गुड फ्राइडे :-जानें ईशा मसीह द्वारा दिए गए उपदेशों के बारे में !!

51

“गुड फ्राइडे” ईसाई धर्म का त्यौहार है। इस वर्ष गुड फ्राइडे 2 अप्रैल दिन शुक्रवार को दुनियाभर में मनाया जा रहा है। मान्यता है कि इस दिन लोगों को प्रेम व अहिंसा का संदेश देने वाले ईसा मसीह को सूली पर लटका दिया गया था।

इस दिन को ‘शोक दिवस’ के रूप में भी मनाया जाता है। ईसाई धर्म के अनुयायी इस दिन चर्च में ईसा मसीह के बलिदान को याद करते हैं और उनके उपदेशों को जीवन में अपनाते हैं।

दुनियाभर में गुड फ्राइडे को अलग-अलग नाम से जाना जाता है। कहीं इसको होली फ्राइडे कहते हैं तो कहीं ब्लैक फ्राइडे या ग्रेट फ्राइडे भी कहते हैं। ईसा मसीह ने हमेशा अच्छे कर्मों को अपनाकर बुरे कर्मों को त्यागने की प्रेरणा दी।

आज हम आपको इस पोस्ट में बताने रहे हैं ईसा मसीह के ऐसे उपदेशों के बारे में जो आपको सत्य की राह पर चलने की प्रेरणा देंगे… तो चलिए जानते हैं :-

  • यीशु कहते हैं कि जिस तरह से मेरे पिता मुझसे प्रेम करते हैं ठीक उसी प्रकार से मैं भी तुमसे प्रेम करता हूँ। तुम भी संसार में इसी प्रकार सभी से प्रेम करो।
  • जिस प्रकार माता अपनी संतान को शांति देती है, ठीक उसी प्रकार मैं भी तुम लोगों को शांति दूंगा।
  • यीशु कहते हैं कि अपने शत्रुओं से भी प्यार करो और उनके लिए प्रार्थना करो जो तुमको सताते हैं। इससे तुम उस पिता की संतान बन जाओगे, जो स्वर्ग में हैं। वह न्यायी व अन्यायी दोनों पर अपनी वर्षा करता है।
  • एक दूसरे की सेवा करना ही हमारा धर्म है, जो लोग दूसरों की मदद करते हैं, ईश्वर उनकी की मदद करते हैं इसलिए मन से स्वार्थ और लालच की भावना का त्याग कर देना ही उचित है।
  • यदि कोई तुमसे कुछ मांगता है तो उसको दे दो। कोई तुम्हारा सामान ले जाए तो उससे दोबारा इस संबंध में मत पूछो। जिस तरह का व्यवहार आप लोगों से चाहते हो, वैसा ही उनके साथ करो।
  • यीशु कहते हैं कि मैं तुम्हें एक नया आदेश देता हूं कि एक-दूसरे से प्रेम करो। जैसे मैंने तुमसे प्रेम किया है।
  • तुम्हें व्यभिचारिता नहीं करनी चाहिए, तुम्हें हत्या नहीं करनी चाहिए, तुम्हें चोरी नहीं करनी चाहिए, तुम्हें लालच नहीं करना चाहिए और तुम्हें सभी से प्रेम की भावना रखनी चाहिए।
  • लोगों को सिर्फ रोटी के लिए जीवन नहीं जीना चाहिए बल्कि भगवान के मुंह से निकले हर शब्द के मुताबिक जीना चाहिए।

यह भी पढ़ें :-