जानिए सांता की सवारी ‘रेंडियर’ के बारे में 10 रोचक तथ्य !!

1431

रेंडियर या कैरिबू पृथ्वी से सुदूर-उत्तर के बर्फ़ीले आर्कटिक और उपार्कटिक इलाक़ों में मिलने वाली एक हिरण की नस्ल है। जब क्रिसमस की बात होती है तो सबसे पहले ध्यान में आता है रेंडियर, क्योंकि सांता की सवारी तो यही है न!

आज इस पोस्ट में हम आपको रेंडियर से जुड़े कुछ रोचक तथ्यों के बारे में बताने जा रहें चलिए जानतें हैं:-

रोचक तथ्य

  1. रेंडियर अमेरिका और कैनेडा में ‘कैरिबू’ नाम से प्रचलित है। बाकी स्थानों पर ‘रेंडियर‘ के नाम से जाना जाता है।
  2. इनके खुर (Hooves) गर्मियों में जब ज़मीन नर्म होती है, तब फैलते हैं और सर्दियों में ज़मीन सख्त होने पर सिकुड़ (Srink) जाते हैं।
  3. रेंडियर की नाक पूरी तरह से बालों से ढंकी होती है। इनकी नाक की विशेषता यह है कि ये हवा को फेफड़ों में जाने से पहले गर्म करती है।
  4. ये नाक से लेकर पैरों के नीचे तक बालों से ढंके होते हैं, जो जमी हुई ज़मीन और बर्फ पर चलते समय इनको अच्छी पकड़ देते हैं।
  5. फीमेल रेंडियर एक बार में ज़्यादातर एक ही बच्चे को जन्म देती है। जन्म के समय इनका वजन 3 से 9 किलो तक हो सकता है।
  6. हिरणों की सबसे छोटी प्रजाति दक्षिणी पुडु (Southern pudu) है। इसका वजन 9 किलो के आसपास होता है और पूरी तरह से विकसित होने पर यह लगभग 36 सेंटीमीटर तक लंबे होते हैं।
  7. हिरणों की सबसे बड़ी प्रजाति मूस या एल्क (Moose or Elk) है। इसकी लंबाई करीब 2 मीटर तक होती है और वजन लगभग 820 किलो तक हो सकता है।
  8. रेंडियर हिरण की ऐसी प्रजाति है जिसे पालतू बनाया जाता है। उनका अधिकतर इस्तेमाल बोझ उठाने, दूध, मीट आदि के लिए किया जाता है। साथ ही इनकी खालों (Skin) का इस्तेमाल भी कई चीजों को बनाने में किया जाता है।
  9. रेंडियर का रंग और आकार स्थान के अनुसार अलग-अलग होता है। मेल और फीमेल दोनों के सींग होते हैं, पर मेल रेंडियर के सींग बड़े होते हैं। कुछ प्रजाति ऐसी भी हैं जिनमें फीमेल के सींग नहीं होते।
  10. रेंडियर का जीवनकाल लगभग 15 से 20 साल तक का होता है।

यह भी पढ़ें :-