हिंदी सिनेमा की 20 सर्वकालीन श्रेष्ठ फ़िल्में

किसी भी देश में बनने वाली फिल्में वहां के सामाजिक जीवन और रीति-रिवाज का दर्पण होती हैं। एक सौ वर्षों की लम्बी यात्रा में हिन्दी सिनेमा ने ना केवल बेशुमार फ़िल्में दीं बल्कि भारतीय समाज और चरित्र को गढ़ने में भी महत्वपूर्ण योगदान दिया। यहाँ प्रस्तुत हैं भारतीय सिनेमा की चुनिन्दा 20 फ़िल्में जिन्हें दर्शकों से भरपूर सराहना मिली.

1मुग़ल-ए-आजम (1960)

“मुग़ल-ए-आज़म” 1960 में प्रदर्शित हुई थी। यह फ़िल्म हिन्दी सिनेमा इतिहास की सफलतम फ़िल्मों में से है। इसे के॰ आसिफ़ के शानदार निर्देशन, भव्य सेटों, बेहतरीन संगीत के लिये आज भी याद किया जाता है। फ़िल्म अकबर के बेटे शहज़ादा सलीम (दिलीप कुमार) और दरबार की एक कनीज़ नादिरा (मधुबाला) के बीच में प्रेम की कहानी है। फ़िल्म में सलीम और अनारकली में धीरे-धीरे प्यार हो जाता है और अकबर इससे नाखुश होते हैं। ब्रिटिश एशियाई साप्ताहिक समाचार पत्र द्वारा 2013 में किए गए एक सर्वेक्षण में अब तक की सबसे बड़ी बॉलीवुड फिल्म के चुना गया।

Back