वीडियो :- टोक्यो ओलंपिक में मीराबाई की सिल्वर शुरुआत से लेकर नीरज का गोल्डन फिनिश, भारत ने 7 मेडल जीतकर इतिहास रचा

933

टोक्यो ओलंपिक में सिल्वर मेडल के साथ शुरू हुए भारत के ऐतिहासिक सफर का शनिवार को गोल्डन अंत हो चुका है। इस ओलंपिक में भारत ने 7 मेडल जीते हैं जिसमें एक स्वर्ण पदक भी शामिल है।

नीरज चोपड़ा (गोल्ड मेडल)

टूर्नामेंट के अंतिम दिन 23 साल के नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता। 8 अगस्त को नीरज चोपड़ा ने ओलंपिक एथलेटिक्स में भारत को सबसे पहला स्वर्ण पदक दिलाने के बाद ट्विटर पर ट्वीट किया।

इतना गौरवांन्वित और रोमांचित अनुभव कर रहा जिसका बयान नहीं किया जा सकता है। सभी देशवासियों और अन्य सभी की दिल से धन्यवाद  करता हूँ जिन्होंने मुझे इसको हासिल करने में मदद की और प्रोत्साहित किया। यह कभी ना भूलने वाला क्षण है

मीराबाई चानू (सिल्वर मेडल)

- Advertisement -

पीवी सिंधु (ब्रॉन्ज मेडल)


इस ओलंपिक में पहले दिन वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने सिल्वर मेडल जीता था और आखिरी दिन नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जीता। ओलंपिक में भारत ने पहली बार अधिकतम 7 मेडल जीत कर इतिहास रच दिया।

 

रवि दहिया (सिल्वर मेडल)

पहलवान रवि दहिया ने टोक्यो ओलंपिक में 57 किग्रा भार वर्ग कुश्ती में सिल्वर मेडल जीता था। उन्होंने अपनी कामयाबी से भारत के लिए खाते में दूसरा सिल्वर मेडल जोड़ दिया था। उनसे देश को गोल्ड की उम्मीदें थीं, लेकिन वे फाइनल मुकाबले में जीत हासिल नहीं कर पाए।

लवलीना बोरगोहेन (ब्रॉन्ज मेडल)

बजरंग पूनिया (ब्रॉन्ज मेडल)

भारतीय पुरुष हॉकी टीम (ब्रॉन्ज मेडल)

ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics 2020) में भारत की हॉकी टीम ने इतिहास रच दिया है। भारत को ब्रॉन्ज (कांस्य) मेडल मिल गया है। भारत ने काटे के मुकाबले में जर्मनी को 5-4 से हरा दिया है।

भारत की हॉकी टीम ने 41 साल बाद ओलंपिक का कोई मेडल जीता है। सेमीफाइनल में भारत को बेल्जियम के हाथों हार मिली थी, जबकि जर्मनी को ऑस्ट्रेलिया ने हराया था। 1980 के बाद भारतीय हॉकी टीम ने पहली बार ओलंपिक मेडल जीता है।

यह भी देखें :-