जानिए कौन है मिस यूनिवर्स हरनाज़ कौर संधू ?

1471

21 सालों बाद मिस यूनिवर्स का खिताब जीतकर हरनाज़ कौर संधू ने भारत को पूरी दुनिया में गौरवान्वित किया है। आपको बता दें कि इजरायल में स्थित इलियट शहर में LIVA मिस डिवा यूनिवर्स 2021 का आयोजन किया गया था।

इस प्रतियोगिता में दुनिया भर से कुल 75 महिलाओं ने हिस्सा लिया था लेकिन भारत की हरनाज कौर संधू ने बाजी मार ली, तो चलिए आपको बताते हैं कि कौन है हरनाज संधू?

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Miss Universe (@missuniverse)

कौन हैं हरनाज

हरनाज़ कौर संधू चंडीगढ़ की रहने वाली हैं और पेश से एक मॉडल हैं। उन्हें एक्टिंग, सिंगिंग, डांसिंग, योगा, स्विमिंग, घुड़सवारी और कुकिंग का शौक है। साल 2017 में वो मिस चंडीगढ़ बनी थीं।

इसके बाद साल 2019 में वो ‘फेमिना मिस इंडिया पंजाब’ Femina Miss India Punjab भी रह चुकी हैं। इतना ही नहीं उन्होंने पंजाबी फिल्मों “यारा दिया पू बरन” और “बाई जी कुट्टंगे” में भी अभिनय किया है।

हरनाज़ ने पराग्वे की नादिया फरेरा और दक्षिण अफ्रीका की लालेला मसवाने को हराकर ताज अपने नाम किया। इससे पहले सन 2000 में इंडिया से लारा दत्ता ने मिस यूनिवर्स जीता था और सन 1994 में सुष्मिता सेन ने जीता था।

इन सवालो का जवाब देकर मिस यूनिवर्स बनी हरनाज संधू

मैक्सिको की एंड्रिया मेजा ने हरनाज संधू को मिस यूनिवर्स का ताज पहनाया। एंड्रिया मेजा ने पिछले साल 2020 में मिस यूनिवर्स का खिताब अपने नाम किया था।

इजराइल के ऐलट में आयोजित हुए इस 70वें संस्करण समारोह के अंतिम दौर में हरनाज संधू से पूछा गया था कि आज युवा महिलाएं जो दबाव झेल रहीं है, उससे निपटने के लिए क्या सलाह देना चाहेंगी?

इस प्रतियोगिता में अंतिम सवाल-जवाब चरण में संधू से पूछा गया था कि वर्तमान समय में युवा महिलाएं जो दबाव महसूस कर रही हैं, उससे निपटने के लिए वह उन्हें क्या सलाह देंगी।

इस का जवाब देते हुए संधू ने कह था, वर्तमान समय में युवा जिस बड़े दबाव का सामना कर रहे हैं, वह है खुद पर विश्वास करना। यह जानना कि आप अद्वितीय हैं और यही आपको सुंदर बनाता है।

दूसरों के साथ खुद की तुलना करना बंद करें और दुनिया भर में हो रही महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करें। यही आपको समझने की जरूरत है।

बाहर आएं और खुद के लिए बात करें क्योंकि आप ही अपनी जिंदगी के नेतृत्वकर्ता हैं, आप ही खुद की आवाज हैं। 

संधू ने कहा कि वह खुद पर भरोसा करती हैं और इसी वजह से वह इस निर्णायक मोड़ पर खड़ी हैं और उनके इस जवाब ने उन्हें इतिहास रचने का मौका दिया।