के कलाकारों में शेफाली शाह, रसिका दुगल, यशस्विनी दयामा, आदिल हुसैन, राजेश तैलंग, जया भट्टाचार्य और डेन्ज़िल स्मिथ शामिल हैं।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में सबसे कम उम्र के कंप्यूटर प्रोग्रामर

अहमदाबाद के एक छह साल के लड़के ने दुनिया की सबसे कठिन प्रोग्रामिंग का खिताब हासिल किया है। कक्षा 2 के छात्र, अरहम ओम तल्सानिया ने गिनीज बुक ऑफ रिकॉर्ड में रैंक हासिल की है।

इस नन्हें प्रोग्रामिंग जीनियस ने Pearson VUE टेस्ट सेंटर में मिक्रोसॉफ़्ट सर्टिफिकेशन एग्जाम को भी क्रैक किया है। छह वर्षीय कोडर अरहम पायथन प्रोग्रामिंग भाषा में माहिर है।

छह साल के अरहम ओम तल्सानिया ने अपने पिता से कोडिंग सीखी और 2 साल की उम्र में टैबलेट और 3 साल की उम्र में आईओएस और विंडोज के साथ अन्य गैजेट्स का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।

कमला हैरिस अमेरिका की पहली अश्वेत महिला उपराष्ट्रपति बनी

भारतीय मूल की कमला हैरिस ने अमेरिका की पहली अश्वेत महिला उपराष्ट्रपति बनकर इतिहास रच दिया है। वो पहली ऐसी महिला हैं जो अमेरिका के उप-राष्ट्रपति पद पर आसीन होंगी।

यह भारत के लिए भी गर्व की बात है कि भारतीय मूल की एक महिला अमेरिकी उप-राष्ट्रपति का पद संभालेंगी।हैरिस का जन्म एक जमैका पिता और एक भारतीय माँ से हुआ था। उनकी माँ श्यामला गोपालन चेन्नई से थी और उनके पिता डोनाल्ड जे. हैरिस जमैका से थे।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दुनिया की सबसे बड़ी मसाला पेंटिंग

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) की एक और युवा छात्रा नेहा सिंह ने मसाले और प्राकृतिक रंगों के साथ बनाई गई सबसे बड़ी पेंटिंग का विश्व रिकॉर्ड बनाया है, जो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ है।

नेहा सिंह उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोटवारी गाँव की रहने वाली है। वह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में वैदिक विज्ञान की छात्रा हैं, उन्होंने उसी विश्वविद्यालय से ललित कला का भी अध्ययन किया है।

सचिन तेंदुलकर ने लॉरियस बेस्ट स्पोर्टिंग मोमेंट का पुरस्कार जीता

सचिन तेंदुलकर को बर्लिन में लॉरियस स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड 2000-2020 से सम्मानित किया गया। मुंबई में 2 अप्रैल 2011 को वर्ल्ड कप जीतने के बाद सचिन तेंदुलकर को उनके साथी खिलाड़ियों ने कंधों पर उठा लिया था। इसी ऐतिहासिक क्षण को पिछले 20 वर्षों में ‘लॉरियस बेस्ट स्पोर्ट मोमेंट’ माना गया।

इसी की वजह से सचिन तेंदुलकर को ये अवॉर्ड मिला है l भारतीय क्रिकेट टीम और खासकर सचिन तेंदुलकर के फैंस ने उनके समर्थन में वोट किए, जिससे सचिन इस अवॉर्ड को जीतने में सफल हुए।

बर्लिन में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव वॉ ने सचिन तेंदुलकर को लॉरियस स्पोर्टिंग मोमेंट अवॉर्ड 2000-2020 के विजेता बनने की घोषणा की और टेनिस दिग्गज बोरिस बेकर ने उनको ट्रॉफी सौंपी।

पृथ्वी के निकट क्षुद्रग्रह-HLV2514 की खोज

गुजरात के सूरत शहर के पीपी सवानी चैतन्य विद्या संकुल स्‍कूल में कक्षा 10 में पढ़ने वाली दो लड़कियों ने हाल ही में पृथ्वी के निकट क्षुद्रग्रह की उपस्थिति की दुर्लभ खोज की।

इन दो लड़कियों द्वारा ढूढ़े गए दुर्लभ क्षुद्रग्रह को अब नासा द्वारा HLV2514 का नाम दिया है। सूरत की ये दो लड़कियां वैदेही वेकारिया संजयभाई और राधिका लखानी प्रफुल्लभाई हैं।

“मैरीगोल्ड डायमंड रिंग” वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुई

उत्तर प्रदेश में मेरठ के एक ज्वेलर ने अब तक की सबसे ज्यादा हीरों वाली एक अंगूठी बनाकर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में जगह बनाई है l

‘द मैरीगोल्ड रिंग’ को रिंग ऑफ प्रॉस्पेरिटी’ के रूप में जाना जाता है, इस अंगूठी में कुल 12,638 प्राकृतिक हीरे हैं और इसे फूल के आकार में उकेरा गया है।

गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स का खिताब हासिल करना रेनी ज्वेल और हर्षित बंसल का सपना था और उन्हें हीरे की अंगूठी के लिए अंतरराष्ट्रीय पहचान मिलने की उम्मीद थी जो उन्होंने बनाई है।