जानिए महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर क्यों होता है?

125

भारतीय समाज में शरीर की लंबाई को विशेष महत्व दिया जाता है। लंबे पुरुषों को हेंडसम का खिताब दिया जाता है तो वहीं लंबी महिलाओं को मॉडलिंग की सलाह। अक्सर महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर देखने को मिलता है।

ज़्यादातर पुरुष लंबे और महिलाएं छोटी होती हैं। क्या आप जानते हैं कि महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर के लिए एक्स गुणसूत्र जिम्मेदार होता है।

आज हम आपको बताएंगे कि एक्स गुणसूत्र किस तरह से लंबाई में अंतर करता है वहीं, महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर के बारे में

क्यों होता है एक्स गुणसूत्र के कारण महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर ?

मानव शरीर की सबसे छोटी इकाई कोशिका होती है। कोशिका में गुणसूत्र पाए जाते हैं, ये गुणसूत्र डीएनए को कैरी करते हैं। इंसान के पास 23 जोड़ी गुणसूत्र होते हैं जिसमें से 22 जोड़ी गुणसूत्र महिला और पुरुष में एक समान होते हैं।

वहीं, 23वां जोड़ा गुणसूत्र सेक्स गुणसूत्र होता है, जो महिला (XX) और पुरुष (XY) में अलग-अलग होते हैं। किसी भी बच्चे को जन्म देने के लिए मां बच्चे को एक्स गुणसूत्र देती हैं, वहीं पिता बच्चे को एक्स गुणसूत्र या वाई गुणसूत्र देते हैं।

किसी भी लड़के के पास एक एक्स गुणसूत्र और एक वाई गुणसूत्र होता है और लड़की में दो एक्स गुणसूत्र होते हैं। एक अध्ययन के मुताबिक एक्स गुणसूत्र के साथ कई तरह के चैलेंजेस होते हैं, लेकिन महिलाओं में दो एक्स गुणसूत्र होते हैं, इसलिए उनके जीन्स में ज्यादा चैलेंजेस होते हैं।

यही चैलेंजेस महिला और पुरुष में एक्स गुणसूत्र के साथ कई तरह के बायोलॉजिकल चेंजेस के लिए जिम्मेदार होते हैं। यही कारण है कि महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर के लिए एक्स गुणसूत्र ही जिम्मेदार होता है।

कई बार दो एक्स क्रोमोसोम की वजह से महिलाओं की हाइट पुरुषों की तुलना में कम होती है। लंबाई कम होने के पीछे कई दूसरे कारण भी जिम्मेदार होते हैं।

उम्र के पहले साल में लंबाई तेजी से बढ़ती है

महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर तो उम्र बढ़ने पर होता है। जब हम अपने उम्र के शुरुआती साल में होते हैं तो हमारी लंबाई पूरे जीवन में सबसे तेजी से बढ़ती है। जब हम एक साल के होते हैं, तब तक हमारी लंबाई 10 इंच तक बढ़ चुकी होती है।

इसके बाद जब महिलाओं में मासिक धर्म की शुरुआत होती है तो उसके तीन चार साल के अंदर लंबाई बढ़ना बंद हो जाती है जबकि लड़कों की लंबाई 20 साल के बाद भी थोड़ी बहुत बढ़ती रहती है।

महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर यही से समझ में आने लगता है। महिला और पुरुषों की लंबाई में अंतर के लिए सिर्फ हाइट जीन्स जरूरी नहीं है l

हमारे शरीर की लंबाई के लिए 60 से 80 फीसदी हमारे जीन्स जिम्मेदार होते हैं। जबकि 40 से 20 फीसदी के लिए हमारा पर्यावरण जिम्मेदार होता है। इसके साथ ही हमारे द्वारा बचपन में लिया गया पोषण भी हमारी लंबाई के लिए जिम्मेदार होता है।

उम्र बढ़ने के साथ लंबाई घटने लगती है

ज्यादातर लोगों की उम्र ढलने के साथ उनकी लंबाई भी कम होने लगती है। 40 साल की उम्र बीतने के बाद व्यक्ति की लंबाई आधा इंच हर 10 साल में कम होने लगती है। ऐसा होने के पीछे हमारी स्पाइन (रीढ़ की हड्डी) जिम्मेदार होती है।

धीरे-धीरे हमारी स्पाइन पानी को खोने लगती है, जिसके कारण हमारी लंबाई सिकुड़ने लगती है। वहीं, ऑस्टियोपोरोसिस और हड्डियों से संबंधित बीमारियों के कारण भी व्यक्ति की हाइट कम होने लगती हैं, लेकिन लागातार योगा और एक्सरसाइज की मदद से आप अपनी लंबाई को कम होने से रोक सकते हैं।