मौत के बारे में व्याप्त अंधविश्वास!

2861

इंसान की मृत्यु अथवा मौत सदा ही एक अनसुलझी पहेली रही है. कुछ लोग मृत्यु को जीवन का अंत मानते हैं तो कुछ नए जीवन की शुरुआत. लेकिन सच्चाई यह है कि सभी मौत से डरते हैं. कुछ विद्वान् तो मृत्यु को सभी डरों का स्रोत मानते हैं. शायद इसी वजह से मृत्यु के बारे में कई तरह की विरोधाभासी बातें, डर, भ्रांतियां और अन्धविश्वास पैदा हुए है. यहाँ प्रस्तुत है मृत्यु से सम्बंधित कुछ भ्रान्तिया, अन्धविश्वास और विश्वास जो भारतीय समाज में सर्वाधिक प्रचलित हैं.

1आँखें बंद होना

आप ने देखा होगा बहुत सारी फिल्मों में जब लोग मरने की एक्टिंग करते हैं तो वह आँखें बंद करके लोगों को यह दिखाते हैं कि वो मर चुके हैं. असल में यह बात अंधविश्वास ही है. यह जरूरी नहीं की जब व्यक्ति की मौत हो तो आँखे खुली ही हों. फिर भी मरे हुए व्यक्ति की आँखें खुली रखना बुरा माना जाता है.

Back

LEAVE A REPLY