टैक्नोलॉजी : आज हम ढेरों गैजेट्स के साथ अपना जीवन बिता रहे हैं. जहाँ भी देख लें, दो लोग बैठे हुए आपस में बातचीत कम करते हैं, अपने टैबलेट्स या फोन पर ज़्यादा व्यस्त नज़र आते हैं. आज हम अपने पार्टनर से ज़्यादा गैजट्स के साथ टाइम बिता रहे हैं और इसके कारण कई बार रिश्ते तक कमज़ोर हो जाते हैं. किसी भी रिश्ते में कम्युनिकेशन होना बहुत ज़रूरी है. हर दिन अपने फेसबुक को अपडेट करने के साथ अपने बैटर हाफ के साथ वक्त बिताएं, ताकि आपके रिश्ते बढ़िया रह सकें.

effects-of-technology-on-mutual-relationships

वार्निग साइन

यदि आपका पार्टनर वीडियो गेम्स पर ज़्यादा समय बिता रहा है, तो इसे वार्निग साइन समझें, क्योंकि ज़्यादातर विवाहित जोड़ों का तलाक वीडियो गेम्स की लत की वजह से होता है. महिलाएं भी इस लत का शिकार हो जाती हैं. इसलिए दोनों को चाहिए कि देर रात तक चैटिंग या गेम्स में उलझने के बजाये अपने साथी के साथ वॉक करने के लिए निकलें, ताकि उस समय आप अपनी बातें एक दूसरे से सांझा कर सकें.

डिप्रेशन

टैक्नोलॉजी के साथ ज़रुरत से ज़्यादा भागीदारी हमारी सेहत का नुक्सान ही करती है. इस स्थिति में आप आसानी से नर्वस हो जाते हैं या फिर डिप्रेशन में आ जाते हैं. कई बार न चाहते हुए भी आप अपने पार्टनर पर भड़क सकते हैं! ऐसे में आपके रिश्ते पर असर पड़ेगा. अपनी सेहत और रिश्ते बचाने के लिए टी. वी., टैबलेट और स्मार्ट फोन का साथ छोड़ने की कोशिश करें!

फोन एडिक्शन यानि लत

यदि आप अपने स्मार्टफोन से पूरे दिन चिपके रहते हैं या आपका पार्टनर ऐसा कर रहा है, तो संभल जाएं, क्योंकि फोन एडिक्शन इन दिनों काफी कॉमन हो गया है. बहुत से लोग हैं, जो इस एडिक्शन से पीछा छुड़ाना चाहते हैं, परंतु यह आसान नहीं है. जब कभी भी आप अपने पार्टनर के साथ हों, तो फोन या टैब को अलग रख दें, इससे आपका रिश्ता मज़बूत होगा और आप इस लत से भी बच सकेंगे.

गैजेट्स दूर रखें

यूं तो पति-पत्नी के बीच बहस होना आम बात है, परंतु जब बहस टेक्नोलॉजी के मुद्दे पर हो, तो यह बात कुछ ठीक नहीं लगती. एक-दूसरे के लिए टेक्नोलॉजी गैजेट्स से एक दूरी बनाए रखें. रिश्ता मज़बूत करने के लिए यह एक बहुत छोटा-सा, लेकिन लाभदायक त्याग होगा.

नींद पर असर

टेक्नोलॉजी के कारण नींद न आना (यानि Insomnia) बहुत आम हो चुका है. हर रोज़ रात को सोने से पहले लैपटॉप पर समय बिताने से अच्छी नींद पर असर पड़ता है. इसके अलावा रात को देर तक बैठ कर अकेले टी. वी. देखना भी अच्छी नींद में बाधक है. यह आपके शरीर व सेहत के लिए अच्छा नहीं है. साथ ही, इससे किसी भी युगल यानि जोड़े के पारस्परिक रिश्ते में खटास आ सकती है.

यह भी पढ़ें: