इस अभिनेत्री का कभी मोटी होने के कारण उड़ाया जाता था मज़ाक

30

बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री रेखा आज भी अपनी खूबसूरती और अदा से लाखों दिलों पर राज करती हैं। अपने दौर में वह अपनी एक्टिंग और खूबसूरती के लिए जितनी फेमस थीं, आज भी सबके बीच उतनी ही चर्चित हैं। फिल्मों के इलावा उन्हों ने अपनी निजी ज़िन्दगी में काफी उतार-चढ़ाव देखे। आइए जानते है उनके जीवन के बारे में कुछ बातें:

  • रेखा का जन्म 10 अक्टूबर 1954 को मद्रास में हुआ था। उनका असली नाम भानूरेख गणेशन है।
  • उनके माता पिता उनके जन्म के वक़्त विवाहित नहीं थे। इसलिए रेखा को उन्होंने अपनी पुत्री का दर्जा नही दिया। रेखा अपने पिता से इतनी नफरत करती थीं कि उनके अंतिम संस्कार में भी नहीं गईं थीं।
  • घर की ख़राब हालत की वजह से इच्छा न होते हुए भी उन्हें पढाई छोड़ कर फिल्मो में आना पड़ा।
  • रेखा ने जब फिल्मी जीवन की शुरुआत की थी तब वो काफी मोटी थी। शुरूआती दिनों में रेखा इतनी उभर नही पाई क्योकि तब रंगरूप को ज्यादा अहमियत दी जाती थी।
  • उनके अनुसार उन्हें अगली डकलिंग (बदसूरत बत्तख का बच्चा) कहा जाता था।
  • रेखा ने अपने करियर की शुरूआत 1966 में बाल कलाकार के तौर पर तेलगु फिल्म रंगुला रतलाम से की थी। मुख्य अभिनेत्री के तौर पर उनका डेब्यू चार साल बाद फिल्म सावन भादो से हुआ था।
  • रेखा ने अपने 40 सालों के लंबे करियर में लगभग 180 से उपर फिल्मों में काम किया है।
  • फिल्मी करियर के दौरान, रेखा का नाम अमिताभ बच्चन, राज बब्बर, विनोद मेहरा, नवीन निश्चल, जीतेंद्र, यश कोहली, शत्रुघ्न सिन्हा और अक्षय कुमार के साथ जुड़ा।
  • उन्होंने 1990 में दिल्ली के कारोबारी मुकेश अग्रवाल से शादी कर ली थी। लेकिन उनकी शादी सालभर भी नहीं चल पाई और शादी के 7 महीने बाद ही मुकेश ने मौत को गले लगा लिया था।
  • अमिताभ और रेखा एक-दूसरे के बेहद करीब रहे। अमिताभ की संगत में रेखा की शख्सियत में गजब के परिवर्तन हुए। वे अपने लुक के प्रति सजग हो गईं और जिंदगी को देखने का उनका नजरिया भी बदल गया।
  • रेखा समय की बहुत पाबंद हैं और सभी जगह नियत समय पर पहुंचती हैं।
  • इंटरनेट पर मौजूद आंकड़ों के हिसाब से, रेखा की संपत्ति 40 मिलियन डॉलर की है।
  • रेखा की सिक्योरिटी के बारे में बताया जाता है कि वो बहुत टाइट सिक्योंरिटी के बीच रहती हैं। इतना ही नहीं कहा यह भी जाता है कि उनके घर के दरवाजों में ऐसे लॉक लगे हैं जो मशीनों के द्वारा ही खुलते हैं और हर कोई उसे नहीं खोल सकता।
  • रेखा को पहला फिल्मफेयर अवार्ड 1978 में फिल्म “घर” और दूसरा फिल्मफेयर अवार्ड 1998 में “खून भरी मांग” के लिए मिला।
  • रेखा उन फिल्म अभिनेत्रियों में से एक थी जो राजनीती में आयीं किन्तु फिर भी उन्हें पद्म श्री मिला।

यह भी पढ़ें :

तो ऐसे हुई इमोजी (आइकन्स) की शुरुआत

Comments