बहुत से लोग घर बनाने, सजाने-सँवारने और रख-रखाव के लिए वास्तुशास्त्र की मदद लेते हैं. वास्तुशास्त्र में, घर के दरवाजे, रसोई, शयन, बैठक, बाथरूम आदि किस दिशा में होने चाहिए और नहीं होने चाहिए, इसके बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी है. इसके साथ ही घर में सौभाग्य और दुर्भाग्य लाने और ले जाने वाले विभिन्न उपाय और टोटके भी दिए गये हैं जिनको अपना कर लोग फायदा उठा सकते हैं.

माना जाता है कि जैसे दिशा का ज्ञान (उतर-दक्षिण), कोण, ग्रहों-नक्षत्रों की स्थिति आदि धरती के जीवन पर कुछ न कुछ प्रभाव डालती है. वैसे ही कुछ चीज़ों की उपस्थिति भी मनुष्य के दैनिक जीवन को प्रभावित कर सकती है. इसी से सम्बंधित कुछ जानकारी और उपाय हम इस पोस्ट के माध्यम से अपने पाठकों के समक्ष रख रहे हैं.

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर में क्या रखना चाहिए और क्या नहीं, इसकी जानकारी होना बहुत ही जरूरी है. कई बार हम घर में कुछ ऐसी वस्तुएं रख लेते है जो कि हमारे जीवन बुरा प्रभाव डालती हैं. ऐसी वस्तुओं को घर में रखने से बरकत नहीं होती यानि आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ता है और कमाई भी सीमित हो जाती है.

तो आईये देखते हैं कौन सी चीज़ें हैं जो वास्तुशास्त्र के अनुसार दुर्भाग्य लाती हैं और इन्हें हमें जितना संभव हो सके अपने घरों में रखने से बचना चाहिए.

  • घर में कभी भी टूटी हुई वस्तुएं नहीं रखनी चाहिए चाहे वह टूटे-फूटे बर्तन, तस्वीर, इलेक्ट्रॉनिक सामान आदि ही क्यों न हो. टूटी हुई वस्तुओं से घर में नकारात्मक ऊर्जा का निर्माण होता है. यह भी माना जाता है कि इससे घर में लक्ष्मी का आगमन भी नहीं हो पाता है.
  • घर में टूटी हुई कुर्सी या टेबल है तो उसे तुरंत घर से हटा दें. माना जाता है कि यह सब चीजें पैसे और तरक्की को रोक देती है.
  • फटे-पुराने कपड़ों को देखने से मन में बुरे विचारों का निर्माण होता है. घर में पड़े फटे-पुराने कपड़ों को किसी को दान कर देना चाहिए.
  • अक्सर घर के किसी कोने के उपरी हिस्से में मकड़ी के जाले बने होते हैं. घर में बनने वाले मकड़ी के जाले भी अच्छे संकेत नहीं होते है ऐसा माना जाता है कि घर में मकड़ी के जाले होने से अच्छे दिन बुरे दिनों में बदल सकते हैं.
  • यदि घर में टूटी हुई अलमारी या अलमारियों को बंद करने का दरवाजा नहीं है तो वह खुली मानी जाएगी. ऐसा माना गया है कि अलमारी में दरवाजा ना होने से कार्यों में रुकावट आती है और पैसा भी पानी की तरह बहता है.
  • अपने घरों में कभी भी युद्ध की तस्वीरें, नटराज की मूर्ति या तस्वीर, ताजमहल की तस्वीर, डूबते हुए जहाज की तस्वीर, जंगली जानवरों की तस्वीरें नहीं लगानी चाहिए.
    ऐसा माना जाता है कि इन तस्वीरों से दिमाग पर बुरा प्रभाव पड़ता है और उनको देखने से मन में नकारात्मक विचार आते है. जैसे महाभारत युद्ध की तस्वीर से घर में क्लेश बढ़ता है. नटराज की मूर्ति या‍ तस्वीर, शिव भगवान के तांडव नृत्य को दर्शाती हैं, जो कि विनाश का प्रतीक माना गया है. ताजमहल बेगम मुमताज का मकबरा है और मकबरे को घर में रखना अशुभ होता है.
  • अक्सर लोग घर में कबाड़ जमा करके रखते हैं. माना गया है कि घर में रखे हुए कबाड़ को देख कर मन में निराशा उत्पन्न होती है जो आपको आगे बढऩे से रोकती हैं.
  • लोग घर को सजाने के लिए क्या कुछ नहीं करते है. कुछ लोग घर को सजाने के लिए घर में कांटेदार पौधे लगा लेते हैं. माना गया है कि घर में कांटेदार पौधे लगाने से पारिवारिक संबंधों में भी कांटों-की-सी चुभन पैदा होने लगती है. इसलिए घर में कभी भी कांटेदार पौधे ना लगाए.
  • घर में ऐसी कई हानिकारक वस्तुएं जैसे कि जहरीले रसायन, एंटीबायोटिक दवा, एसिड की बोतल आदि नहीं रखनी चाहिए. ऐसी हानिकारक वस्तुएं से घर का वातावरण ‍विषैला बन जाता है.
  • पर्स या तिजोरी में किसी भी प्रकार की अपवित्र वस्तुएं न रखें.