ख़ूबसूरती की मिसाल : सिटी पैलेस

आज हम आपको एक ऐसे ऐतिहासिक स्थल के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में अपने पहले कही नहीं सुना होगा।वैसे तो राजस्थान के जयपुर में बहुत से ऐतिहासिक स्थान है लेकिन सिटी पैलेस जयपुर का एक प्रमुख लैंडमार्क है और सबसे प्रसिद्ध ऐतिहासिक पर्यटन स्थलों में से भी एक है.

 

सिटी पैलेस का निर्माण

आपको बता दें कि सिटी पैलेस का निर्माण महाराजा सवाई जयसिंह ने 1729 से 1732 के मध्य में कराया था. यह एक राजस्थानी व मुगल शैलियों की मिश्रित रचना, एक पूर्व शाही निवास जो कि पुराने शहर के बीचों बीच खड़ा है. इस खूबसूरत परिसर में कई इमारतें, विशाल आंगन और आकर्षक बाग हैं जो इसके राजसी इतिहास की निशानी है. सिटी पैलेस जयपुर में मुख्य पर्यटक आकर्षण और एक प्रमुख मील का पत्थर है. महाराजा सवाई जय सिंह ने अपने शासनकाल के दौरान यह सुंदर पैलेस का निर्माण किया था.

ऐसा कहा जाता है कि राजा जय सिंह ने एक बाहरी दीवार का निर्माण किया था, जो कि एक बड़े क्षेत्र में फैल गई, उस वक़्त वह जयपुर के आमेर किले में रहते थे, शहर महल से केवल 11 किमी दूर था. बढ़ती आबादी के कारण और पानी की कमी को दूर करने के लिए इस महल का आयोजन किया गया था.

सिटी पैलेस की ख़ास चीजें

सिटी पैलेस एक विशाल परिसर है और इसमें कई भवन, आंगनों और उद्यान शामिल हैं. सिटी पैलेस एक बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है, जो जयपुर के पुराने शहर का सातवां हिस्सा है. यह जयपुर के पुराने शहर की दीवार के मध्य में स्थित है. त्रिपोलिया गेट, वीरेन्द्र पोल और उदय पोल इस महल के तीन मुख्य द्वार हैं.

इस शानदार महल में चंद्र महल और मुबारक महल दो मुख्य महल हैं. महल के तीसरे आंगन में भी चार छोटे द्वार हैं, जिन्हें चार सत्रों का प्रतिनिधित्व करने के लिए माना जाता है. मोर गेट शरद ऋतु के मौसम का प्रतिनिधित्व करता हैं, लोटस गेट गर्मियों के मौसम का प्रतीक है जबकि वसंत ऋतु के लिए लेहरिया गेट और गुलाब गेट सर्दियों का प्रतिनिधित्व करता है.

 

नवीनतम