भारतीय मुद्रा के बारे में 15 दिलचस्प तथ्य

भारतीय मुद्रा के बारे में 15 दिलचस्प तथ्य :-

सन 1954 से 1978 के बीच 5,000 और 10,000 रुपए के नोट चलन में थे।

one-rupee-in-1954

आज़ादी के बाद भी पाकिस्तान में काफी समय तक भारतीय मुद्रा का इस्तेमाल होता रहा।

indian-rupees-in-pakistan

एक रुपए का नोट वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया जाता था और उसमें वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते थे।

Finance-Ministry-issue-one-rupee

रुपया 20 वीं सदी में कई देशों की मुद्रा थी। जैसे अदन, ओमान, कुवैत, बहरीन, कतर, त्रुसिअल स्टेट्स, केन्या, युगांडा, सेशल्स और मॉरीशस।

नेपाल ने बाद भारत ने भी 500 और 1000 के नोटों पर प्रतिबंध लगा दिया हैं।

nepal-had-banned-500-and-1000-notes.

किसी समय 5 रुपये के सिक्के की बांग्लादेश से तस्करी की जाती थी।

5-coins-were-smuggled-from-Bangladesh

रुपए के प्रतीक टाइप करने के लिए नए कंप्यूटर में आप ‘Ctrl + Shift + $’ प्रेस कर सकते हैं।

keyboard

एक 10 रुपए के सिक्के को ढालने की लागत 6.10 रुपए है।

10-rupees-coin

कमी की वजह से, भारतीय रिजर्व बैंक ने अतीत में विदेशी देशों से सिक्के बनाने के लिए मदद ली थी। उनके द्वारा ढाले गए सिक्कों की पहचान करने के लिए उनकें नीचे एक विशेष तरह का चिन्ह लगाया जाता था।

unique-identification

रुपये के नोट के एक तरफ हिंदी और अंग्रेजी में लिखा होता है और दूसरी तरफ 15 अन्य भारतीय भाषाओं में लिखा होता है।

15-different-language-writen-in-5-10-20-rupess

आप के पास 51% से अधिक फटा नोट है, तो आप इस नोट को बैंक में जमा करके नया नोट ले सकते हैं।

Cracked-note-in-the-bank-can-take-the-new-note.

1917 में रुपया, डॉलर से अधिक शक्तिशाली था। उस समय 1 रुपया 13 अमरीकी डालर के बराबर था।

1-rupee-was-equal-to-US-$-13.

सभी नोटों में भारतीय राज्यों की छाप होती है, जैसे 20 की नोट में अंडमान द्वीप समूह की छाप हैं।

20-rupee-mark-the-andaman--islands.

एक एनजीओ द्वारा शून्य रुपए के नोट भारतीय संविधान के “5वें स्तंभ” भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए जारी किए गए हैं।

zero-rupee-front

यह भी पढ़ें;-5 कानूनी अधिकार, जो हर भारतीय को पता होने चाहिए

Watch Video of lucky people who escaped death by fraction of seconds!

नवीनतम