भारत में कई राज्यों की इकोनॉमिक ग्रोथ हर साल बढ़ती है। कई राज्य देश की इकोनॉमी को बढ़ाने में महत्‍वपूर्ण योगदान निभाते हैं और भारत को आर्थिक रुप से मज़बूत बनाते हैं। आइए जानते हैं भारत के वह अमीर 10 राज्य, जो भारत की इकोनॉमिक ग्रोथ बढ़ाने में अपना महत्‍वपूर्ण योगदान निभाते हैं।

मुंबई

मुंबई का हर वर्ष 209 अरब अमेरिकी डॉलर जीडीपी होता है। मुंबई राज्य भारत में सबसे धनी राज्यों में से एक है। मुंबई भारत का बिज़नेस कैपिटल है, यहां भारतीय रिज़र्व बैंक, बम्बई स्टॉक एक्स्चेंज, नेशनल स्टऑक एक्स्चेंज आदि बड़ी संस्थाएं हैं। भारत के कई बड़े उद्योग (भारतीय स्टेट बैंक, टाटा ग्रुप, गोदरेज एवं रिलायंस सहित) तथा चार “फॉर्च्यून ग्लोबल 500” कंपनियां भी मुंबई में स्थित हैं। मुंबई सिनेमा का जन्म स्थान है। प्रति दिन यहां बहुत सारे लोग फिल्मों में अपनी किस्मत अज़माने आतें हैं।

एशिया का सबसे अमीर गांव!!

तमिलनाडु

तमिलनाडु का जीडीपी रुपये के साथ 13,842 बिलियन (यूएस $ 210 बिलियन) है। यह भारत में दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। चेन्नई, तमिलनाडु की राजधानी है। तमिलनाडु राज्य में कम से कम 25 राष्ट्रीयमार्ग है, जिनमें से 12 मार्ग पूरी तरह से इस राज्य के भीतर ही है। मिनाक्षी अम्मन मंदिर, रामनाथस्वामी मंदिर, ब्रिहदेश्वर मंदिर, कपलिश्वरार मंदिर, नटराज मंदिर, मरीना समुद्र तट, कोदैकनल झील, स्मारकों के समूह आदि इस राज्य के मुख्य आकर्षण पर्यटन स्थल हैं।

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश का जीडीपी 9 .76 लाख करोड़ (140 अरब अमेरिकी डॉलर) है। उत्तर प्रदेश को कृषि राज्य भी कहा जाता है, क्योंकि यह भारत में पोषण अनाज के निर्माण के लिए लगभग 18.9% योगदान देता है। इसके इलावा हस्तशिल्प, क़ालीन, पीतल की वस्तुएँ, जूते-चप्पल, चमड़े व खेल का सामान राज्य के निर्यात में प्रमुखता के साथ योगदान देते हैं। कानपुर उत्तर प्रदेश का सबसे बड़ा औधोगिक शहर है, यहाँ चमड़े का काम होता है। कानपुर का चमड़े का जूता पूरी दुनिया में मशहूर है।

पश्चिम बंगाल

पश्चिम बंगाल का जीडीपी 8.00 करोड़ (यूएस $ 140 बिलियन) है। यह राज्य 20% चावल का और 35% आलू का उत्पादन करता है। पश्चिम बंगाल की अर्थव्यवस्था ज्यादातर खेती और मध्यम आय उद्यमों के अधीन है। वहां की मुख्य भाषा बंगाली है। यह राज्य कला, साहित्य, संगीत और नाट्य के लिए प्रसिद्ध है। मनोरंजन में भी पश्चिम बंगाल आगे है, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्थर पर बंगाली फिल्मों की प्रशंसा की जाती है।

गुजरात

गुजरात का जीडीपी 7.66 करोड़ लाख (यूएस $ 110 बिलियन) है। यह राज्य रत्न और हीरे का सबसे बड़ा निर्यातक है। कपड़ा, रसायन, बिजली, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, वनस्पति तेल, सोडा एश और उर्वरकों का निर्माण इस राज्य में होता है। गुजरात कपास, तंबाकू, चावल, मूंगफली, गेहूँ, बाजरा, ज्वार, मक्का का मुख्य उत्पादक है और राज्य की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है। डेयरी और पषुपालन भी गांवों की अर्थव्यवस्था का मुख्य स्रोत है।

19 पुस्तकें जो आपको बना सकती हैं अमीर

कर्नाटक

कर्नाटक का जीडीपी 7.02 लाख करोड़ (यूएस $ 100 बिलियन) है। कर्नाटक ने जीडीपी और प्रति व्यक्ति के रूप में सबसे ज़्यादा विकास दर दर्ज़ की है। यह शहर अपनी बढ़ती उपस्थिति के साथ आईटी उद्योग का केंद्र बन गया है। 7.85% से अधिक कच्चे रेशम का उत्पादन कर्नाटक राज्य में ही होता है। यहां कॉफी और रागी का उत्पादन भी होता है। कर्नाटक साहित्य, वास्तुकला, लोक-साहित्य, संगीत, चित्रकला और दूसरी कलाओं के लिए भी प्रसिद्ध है।

राजस्थान

राजस्थान का जीडीपी 5.7 लाख करोड़ (100 अरब डॉलर) है। यह देश का सबसे बड़ा रेगिस्तान है और सबसे गर्म राज्य है। यहां पर गेहूं, जौ, सब्जियां, जैविक उत्पाद आदि विकसित फसलें होती हैं। राजस्थान में 58 प्रकार के मिनरल्स उत्पादित किए जाते हैं। राजस्थान एक अमीर और रंगीन सर्वाधिक लोकप्रिय पर्यटन स्थलों में से एक है। जब लोग यहाँ घूमने आते हैं, तो इन जगहों को देखना नहीं भूलते – माउंट आबू, अज्मेर, भरतपुर, बिकानेर, जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, जैसलमेर, और चित्तौरगड़।

आंध्र प्रदेश

आंध्र प्रदेश का जीडीपी 5.20 लाख करोड़ (यूएस $ 77 बिलियन) है। इस राज्य में नौसैनिक आधार और रॉकेट लॉन्चिंग सेंटर भी राष्ट्र के विकास में बहुत महत्वपूर्ण हैं। कपास इस राज्य के विकास का प्रमुख जरिया है। यहां की अर्थव्यवस्था खेती और मध्यम आय उद्यमों के अधीन है। चावल यहां की मुख्य फसल है। यहां 10 प्रतिशत मछली का उत्पादन होता है। यह राज्य तांबा, मैगनीज़, कोला, चूना पत्थर आदि खनिज़ भंडारों से भरा पड़ा है।

मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश का जीडीपी 5.08 लाख करोड़ (यूएस $ 78 बिलियन) है। इस राज्य में कुछ महान प्राकृतिक संसाधन भंडार हैं, जो इसकी अर्थव्यवस्था में योगदान दे रहे हैं। खेती इस राज्‍य का मुख्य आधार है। यहां गेहूँ, चावल, दलहन जैसी प्रमुख फ़सलों का उत्‍पादन होता है। दूरसंचार प्रणालियों के लिए यह राज्य ऑप्टिकल फाइबर का उत्पादन कर रहा है। पेपर मिल, देवास में नोट छापने की प्रेस, नेपानगर में अखबारी कागज की मिल, नीमच की अल्कालॉयड फैक्ट्री आदि प्रमुख उद्योग हैं।

दिल्ली

दिल्ली का जीडीपी 4.51 लाख करोड़ (यूएस $ 66 बिलियन) है। अपने खुदरा व्यपार के आकर्षण से दिल्ली विदेशी निवेश को अपनी और आकर्षित करता है। सर्विस सेक्टर का दिल्ली की जीडीपी में 80% योगदान है। दिल्ली भारत की राजधानी है। मुंबई के बाद दिल्ली भारत का सबसे बड़ा व्यापारिक महानगर है। कई बहुराष्ट्रीय कंपनियों जैसे पेप्सी, गैप, इत्यादि ने दिल्ली और उसके आस-पास के क्षेत्रों मे अपना मुख्यालय खोला है।

यह भी पढ़ें;

2018 में भारत के 10 सबसे अमीर व्यक्ति

भारत के 5 सबसे अमीर मंदिर, तस्वीरों सहित