जानिए शेन वॉर्न के बारे में कुछ ऐसे तथ्य जो आपने पहले कहीं नहीं सुने होंगे!!

1313

शेन वॉर्न क्रिकेट इतिहास के सबसे महान गेंदबाजों में से एक थे। वह अपनी लोकप्रिय लेग-स्पिन गेंदबाजी के लिए जाने जाते थे, उनकी इसी अद्भुत गेंदबाजी ने ऑस्ट्रेलिया को कई शानदार जीत दिलाई थी।

आज इस लेख में हम आपको शेन वॉर्न से जुड़े कुछ अनसुने तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं, चलिए जानते हैं:-

  • शेन वॉर्न का जन्म 13 सितंबर 1969 को फ़र्नट्री गली, विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया में हुआ था। उनके पिता का नाम कीथ वॉर्न और माता का नाम ब्रिजेट था।
  • उनका पूरा नाम शेन कीथ वॉर्न था। वॉर्न की शुरुआत से लेकर ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में हुई थी। उनकी पढ़ाई की शुरुआत हैम्पटन हाई स्कूल मेलबर्न में हुई थी।
  • वार्न ने वास्तव में अपने एथलेटिक करियर की शुरुआत एक फुटबॉलर के रूप में की थी लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

  • 1992 में शेन वॉर्न ने अपना पहला टेस्ट मैच खेला था। शुरुआत में वो लेग स्पिन और ऑफ स्पिन के मिश्रण के साथ गेंदबाजी करते थे।
  • शेन वार्न के बारे में सबसे प्रसिद्ध तथ्यों में से एक यह है कि उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में किसी भी गेंदबाज द्वारा लिए गए सबसे अधिक विकेट (708) का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। वॉर्न ने 2004 से 2007 के वर्षों में श्रीलंकाई गेंदबाज मुरलीधरन के साथ प्रतिस्पर्धा की, दोनों के बीच कई बार रिकॉर्ड बदलते रहे, जब तक कि 2007 में वॉर्न अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से सेवानिवृत्त नहीं हुए, और रिकॉर्ड मुरलीधरन ने जीत लिया।
  • शेन वॉर्न और मुरलीधरन को सम्मान देने के लिए 2007-2008 में Australia-Sri Lanka Test cricket series का नाम ‘वॉर्न-मुरलीधरन ट्रॉफ़ी’ रखा गया था। ये ख़ास ट्रॉफ़ी इस सीरीज़ के विजेता को दी गई थी।
  • आपको जानकर हैरानी होगी कि शेन वॉर्न एक मात्र ऐसे खिलाड़ी हैं, जिनके नाम बिना शतक के टेस्ट मैचों में सबसे ज़्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड दर्ज है। उन्होंने 1992 से लेकर 2007 के बीच अपने टेस्ट मैच करियर में बिना शतक के कुल 3,154 रन बनाए थे।
  • शेन वॉर्न गरीब व जरूरतमंद बच्चों के लिए एक चैरिटी फाउंडेशन भी चलाते थे जिसके लिए आए दिन वो किसी ना किसी इवेंट के जरिए पैसे जुटाया करते थे। उनकी संस्था का नाम शेन वॉर्न फाउंडेशन था।
  • इस क्रिकेटर का उनकी जिंदगी में कई लड़कियों के साथ नाम जुड़ा। जहां तक बात है शादी की तो उन्होंने सिमोन कैलेहान के साथ 1995 में शादी की और 2005 में दोनों अलग भी हो गए। इसके बाद वह हॉलीवुड अभिनेत्री लिज हर्ले के साथ चर्चा रहे, दोनों की सगाई भी हो गई थी लेकिन कुछ समय के बाद यह रिश्ता भी खत्म हो गया।
  • वॉर्न का विवादों के साथ भी गहरा नाता रहा था उनको 2003 आईसीसी विश्व कप के दौरान डोप टेस्ट में पॉजिटिव पाया गया था। जिस वजह से उन्हें वर्ल्ड कप से बाहर होना पड़ा था। इस बात को उन्होंने खुद स्वीकार किया था कि उन्होंने फ्लूइड टेबलेट का सेवन किया था। उनका कहना था कि उन्होंने यह दवा अपनी मां के कहने पर ली थी। इसके बाद उन पर एक साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था।
  • सितंबर 2017 में एक पॉर्न स्टार वलेरी फॉक्स ने उन पर लंदन के नाइट क्लब में हाथापाई का आरोप लगाया था। वलेरी फॉक्स ने तब चोटिल आंखों के साथ अपनी तस्वीर भी सोशल मीडिया पर पोस्ट की थी जिसके कैप्शन में लिखा था, “आप मशहूर हस्ती हैं, इसका मतलब ये बिल्कूल नहीं कि किसी भी औरत पर हाथ उठाया जा सकता है”।
  • शेन वॉर्न न केवल एक क्रिकेट खिलाड़ी थे, बल्कि उन्हें खेल में सट्टेबाजी का भी शौक था। शेन वार्न का सट्टेबाजी उद्योग के साथ पहला ज्ञात संबंध 1994-95 में जुड़ा था जब उन्हें और टीम के एक सदस्य “मार्क वॉ” पर ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट बोर्ड द्वारा एक सट्टेबाज को आगामी मैच के बारे में जानकारी देने के लिए जुर्माना लगाया गया था। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद भी वार्न कई अन्य सट्टेबाजी कंपनियों के साथ जुड़े हुए थे, जिनमें Dafabet और 888poker शामिल थी।
  • शेन वार्न ने एक बार ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रीय टेलीविजन पर यह कहा था कि वह एलियंस में विश्वास करते हैं। उन्होंने यह एक टॉक-शो के दौरान कहा था, जिसे “आई एम ए सेलेब्रिटी” “गेट मी आउट ऑफ हियर” (“I’m a Celebrity…Get Me Out of Here”) के रूप में जाना जाता है। शेन वार्न न केवल एलियंस में विश्वास करते थे, बल्कि उनका मानना था कि पूरी मानव प्रजाति किसी न किसी तरह एलियंस से निकली है।

यह भी पढ़ें :-

नहीं रहे अपनी फिरकी से दुनिया को दीवाना बनाने वाले शेन वॉर्न