शीर्ष भारतीय मसाले और उनके स्वास्थ्य लाभ

भारतीय मसाले बहुत लंबे समय से भोजन को अधिक स्वादिष्ट बनाने के लिए इस्तेमाल होते आये हैं. बहुत से देश ऐसे हैं जो मसालों का उत्पादन और व्यपार करते हैं. मसालों के व्यपारी प्राचीन समय से ही लोकप्रिय व्यपारी रहे हैं. भारत अपने मसालों के उत्पादन के लिए पूरे विश्व में मशहूर है. यह हैं भारत के कुछ मसाले और उनके स्वास्थ्य लाभ.

हल्दी(Turmeric)

turmericयह भारत के सबसे आम इस्तेमाल किये जाने वाले मसालों में से एक है. हल्दी (Turmeric) का इस्तेमाल बहुत से व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने में किया जाता है. हल्दी एक एंटीओक्सीडेंट है और यह कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने में भी सक्षम है.

यह भी पढ़ें: भारत के सर्वप्रिय पारंपरिक लोक-नाच

हींग(asafoetida)

asafoetidaयह भारत के तीखे स्वाद वाले मसालों में से एक है. अगर इस मसाले को किसी भोजन में डाल दिया जाए तो यह उस भोजन की गंद बदल देता है. इस मसाले का इस्तेमाल भारत की सबसे मशहूर खट्टी-मिट्ठी दाल बनाने में होता है. इस मसाले से अस्थमा, खांसी, ब्रोंकाइटीस जैसी बीमारियों का भी समाधान किया जाता है.

जीरा(Cumin Seed)

cumin-seedजीरा, घरों में सबसे आम होने वाले मसालों में से एक है, इसे व्यंजनों की एक विस्तृत किस्म तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. इस मसाले को भारत का पारम्परिक व्यंजन उड़िया को तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है.

यह भी पढ़ें: ध्यान कैसे लगायें

अदरक(Ginger)

gingerअदरक को प्रचीन समय से भारत और एशिया के कई देशों में इस्तेमाल किया जाता रहा है. यह भोजन बनाने के मसालों में सबसे अव्वल मसाला है. अदरक के बिना भोजन को स्वादिष्ट बनाना असंभव सा लगता है. यह जुकाम, जोड़ों के दर्द से राहत और रक्तचाप जैसी कई बीमारियों का समाधान करने में सक्षम होता है.

इलायची(Cardamom)

cardamomइलायची भारत के जंगली क्षेत्रों में पैदा की जाती है. यह मसाला भी अदरक की तरह बीमारियों का इलाज करने में मददगार होता है. यह व्यंजनों को स्वाद बनाने में इस्तेमाल होता है और इस मसाले का इस्तेमाल चाय को स्वादिष्ट बनाने के लिए भी किया जाता है.

यह भी पढ़ें: जानिए, दिमाग को स्वस्थ रखने के यह 10 उपाय!

काली मिर्च(Black Pepper)

black-pepperकाली मिर्च को कब्ज, दस्त, कान का दर्द, अवसाद और ह्रदय रोग का इलाज करने में किया जाता है. इसकी पैदावार मूल रूप से दक्षिण भारत में की जाती है. इसका इस्तेमाल भोजन का स्वाद बढ़ाने और स्वास्थ्य का उपचार करने में होता है.

लौंग(Cloves)

clovesभारत में लौंग अपने स्वाद और चिकिस्ता के इलाज के लिए सदियों से मशहूर है. लौंग से बहुत सारी बीमारियों का इलाज होता है. यह पेट की खराबी के इलाज में सबसे सफल औषधि है.

यह भी पढ़ें: जल्दी उठने वाले और देर रात को सोने वाले लोगों में 7 अंतर

केसर(saffron)

saffronकेसर भारत का सबसे महंगा मसाला है. इसका इस्तेमाल भारत में शुभ अवसरों पर किया जाता है. केसर स्वास्थ्य की पाचन शक्ति और भूख बढ़ाने में मददगार होता है.

दालचीनी(Cinnamon)

cinnamonदालचीनी के अद्भुत स्वास्थ्य लाभ हैं. इसका बहुत समय से रक्त शर्करा को नियंत्रण करने में इस्तेमाल होता रहा है.

यह भी पढ़ें: भारत की सबसे अमीर बेटियां

सरसों के बीज(Mustard Seeds)

mustard-seedsज्यादातर भारतीय सरसों के बीज और इसके तेल को घर में अलग-अलग कामों के लिए इस्तेमाल करते हैं. इन बीजों में विटामिन बी होता है जो शरीर में गठिया होने से रोकता है और मांसपेशियों के दर्द को दूर करता है.

धनिया (Coriander)

corianderधनिया का उपयोग 7,000 सालों से होता आ रहा है. यह मसाले मूल रूप से आयरलैंड से उत्पन्न हुए हैं. इन मसालों का उपयोग भारत में भोजन बनाने और सलाद में होता है. धनिये का इस्तेमाल शूगर की बीमारी को दूर करने के लिए और एक एंटीओक्सिडेंट के रूप में भी होता है.

यह भी पढ़ें: दुनिया के 10 सबसे सुंदर फूल!

नवीनतम