भारत के महान वैज्ञानिक, जिन्होंने भारत का नक्शा ही बदल दिया!!!!

1600

विश्व में भारत ने विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान दिया है. विज्ञान हमारे जीवन शैली का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है. भारत के ऋषि मुनियों द्वारा बताई गई बहुत सी बातें आज विज्ञान भी स्वीकार कर रहा है. भारत के महान गणितज्ञ और वैज्ञानिक आर्यभट्ट ने शून्य का आविष्कार कर विश्व को पहली बार संख्या के ज्ञान से परिचित करवाया था.

प्राचीन काल के विश्वविख्यात वैज्ञानिक आर्यभट्ट, नागार्जुन, भास्कराचार्य से लेकर आधुनिक युग के श्रीनिवास रामानुजन, डॉ. ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम, जयंत विष्‍णुनार्लीकर, जैसे महान वैज्ञानिकों ने नई- नई खोजें करके पूरी दुनिया में भारत का झंडा फहराया हैं.

आइए जानें ऐसे ही प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिकों के बारे में जिन्होंने भारत का नक्शा ही बदल दिया.

1सी.वी. रमन

सी.वी. रमन का पूरा नाम चंद्रशेखर वेंकटरमन था और उनका जन्म 7 नवंबर, 1888 को तमिलनाडु के तिरुचिरापल्‍ली नामक स्थान में हुआ था. सी.वी. रमन भारत के पहले ऐसे व्यक्ति थे जिन्हें 1930 में भौतिकी शास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था. सी.वी. रमन के महान आविष्कारों में से एक प्रकाश पर गहन (Studied at the light) था. बाद में सी.वी. रमन द्वारा किए गए अविष्‍कार को “रमण प्रभाव” के रूप में जाना गया. 1954 ई. में उन्हें भारत सरकार द्वारा भारत रत्न से सम्मानित किया गया था 1957 में उन्हें लेनिन शान्ति पुरस्कार (Lenin Peace Prize) दिया गया था.

Back