दिवाली पर लक्ष्मी पूजा में जरूर शामिल करें ये खास चीजें!

598

हिन्दू पंचांग के अनुसार दीपावली का पर्व कार्तिक कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाया जाता है। दिवाली की रात मां लक्ष्मी की विशेष पूजा की जाती है।

दिवाली पर देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा में सभी चीजों का उपयोग किया जाता है। लेकिन दिवाली के खास मौके पर पूजा में कुछ खास चीजों को जरूर शामिल करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इससे मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं।

तो चलिए जानते हैं इस पोस्ट इस के माध्यम से कि वे कौन कौन सी चीज़े हैं जिनको दिवाली की पूजा में अवश्य रखना चाहिए, तो चलिए शुरू करते हैं :-

लक्ष्मी जी के पदचिन्ह

शास्त्रों के अनुसार मां लक्ष्मी सुख, समृद्धि, धन और ऐश्वर्य की देवी हैं। मां लक्ष्मी की कृपा से व्यक्ति धनवान और समृद्ध होता है और जीवन से धन की कमी हमेशा के लिए दूर हो जाती है।

मां लक्ष्मी की पूजा में उनके चरणों की पूजा की जाती है। ऐसे में दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी की पूजा में सोने, चांदी या धातु के बने पैर रखने चाहिए। यदि आप सोने-चांदी के बने पैरों के निशान नहीं रख सकते हैं तो कागज़ पर बने पैरों की पूजा करनी चाहिए।

दक्षिणावर्त शंख

देवी लक्ष्मी और भगवान विष्णु की पूजा में शंख का विशेष महत्व है। शंख के बिना मां लक्ष्मी की पूजा अधूरी मानी जाती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी की पूजा करने से दक्षिणमुखी शंख की पूजा करने से सुख – समृद्धि की प्राप्ति होती है।

माता लक्ष्मी और दक्षिणी शंख की उत्पत्ति समुद्र मंथन के समय हुई थी, इसी कारण दक्षिणी शंख को लक्ष्मी का भाई भी माना जाता है। ऐसे में दिवाली के दिन लक्ष्मी पूजा में शंख को सही दिशा में रखें।

श्री यंत्र

श्री यंत्र के बिना मां लक्ष्मी की पूजा अधूरी है। इसलिए दिवाली के दिन श्री यंत्र को मां लक्ष्मी की पूजा में जरूर शामिल करें।

खीर

दीवाली के दिन मां लक्ष्मी के भोग में खीर भी शामिल करें। खीर मां लक्ष्मी का प्रिय भोजन है। ऐसे में दिवाली पर मिठाइयों के अलावा घर में ड्राई फ्रूट्स से बनी खीर जरूर चढ़ाएं।

पूजा करना

माना जाता है कि जिस घर में सबसे ज्यादा साफ-सफाई होती है, वहां मां लक्ष्मी का वास होता है। दिवाली पर मां लक्ष्मी के स्वागत के लिए घर के मुख्य द्वार पर आम, पीपल और अशोक के नए कोमल पत्तों की माला लगाएं। मुख्य द्वार की पूजा से मां लक्ष्मी शीघ्र प्रसन्न होती हैं।

पीला कौड़ियां

पीली कौड़ियों को धन और देवी लक्ष्मी का प्रतीक माना जाता है। दिवाली पर देवी लक्ष्मी की पूजा के दौरान पीली कौड़ियों को जरूर शामिल करना चाहिए। पूजा के बाद इन कौड़ियों को तिजोरी में रख दिया जाता है।

पान के पत्ते

पान को हिंदू धर्म में पूजा और धार्मिक अनुष्ठानों में शामिल किया गया है। दिवाली के दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा में पान के पत्ते पर स्वस्तिक का चिह्न बनाएं।

गन्ना

मां लक्ष्मी की सवारी ऐरावत हाथी है, इसलिए मां लक्ष्मी को गजलक्ष्मी भी कहा जाता है। ऐरावत हाथी को गन्ना खाना बहुत पसंद है। इसलिए देवी लक्ष्मी की पूजा में गन्ने को जरूर शामिल करना चाहिए।

धनिया

बहुत से लोग धनिये के बीज खरीद कर घर पर रखते हैं। इसे सौभाग्य और समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। दिवाली के दिन लक्ष्मी इसे पूजा की थाली में रखती हैं।

कमल का फूल

माता लक्ष्मी हमेशा कमल के फूल पर विराजमान रहती हैं और उन्हें कमल के फूल बहुत प्रिय हैं। इसलिए दीपावली के दिन देवी लक्ष्मी की पूजा में कमल के फूल को अवश्य शामिल करें।

यह भी पढ़ें :-