कुछ मज़ेदार रोचक तथ्य

96

कुछ मज़ेदार रोचक तथ्य

  • यह तो सभी जानते हैं कि ताश के पत्तों में 4 राजा होते हैं, लेकिन एक बात जो कम ही लोगों को पता होती है वो यह है कि इनमें से तीन राजाओं के तो मूँछें होती हैं लेकिन एक की नहीं होती, और वो राजा होता है “किंग ऑफ़ हार्ट्स” l ब्रिटिश न्यूज़ पेपर ” द गार्डियन ” के अनुसार शुरू में इस राजा के भी मूँछें होती थीं, लेकिन एक बार जब कार्ड्स को रिडिजाइन किया जा रहा था तब डिज़ाइनर उसकी मूँछें बनाना भूल गया और तब से किंग ऑफ़ हार्ट्स बिना मूंछों वाला राजा हो गया l
  • फोटो खींचते समय “say cheese” कहने का प्रचलन है ताकि हमारी मुस्कुराती हुई फोटो आ सके लेकिन आपको जानकार आश्चर्य होगा कि कुछ सौ साल पहले विक्टोरियन काल में लोग फोटो खींचते समय “Say Prunes” कहते थे, ताकि फोटो में उनके चेहरे पर गंभीरता दिखे l दरअसल, उस समय अधिक हँसना गरीबों और शराब पीने वालों से जोड़ कर देखा जाता था, शायद यही कारण है कि जब हम पुराने समय के राजा-महाराजाओं की पोट्रेट देखते हैं तो हमें कहीं भी  “स्माइलिंग फेस ” देखने को नहीं मिलता है।
  • मॉडर्न फिजिक्स की मदर कही जाने वाली महान वैज्ञानिक “मैडम क्यूरी ” का नाम तो आपने जरूर सुना होगा। उन्हें उनके “रेडियो एक्टिव” पदार्थों पर किये गए शोध और पॉलोनियम तथा रेडियम की खोज के लिए जाना जाता है, लेकिन शायद आप यह नहीं जानते कि रेडियो एक्टिव एलिमेंट्स में उनकी रूचि ही उनके मरने का कारण बनी l इन्ही रेडियो एलिमेंट्स से एक्सपोज़र की वजह से उन्हें अप्लास्टिक एनीमिया नामक बीमारी हो गयी जिसने उनकी जान ले ली l
  • प्याज़ काटते वक़्त आँखों से पानी आना आम बात है लेकिन क्या आप जानते है कि यदि  प्याज़ काटते समय च्विंगम चबाई जाए तो आंसू नहीं निकलते।
  • आई फोन का नाम आते ही दिमाग में एप्पल कंपनी , के शानदार प्रोडक्ट की इमेज बन जाती है, परन्तु  आपको जानकार आश्चर्य होगा कि पहली मोबाइल डिवाइस जिसे आई फोन नाम दिया गया था वो एप्पल ने नहीं बल्कि सिस्को कंपनी ने बनायीं थी।
  • कई बार पेरेंट्स से पैसे मांगने पर वे कहते हैं… यहाँ पैसों का कोई पेड़ नहीं लगा या पैसों कि कोई बारिश नहीं हो रही जो तुम्हे हर समय पैसे देते रहें …लेकिन ब्रहमांड में कुछ जगहें ऐसी भी हैं जहाँ पैसे तो छोड़िए हीरों यानी डायमंड्स की बारिश होती है… शनि ग्रह और बृहस्पति ऐसे ही दो ग्रह हैं जहाँ के वातावरण में बड़ी मात्रा में कार्बन मौजूद है और मौसम में बदलाव की वजह से कार्बन पर बिजली गिरती है तो वह बिल्कुल हार्ड हो कर ग्रेफाइट बन जाता है और नीचे गिरने लगता है…जहाँ एटमोस्फियरिक प्रेशर उसे तब तक हार्ड बनाता जाता है जब तक कि वह डायमंड ना बन जाए…और इस तरह वहां हीरों की बारिश होने लगती है।
  • जहाँ हिंदुस्तान में इंसानों की सुविधा के लिए भी फ्लाई ओवर्स या ब्रिज का अभाव है वहीँ नीदरलैंड के “The Hague ” शहर में सिर्फ इसलिए एक ब्रिज का निर्माण किया गया ताकि गिलहरियाँ बिना किसी खतरे के हाइवे पार कर सकें। इस ब्रिज को बनाने में लगभग 1 करोड़ 8 लाख रुपये लगे।
  • जब भी समुद्री डाकुओं की बात होती है तो एक आँख पर पट्टी बांधे किसी आदमी की इमेज दिमाग में बन जाती है लेकिन आपको जान कर आश्चर्य होगा कि दुनिया की सबसे सफल समुद्री डाकू कोई आदमी नहीं बल्कि एक चायनीज़ औरत थी… उसका नाम “चिंग शी” था और वह चेंग I  नाम के एक खतरनाक डाकू की विधवा थी। माना जाता है कि एक समय 1800 समुद्री डाकू जहाजों पर उसकी हुकूमत चलती थी और उसके लिए अस्सी हज़ार आदमी काम करते थे।
  • अगर आपसे पुछा जाए कि दुनिया की सबसे ज़्यादा प्रिंट होने वाली बुक कौन सी है तो शायद आप बाइबिल, क़ुरान, गीता या फिर हैरी पॉटर के बारे में सोचें, लेकिन आपको जान कर आश्चर्य होगा कि फर्नीचर और होम असेस्सरीज़ बेचने वाले IKEA स्टोर का कैटलॉग दुनिया में सबसे अधिक प्रिंट होने वाली बुक का रिकॉर्ड रखता है। लगभग 2 दर्जन भाषाओं में इसकी हर साल 20 करोड़ प्रतियाँ छपती हैं
  • पासवर्ड एक यूनिक कोड होता है जिसे हम चीजों को सुरक्षित रखने के लिए इस्तेमाल करते हैं..ऐसे में हर किसी का पासवर्ड अलग-अलग होना चाहिए ,लेकिन एक रिसर्च में इस बात का दावा किया गया है कि दुनिया में करीब दो करोड़ लोगों का एक ही पासवर्ड है और वह है-‘123456’। 123456 के बाद दूसरे नंबर पर ‘123456789’ का इस्तेमाल किया गया।
  • ये तो हम सब जानते हैं कि रक्त दान से किसी का जीवन बचाया जा सकता है , लेकिन अगर मैं पूछूँ कि कोई अकेला व्यक्ति अपने जीवन काल में रक्त दान करके कितने लोगों की जान बचा सकता है तो आप 10, 15 या 20 लोगों के बारे में सोचेंगे, लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि ऑस्ट्रेलिया के द मैन विद द गोल्डन आर्म… 81 वर्षीय “जेम्स हैरिसन” ने 1954 से लेकर 2018 तक 1137 बार ब्लड डोनेट किया और उससे 24 लाख बच्चों की जान बचायी गयी।  दरअसल, उनके खून में एक बहुत रेयर प्रकार का ब्लड प्लाज्मा है जो गर्भावस्था के दौरान बच्चों को होने वाली (rhesus) रिसस डिजीज के इलाज में उपयोगी है, और यही कारण है कि वे अकेले ही इतने लोगों की जान बचा पाए।