10 मई का इतिहास

10 मई का इतिहास:-

  • 1526 – पानीपत की पहली लड़ाई में जीत के बाद बाबर ने तत्कालीन भारत की राजधानी अकबराबाद (आगरा) में प्रवेश किया।
  • 1774 – लुई 15वें की मौत के बाद लुई 16वां फ्रांस का राजा बना।
  • 1824 – लंदन की नेशनल गैलरी को आम लोगों के लिए खोला गया।
  • 1857 –  भारत का प्रथम स्वतंत्रता संग्राम इसी दिन आरंभ हुआ था।
  • 1905 – बांग्ला और हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध गायक, संगीतकार और अभिनेता पंकज मलिक का जन्म।
  • 1922 – महाराष्ट्र के प्रसिद्ध समाज सुधारक और दलितों के हितेषी छत्रपति साहू महाराज का निधन।
  • 1929 – भारतीय संविधान के विशेषज्ञ एवं पद्म भूषण से सम्मानित सुभाष कश्यप का जन्म।
  • 1936 – एक प्रसिद्ध चिकित्सक, प्रसिद्ध राष्ट्रवादी मुस्लिम नेता मुख़्तार अहमद अंसारी का निधन।
  • 1940 – जर्मनी ने बेल्जियम, नीदरलैंड और लक्जमबर्ग पर आक्रमण किया।
  • 1961 – तेरहवीं लोकसभा के सदस्य बृजलाल खाबरी का जन्म।
  • 1980 – लंदन में ईरानी दूतावास पर कब्जा खत्म हुआ।
  • 1980 – परमवीर चक्र सम्मानित भारतीय सैनिक योगेन्द्र सिंह यादव का जन्म।
  • 1994 – नेल्सन मंडेला लोकतांत्रिक चुनावों के बाद दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति चुने गए।
  • 1999 – पेनिसिलन के विकास में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले सर एडवर्ड इब्राहम की मृत्यु।
  • 2001 – भारत ताजिकिस्तान ने संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए।
  • 2001 – घाना में फुटबॉल मैच के दौरान हिंसा, 130 मरे।
  • 2002 – भारत के मशहूर शायर कैफी आज़मी का निधन।
  • 2003 – मोजाम्बिक के राष्ट्रपति जोकि अल्बर्टो फिसानों 6 दिवसीय यात्रा पर भारत पहुँचे।
  • 2005 – लाहौरअमृतसर बस सेवा शुरू करने पर भारत और पाकिस्तान सहमत।
  • 2006 – 1987 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित आस्कर एरियास ने दुबारा कोस्टारिका के राष्ट्रपति पद की शपथ ग्रहण की।
  • 2006 – इसरो के अध्यक्ष जी. माधवन नायर और नासा के प्रशासक माइकेल ग्रिफ़िन ने चन्द्रमा पर भेजे जाने वाले भारत के चन्द्रयान 1 पर दो अमेरिकी वैज्ञानिक उपकरण लगाने के लिए एक सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए।
  • 2006 – भारत में सऊदी अरब के पहले राजदूत शेख़ मुहम्मद इब्न ऊमान अल मुलहेम का 105 वर्ष की आयु में निधन।
  • 2007 – अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन ने कार्य स्थली पर होने वाले भेदभाव पर रिपोर्ट जारी की।
  • 2008 – लेबनान में ईरान समर्थित विद्रोही संगठन हिजबुल्ला ने राजधानी बेरुत के मुस्लिम इलाके पर क़ब्ज़ा करने का दावा किया।