सुपर-मानव हिम-मानव “विम हौफ”

विम हौफ : दुनिया में हर वर्ष कई विश्व रिकॉर्ड बनते और टूटते हैं. लेकिन कई लोग ऐसे-ऐसे रिकॉर्ड बना लेते हैं जिसके बारे में हम सपने में भी नहीं सोच सकते. ऐसा करके न केवल वे विश्व भर में नाम कमा लेते हैं बल्कि अपने आप को सुपर ह्यूमन अर्थात आलौकिक मनुष्यों की श्रेणी में ला खड़ा करते हैं.

कुछ ऐसे ही लोगों में शुमार हैं आइस मैन यानि हिम-मानव “विम होफ” (Wim Hof). उनका जन्म 20 अप्रैल 1959 को नीदरलैंड के सिटार्ड शहर में हुआ था. विम होफ ने 20 विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किये हैं. इनमें से कुछ हैं:

  • फरवरी 2009 में केवल दो दिनों में सिर्फ शॉर्ट्स (जांघिये) में किलिमंजारो पर्वत की चोटी पर पहुँचने का विश्व रिकार्ड बनाया
  • अकेले अंटार्टिका महासागर में धुर्वीय बर्फ के ठंडे पानी में लंबी दूरी तक तैरने का विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया.
  • 90 मिनट तक पूरी तरह बर्फ से भरे कांच के बक्से अपने आपको ढक कर रखने का विश्व रिकॉर्ड बनाया.
  • बिना किसी के सहारे केवल पजामे और जूते पहन कर दुनिया की सबसे ऊंची चोटी हिमालय पर्वत के 6.7 कि.मी. तक चढ़ाई की. पैर के जख्म के कारण हालाँकि वह चोटी तक नहीं पहुँच सके.

ऐसे अदभुत विश्व रिकॉर्ड बनाने से वह पूरी दुनिया में “द आइस मैन” के नाम से मशहूर हो गये. उन्होंने साबित कर दिया कि मानव शरीर क्या-क्या करने में सक्षम है. उनके अनुसार वह ज्यादा समय तक बर्फ में बिना कपड़े पहने इसलिए बैठ सकते हैं क्योंकि वह अपने मन और शरीर को संतुलित अवस्था में ले आते हैं. वह अपने श्वासों को नियंत्रन में रखते हैं. उनके द्वारा की जाने वाली विधि तुम्मो(अंदरूनी गर्मी) मैडिटेशन और प्राणायाम (योग श्वास) से मिलती जुलती है. उन्होंने कई वर्षों तक योग और मैडिटेशन का अभ्यास किया है.

vim-hoff-the-ice-man-Ice-man-Wim-Hof

mirror

Comments